शहर में पैर पसार रहा जलसंकट, खारुन नदी का जलस्तर 18 इंच गिरा

शहर में पैर पसार रहा जलसंकट, खारुन नदी का जलस्तर 18 इंच गिरा

Deepak Sahu | Publish: Apr, 25 2019 09:09:24 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

नगर निगम अपने खुद के करीब २२ टैंकर और किराए के भी करीब 20 टैंकर चला रहा है। किराए के एक टैंकर से अधिकतम दस ट्रिप कराया जा रहा है। प्रति ट्रिप 495 रुपए के हिसाब से इस वर्ष भुगतान भी किया जाएगा। खारुन में भी जलस्तर 18 इंच कम हो गया है पानी।

रायपुर. शहर में जल संकट पैर पसारने लगा है। टंकियों से नियमित रूप से वार्डों में पानी सप्लाई होने के बावजूद टेल एंड तक पर्याप्त प्रेशर से पानी नहीं पहुंच रहा है। वहीं, बस्तियों और शहर के आउटर वाले इलाकों में भी लोग पानी के लिए परेशान होने लगे हैं। टैंकर की मांग लगातार बढ़ती जा रही है।

नगर निगम अपने खुद के करीब २२ टैंकर और किराए के भी करीब 20 टैंकर चला रहा है। किराए के एक टैंकर से अधिकतम दस ट्रिप कराया जा रहा है। प्रति ट्रिप 495 रुपए के हिसाब से इस वर्ष भुगतान भी किया जाएगा। खारुन में भी जलस्तर 18 इंच कम हो गया है पानी।

निगम प्रशासन ने पीएचई के प्रमुख सचिव से फोन पर बात कर गंगरेल से पानी छोडऩे की मात्रा बढ़ाने की गुहार लगाई, तो अब खारुन इंटेकवेल के पास जल स्तर धीरे-धीरे बढऩे लगा है।

इन इलाकों में सबसे ज्यादा जलसंकट

भनपुरी, देवपुरी, रामनगर, मोवा-कचना के बीएसयूपी मकानों में सबसे ज्यादा जलसंकट है। इन इलाकों में नगर निगम द्वारा टैंकर चलाए जा रहे हैं। भनपुरी इलाका नगर निगम के जलकार्य विभाग के अध्यक्ष नागभूषण राव का इलाका है। इन इलाकों में नई पाइप लाइन बिछाई गई है, इसके बावजूद टैंकर की मांग बढ़ी है।

 

पिछले साल की तरह इस साल भी खेतों में पानी

गंगरेल बांध से छोड़े जाने वाले पानी को किसान अपने-अपने खेतों ले जा रहे थे। इस कारण से खारुन में इंटेकवेल का जलस्तर नीचे चला गया था। प्रशासनिक स्तर पर बातचीत के बाद गंगरेल से पानी छोडऩे के बाद जलस्तर थोड़ा सा बढ़ा है।

करीब 22 निगम के और किराए के 20 निजी टैंकर चलाए जा रहे हैं। भनपुरी, रामनगर, देवपुरी और सड्डू और कचना के बीएसयूपी वाले इलाकों में टैंकर भेजे जा रहे हैं। गंगरेल से भी पानी अधिक मात्रा में छोड़ा जा रहा है।

- बद्री चंद्राकर, कार्यपालन अभियंता, जलकार्य विभाग, नगर निगम रायपुर

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned