कुकुरदी के ग्रामीणों ने पंचायत चुनाव बहिष्कार की चेतावनी दी

बलौदाबाजार. ग्राम पंचायत कुकुरदी में देवार जाति के लोगों को शामिल नहीं करने और उन्हें गांव से हटाने की मांग को लेकर गुरुवार को ग्रामीणों ने कलेक्टर को लिखित ज्ञापन दिया। साथ ही मांग पूरी नहीं होने पर पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने की चेतावनी दी है।

बलौदाबाजार. ग्राम पंचायत कुकुरदी में देवार जाति के लोगों को शामिल नहीं करने और उन्हें गांव से हटाने की मांग को लेकर गुरुवार को ग्रामीणों ने कलेक्टर को लिखित ज्ञापन दिया। साथ ही मांग पूरी नहीं होने पर पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने की चेतावनी दी है।
उल्लेखनीय है कि जिला मुख्यालय से महज तीन किमी दूर ग्राम कुकुरदी के मैदान में छह-सात वर्ष पूर्व नगर पालिका बलौदाबाजार से व्यवस्थापन के नाम पर देवार जाति के लोगों को बसाया गया है। इस वर्ष ग्राम पंचायत कुकुरदी में इन लोगों को शामिल कर किया है। इसका विरोध ग्रामीण कर रहे हैं। विदित हो कि नगर पालिका बलौदा बाजार के हाईस्कूल के सामने वर्षों से काबिज देवार जाति के लोगों को जिला मुख्यालय निर्माण के बाद जिला प्रशासन ने व्यवस्थापन तथा तात्कालीन देवार डेरा के पास स्थित मुरूम खदान तालाब के सौंदर्यीकरण के नाम पर वर्ष 2012-13 में नगर सीमा से तीन किमी दूर कुकुरदी मैदान में शिफ्ट कराया गया था। वर्ष 2012-13 में कुकुरदी ग्राम के लोगों ने इस बात का विरोध भी किया था। बावजूद इसके प्रशासन ने देवार जाति के लोगों को बलपूर्वक कुकुरदी मैदान में बसाया था। कुकुरदी ग्राम के लोगों ने लगातार इसका विरोध भी जताया। बावजूद इसके अब तक जिला प्रशासन ने किसी प्रकार की पहल नहीं की है।
देवार जाति के लोगों को ग्राम पंचायत कुकुरदी में शामिल नहीं किए जाने की मांग करते हुए ग्राम पंचायत कुकुरदी के दर्जनों लोगों ने ग्राम सरपंच अमरबाई, पंच देवलाल ध्रुव, ग्राम के वरिष्ठ नागरिक अखिलेश मिश्रा, मदनसिंह पोर्ते, कन्हैया लाल, रूपसिंह ध्रव, शीतल, भोजराम सेन, रमेश कुमार, महेत्तर लाल ध्रुव, लालाराम, मनोज जांगड़े, ज्ञानदास, गोकुल, पीके ध्रुव, जगतराम, भूखन सिंह, पंचराम ध्रुव, अर्जुनसिंह गोड़, आत्माराम साहू, रामनारायण सेन, हरीराम, धीरज के साथ जिलाधीश कार्यालय पहुंचकर इस संबंध में कलेक्टर को लिखित ज्ञापन देकर देवार जाति के लोगों को कुकुरदी मैदान से हटाए जाने तथा कुकुरदी ग्राम पंचायत में ना जोड़े जाने की मांग की। ग्रामीणों ने चेतावनी देते हुए बताया कि यदि जिला प्रशासन द्वारा देवार जाति के लोगों को कुकुरदी ग्राम पंचायत में जोड़ा गया तो समूचे ग्रामीणों द्वारा सामूहिक रूप से आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा।
नगर पालिका से भी नाम कटा
गौरतलब हो कि नगर के वार्ड क्रमांक 2 में दशकों से काबिज देवार जाति के लगभग 230 मतदाताओं का नाम बलौदा बाजार नगर पालिका के वार्ड क्रमांक 2 में शामिल था। कुकुरदी ग्राम के समीप स्थित मैदान से आकर देवार जाति के लोगों ने बीते विधानसभा में मतदान भी किया था। इस वर्ष नगर पालिका से देवार जाति के सभी लगभग 230 मतदाताओं का नाम विलोपित कर दिया गया है तथा संभावना है कि सभी लोगों का नाम ग्राम पंचायत कुकुरदी में शामिल किया जाएगा। परंतु ग्राम पंचायत कुकुरदी के लोगों द्वारा विरोध किए जाने से अब जिला प्रशासन के लिए भी दुविधा की स्थिति निर्मित हो गई है।

dharmendra ghidode
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned