कोरोना काल में सरकार दे रही पार्टी : वीडियो वायरल के बाद भूपेश सरकार की जमकर हो रही किरकिरी

- असम में अब तोडफ़ोड़ आसान नहीं, रायपुर पहुंच पार्टी कर रहे 8 प्रत्याशी।
- सभी को गोपनीय स्थान पर किया शिफ्ट, 2 मई तक रहेंगे यही।

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 16 Apr 2021, 05:33 PM IST

रायपुर . असम विधानसभा के परिणाम 2 मई को आने हैं, लेकिन इससे पहले ही राजनीतिक हलचल शुरू हो गई है। जोड़तोड़ की राजनीति से बचने के लिए कांग्रेस महागठबंधन ने अपने प्रत्याशियों को समेटना शुरू कर दिया है। पहले जयपुर में करीब 25 प्रत्याशियों को ले जाने के बाद अब छत्तीसगढ़ में 8 प्रत्याशियों को लाया गया है। ये सभी प्रत्याशी बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (बीपीएफ) के है। सूत्रों की माने तो प्रत्याशियों की संख्या अधिक हो सकती है, क्योंकि इन्हें विशेष विमान से शनिवार को देर रात करीब 11.30 बजे रायपुर लाया गया है। विमान से आने वाले कुल यात्रियों की संख्या 27 बताई जा रही है।

वायरल हुआ फोटो और वीडियो
Assam के प्रत्याशियों को चित्रकोट के रेस्ट हाउस में रखने का वीडियो बुधवार को पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने अपने फेसबुक अकाउंट से वायरल किया। इसके बाद उन्होंने गुरुवार को एक ओर वीडियो वायरल किया जिसमें कहा कि प्रत्याशियों को पूरे लाव- लश्कर के साथ रायपुर की ओर रवाना किया जा रहा है। दोनों ही वीडियो वायरल होने के बाद से प्रदेश की राजनीति तेज हो गई है। इस पूरे मामले में कांग्रेस बचाव की मुद्रा में है और कह रही है कि वीडियो की सत्यता जांचे बिना इसे वायरल किया गया है।

Read More : छत्तीसगढ़ के शिक्षकों की कोरोना ड्यूटी, पिछले सत्र 35 से अधिक टीचर्स की हुई मौत

वीडियो वायरल होने के बाद सोशल मीडिया में भूपेश बघेल सरकार (CM Bhupesh Baghel) की जमकर किरकिरी हो रही है। यही नहीं कई यूजर ने सांसद दीपक बैज को इस पूरे शराब और बकरा पार्टी का मैनेजर भी बताया है। कहा जा रहा है उन्ही के देखरेख में चित्रकोट में व्यवस्थाएं की गई थी। वीडियो को लेकर पूर्व सीएम रमन सिंह (Ex CM Raman Singh) ने ट्वीट कर कांग्रेस पर निशाना साधा है।

वहीं पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने गुरुवार शाम एक बयान जारी करते हुए कहा कि प्रदेश की Congress Government को छत्तीसगढ़ के लोगों से ज्यादा बोडो प्रत्याशियों की चिंता है। उन्होंने कहा कि वीडियो में साफ दिख रहा है कि चित्रकोट रेस्ट हाउस में सरकार ने मांस, मदिरा की व्यवस्था में सारे संसाधन झोंक दिए है। इस बात की पुष्टि अधिकारियों ने भी की है।

बेरोकटोक घूम रहा है काफिला
पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने बताया कि अब सरकार की पूरी सुरक्षा व्यवस्था के साथ असम के प्रत्याशियों का काफिला बस्तर से रायपुर की ओर रवाना होता दिखा है। जहां आम नागरिकों को अभी एक जिले से दूसरे जिले में जाने के लिये जिला प्रशासन से अनुमति लेनी पड़ती है वहां ये काफिला बेरोकटोक भ्रमण कर रहा है।

Read More : कोरोना काल में दिल को झकझोर कर देने वाली कहानी - कहीं कोविड सेंटर से महिला गायब तो किसी ने मामूली दवाई के दिए लाखों रुपए

स्टाफ ने बनाया वीडियो
बताया जाता है कि रेस्ट हाउस से जुड़े किसी स्टाफ ने यह वीडियो बनाकर भाजपा नेताओं तक पहुंचाया है। वीडियो उस समय का है, जब प्रत्याशी भोजन कर रहे थे। इस बात से यह आशंका जताई जा रही है कि उस समय किसी खाना देने वाले ने ही वीडियो बनाया है।

छत्तीसगढ़ में बीपीएफ के सभी प्रत्याशियों को लाने के संबंध में दो कांग्रेसी नेताओं ने पुष्टि कर दी है। एक कांग्रेसी नेता ने शनिवार को विशेष विमान से असम के प्रत्याशियों को लाने की और दूसरे ने गुप्त स्थान पर उनके रुके होने की सूचना दी है। प्रत्याशियों को एयरपोर्ट के पास ही गुप्त स्थान में रखा गया है। इसमें उन रणनीतिकारों की भूमिका सबसे अहम मानी जा रही है, जो पिछले करीब दो महीने से असम में दिनरात मेहनत कर रहे थे। बीपीएफ प्रत्याशियों के पूरे इंतजाम का जिम्मा कुछ खास लोगों को दिया गया है। बीपीएफ के सभी प्रत्याशी 2 मई तक रायपुर में ही रुकेंगे। बता दें असम की कुल 126 विधानसभा सीटों के लिए तीन चरणों में मतदान हुआ था। इनके नतीजे 2 मई का आएंगे।

इस वजह से विधायकों को किया शिफ्ट
असम में कांग्रेस महागठबंधन और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला है। चुनाव परिणाम में बहुत कम अंतर से सरकार बनने की संभावना बन रही है। ऐसे में कांग्रेस को विधायकों की खरीद-फरोख्त का डर सता रहा है। इसे देखते हुए विजयी प्रत्याशियों को खरीद-फरोख्त से बचाने के लिए रायपुर व जयपुर लाया गया है।

बीपीएफ पहले भाजपा और अब कांग्रेस के साथ
पिछले चुनाव में बीपीएफ का भाजपा के साथ गठबंधन था। पिछले चुनाव में उनके 12 विधायकों ने चुनाव जीता था। बीपीएफ क्षेत्रीय पार्टी है और असम में उनका अच्छा दखल माना जाता है, लेकिन वर्तमान चुनाव में बीपीएफ के अध्यक्ष हागरामा मोहिलारी कांग्रेस महागठबंधन में शामिल हो गए। कांग्रेस के नेतृत्व वाले महागठबंधन में एआईयूडीएफ, सीपीआई, सीपीएम,सीपीआई (एमएल) आंचलिक गण मोर्चा और बीपीएफ शामिल हैं।

Read More : बेड और इंजेक्शन की समस्या बरकरार, प्रदेश में कोरोना का आंकड़ा 5 लाख के पार

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned