scriptWarning not to use nutrition tracker app if net pack is not available | नेट पैक नहीं मिलने पर पोषण ट्रेकर ऐप का उपयोग नहीं करने की चेतावनी | Patrika News

नेट पैक नहीं मिलने पर पोषण ट्रेकर ऐप का उपयोग नहीं करने की चेतावनी

- धरना स्थल पर दूसरे दिन भी डटी रहीं सैकड़ों आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका

रायपुर

Updated: June 11, 2022 11:35:00 am

दिनेश यदु @ रायपुर. कलेक्टर दर पर वेतन (Salary at Collector's Rate) की मांग को लेकर शुक्रवार को भी बूढ़ातालाब धरना स्थल पर सैकड़ों आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका (Anganwadi worker and helper) डटीं रही। दो दिवसीय महापड़ाव के अंतिम दिन संघ के पदाधिकारियों ने अतिरिक्त तहसीलदार ज्योति सिंह (Additional Tehsildar Jyoti Singh) को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंला। इस दौरान प्रदेशभर से आईं संघ की जिला अध्यक्षों ने अपनी बातें सांझा की। जांजगीर से आई एक कार्यकर्ता ने कहा कि हमें हर प्रकार के कार्य करने के लिए मोबाइल ऐप डाउनलोड तो कराते है, लेकिन उसका रिचार्ज के लिए पैसा नही देते है। ऐसे स्थिति में हम कार्य कैसे कर सकते है। प्रदेशाध्यक्ष पद्मावती साहू व उपाध्यक्ष सुधा रात्रे ने बताया कि हमारी मांगों पर जल्द कोई निर्णय नहीं लिया गया तो 7 जुलाई से 11 जुलाई तक आंदोलन करेंगे।
आगे बताया कि हमारे 2018 में जब हम 50 दिन तक धरना में बैठे थे तब कांग्रेस के नेता आकर बड़े-बड़े भाषण देने वाले आज तक के एक भी रुपए बढ़ाया नही है, आज जो हमारे कार्यकर्ताओं को 6500 रुपए मिल रहा है। वह पूर्व के मुख्यमंत्री व केन्द्र सरकार के द्वारा मिला है।
पिछले 50 दिन के आंदोलन में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह (Former Chief Minister Dr. Raman Singh) ने एक हजार बढ़ाया था, जिससे हमारा वेतन 5000 हुआ था, उसके बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा जुलाई 2018 में 15 सौ देने के घोषणा किया था, जिसे राज्य सरकार ने जुलाई 2019 में लागू जिससे हमारा वेतन 6500 रुपए हो गया है। लेकिन हमारे पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश में 11,500 ,केरल, आंध्रप्रदेश में13,500 हरियाणा में 10 हजार करीब है। हम सरकार का हर कार्य करने के बाद हमें कार्यकर्ताओं को 6500 और सहायिकाओं को 3250 रुपए ही मिलता है। अब ऐसे में हम घर चलाये कि आंगनबाड़ी या सरकार की योजना को लोगों के बीच पहुंचाये।
नेट पैक नहीं मिलने पर पोषण ट्रेकर ऐप का उपयोग नहीं करने की चेतावनी
नेट पैक नहीं मिलने पर पोषण ट्रेकर ऐप का उपयोग नहीं करने की चेतावनी
नेट पैक नहीं मिलने पर पोषण ट्रेकर ऐप का उपयोग नहीं करने की चेतावनी
IMAGE CREDIT: Dinesh Yadu @ Patrika Raipur
धरना स्थल हटाने व्यापारियों से मिले व्यापारी
इधर, धरना स्थल के आसपास के व्यापारियों व रहवासियों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौपकर बूढ़ातालाब से धरना स्थल (Picket from Budha Talab) हटाने की मांग की है। नगर निगम सभापति प्रमोद दुबे (Corporation Chairman Pramod Dubey) व सराफा एसोसिएशन के अध्यक्ष हरक मालू (Sarafa Association President Harak Malu) ने कहा कि धरना स्थल में लगातार धरना, प्रदर्शन, आंदोलन एवं शासन के नियम के विरुद्ध एक से दो हजार लोगों के शामिल हने से आम नागरिक, छात्र-छात्राएं, व्यापारी एवं उक्त क्षेत्र में अस्पताल तथा स्कूल कॉलेज होने के कारण अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस रोड से रोजाना 10 कॉलोनी तथा 40 से ज्यादा रहवासी क्षेत्र के लोग आवाजाही करते हैं। ज्ञापन देने वालों में लक्ष्मीनारायण लाहोटी, संजय पारख, राकेश लोढ़ा, भरत सिंह दीपचंद कोटडिया, सुरेश भंसाली, पवन अग्रवाल, प्रहलाद सोनी, जितेंद्र गोलछा, अनिल कुचेरिया एवं रहवासी क्षेत्र के राघवेंद्र साहू, हेम सिंह, नितिन पवार, विक्रम सोनी सहित स्कूल एवं कॉलेज में अध्ययनरत बच्चों के पेरेंट्स सहित अनेक नागरिक उपस्थित थे।
यह भी पढ़ें - रेगुलर करने वाले मांग को पूरा करने का आश्वासन मै नही दे सकता : आबकारी मंत्री
यह भी पढ़ें - धरना स्थल में 500 की अनुमति, पहुंच गए हजारों आंगनबाड़ी
यह भी पढ़ें - जिम्मेदार कौन? : चोरी की बिजली और पानी से सप्रे शाला मैदान का सौंदर्यीकरण
यह भी पढ़ें - भरण पोषण के लिए पति ने पत्नी को दिए 50 हजार रुपए
यह भी पढ़ें - जनता के पैसों की बर्बादी: तीन साल में ही ढह गया मोतीबाग का साइकिल ट्रैक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: क्या फ्लोर टेस्ट में बच पाएगी MVA सरकार! यहां समझे पूरा गणितMaharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूMaharashtra Political Crisis: नवनीत राणा ने की महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग, बोलीं- उद्धव ठाकरे की गुंडागर्दी खत्म होनी चाहिएBPSC Paper Leak: पेपर लीक मामले में गिरफ्तार हुए JDU नेता शक्ति कुमार, सबसे पहले पेपर स्कैन कर WhatsApp पर था भेजाAmarnath Yatra: अमरनाथ यात्रा से 4 दिन पहले प्रशासन अलर्ट, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर उठाया बड़ा कदमMumbai News Live Updates: ठाणे के बाद अब मुंबई में धारा 144 लागू, बागी एकनाथ शिंदे के आवास की भी बढ़ाई गई सुरक्षाMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारीAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा है
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.