दोनों तरफ की ट्रेनों में वेटिंग, एक्स्ट्रा कोच से ही राहत

दिवाली, छठ पूजा फिर विवाह के शुभ मुहूर्त, महीनेभर कन्फर्म टिकट नहीं

By: VIKAS MISHRA

Updated: 31 Oct 2020, 01:50 AM IST

रायपुर. नवंबर का महीना त्योहार और खुशियों के नाम पर रहेगा। दिवाली, छठ पूजा का पर्व है, फिर शादी-विवाह के शुभ मुहूर्त भी आठ महीने के इंतजार के बाद शुरू हो रहा है। इसलिए रायपुर जंक्शन से होकर चलने वाली ट्रेनों में कन्फर्म टिकट मिलना मुश्किल है। वेटिंग 100 से पार पहुंच गई है। अब यात्रियों को राहत तभी, जब रेलवे एक्स्ट्रा कोच की संख्या बढ़ाए। वरना, महीनेभर तक ट्रेनें पूरी तरह से पैक हो चुकी हैं। वेटिंग टिकट पर सफर करने पर भी रोक लगी हुई है। इसे देखते हुए रेलवे दो पूजा स्पेशल ट्रेन अभी एक फेरे के लिए चलाने जा रहा है।
इस बार मार्च के आखिरी सप्ताह से कोरोना के लॉकडाउन के पूरी स्थितियां बदल गई थीं। गर्मी के दिनों में होने वाली सबसे अधिक शादियां कैंसिल हो गई थीं। अब जाकर तुलसी विवाह के साथ प्रारंभ होगा। नवंबर के आखिरी और दिसंबर की 12 तारीख तक वैवाहिक मूहूर्त होने से लोग सपरिवार सफर करेंगे। इस वजह से लगातार रिजर्वेशन टिकट बनने से ट्रेनों में वेटिंग सूची तेजी से बढ़ती जा रही है। दिक्कत ये भी कि रेलवे की जितनी ट्रेनें चला करती थी, उसमें से अभी आधी ही चल रही हैं।
पांच दिनी दिवाली पर्व
पूरा महीना रेलवे का पीक यात्री सीजन होगा। 13 नवंबर धनतेरस से दिवाली उत्सव की शुरुआत होगी। इससे पहले लोग अपने नगर, कस्बों और गांवों में दिवाली पर्व मनाने की तैयारियों में हैं। महीना-पंद्रह दिन पहले से रिजर्वेशन करा रहे हैं। फिर भी उन्हें कन्फर्म टिकट नहीं मिल रहा है।
छोटी दिवाली से बजेगी शहनाई
नवंबर महीने की 25 तारीख को वर्षावास के चार महीने बाद देव जागृत होंगे। तुलसी विवाह यानि की छोटी दिवाली के जश्न के साथ ही शहनाई बजने लगेगी। फिर तीन से चार दिनों तक और दिसंबर की 12 तारीख तक विवाह के मुहूर्त होने से ट्रेनों में यात्रियों का दबाव बना हुआ है।
चार दिन छठ पूजा का उत्सव
दिवाली के बाद उत्तर भारतीय समाज का सबसे बड़ा सूर्य उपासना का छठ पूजा पर्व 18 नवंबर से प्रारंभ होकर 21 नवंबर तक है। इसलिए सारनाथ, साउथ बिहार, दरभंगा, पटना जाने वाली ट्रेनों में काफी भीड़ बढ़ रही है। जाने और वापस लौटने का टिकट लोग बनवा रहे हैं।

कन्फर्म टिकट पर ही यात्री ट्रेनों में सफर कर सकते हैं, वेटिंग टिकट पर नहीं। अभी दुर्ग स्टेशन से रक्सौल और पटना के बीच एक फेरे की पूजा स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही है। एक्स्ट्रा कोच और स्पेशल ट्रेन से वेटिंग सूची कम की जाएगी।
शिव प्रसाद पंवार, सीनियर पब्लिसिटी इंस्पेक्टर, रेलवे

VIKAS MISHRA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned