Heavy Rain Impact: बारिश का बरपा ऐसा कहर कि सड़कों से लेकर घरों में घुसा पानी, रतजगा कर काटनी पड़ी रात

Heavy Rain Impact: सोमवार की शाम से राजधानी में हुई भारी बारिश से शहर की सड़कों से लेकर लोगों के घरों तक जलभराव हो गया था। पानी निकासी नहीं होने के कारण कुछ इलाकों के लोगों को रातभर जागकर काटना पड़ा।

By: Ashish Gupta

Published: 15 Sep 2021, 02:42 PM IST

रायपुर. Heavy Rain Impact: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में बारिश का ऐसा कहर बरपा कि लोगों को रात भर जागना पड़ा। दरअसल, सोमवार की शाम से जारी बारिश से शहर की सड़कों से लेकर लोगों के घरों तक जलभराव हो गया। पानी निकासी नहीं होने के कारण कुछ इलाकों के लोगों को रातभर जागकर काटना पड़ा। लोग अपने घरों का पानी निकालने में जुटे रहे।

नगर निगम का अमला भी सुबह से ही जलभराव वाले इलाकों में पानी निकासी बनाने में जुट गए थे। कुछ जगहों पर सड़कों के पानी को मोटर पंप से निकाला गया। जलभराव वाले इलाके लोगों में नगर निगम प्रशासन के खिलाफ भारी आक्रोश भी है। बंजारी नगर के लोगों ने तो नाला सफाई में लापरवाही बरतने के कारण घरों में पानी घुसने पर जोन कमिश्नर को ज्ञापन सौंपकर शिकायत भी की है।

rain_water_in_home.jpg

इन इलाकों में दोपहर तक रहा जलभराव
शहीद स्मारक भवन के सामने मुख्य मार्ग पर, एकात्म परिसर के पास, बंजारी नगर, नेहरू नगर, जलविहार कॉलोनी, आनंद नगर, श्याम नगर, गुढिय़ारी अंडर ब्रिज, दिशा कॉलेज के पास अंडरब्रिज, गोंदवारा रोड, भाठागांव काठाडीह मार्ग, प्रोफेसर कॉलोनी, बंजारी नगर, राजातालाब का इलाका, शिवानंद नगर सहित अन्य इलाकों में दोपहर तक पानी भरा रहा।

आयुक्त ने लगाई अधिकारियों को लगाई जमकर फटकार
जलभराव की समस्या पर निगम मुख्यालय में सभी जोन कमिश्नरों, जोन स्वास्थ्य अधिकारियों को तत्काल बैठक बुलाई गई। जहां निगम आयुक्त प्रभात मलिक ने सभी अधिकारियों की जमकर फटकर लगाई। कहा कि मुख्य नालों की सफाई करने के बाद छोटी नालियों की सफाई की ओर ध्यान नहीं दिया गया। यही कारण है कि छोटी नालियों का कचरा बड़े नालों में जाकर फंस गया और जलभराव हुआ।

raipur_news.jpg

बैठक में शामिल सभी जोन कमिश्नरों, जोन स्वास्थ्य अधिकारियों और बाढ़ आपदा प्रबंधन के लिए गठित समिति के अधिकारियों से पूछा कि जब शहर में जलभराव हुआ था तो कितने अधिकारी रात में पानी निकासी की व्यवस्था करने निकले थे। इसके बाद सभी अधिकारी बगलें झांकने लगे। आयुक्त ने कहा कि जब तक बरसात का सीजन रहेगा, तब बाढ़ आपदा समिति में शामिल अधिकारी 24 घंटे ड्यूटी पर तैनात रहेंगे।

एक प्रतिशत से अधिक रेट भरने वालों को मिलेगा ठेका
बैठक में महापौर एजाज ढेबर और स्वास्थ्य विभाग के अध्यक्ष नागभूषण राव ने शहर के बड़े नालों के गहरीकरण और नालों पर अवैध निर्माण को तोडऩे का अभियान चलाने के निर्देश जोन अधिकारियों को दिए। महापौर ने सभी वार्डों के सफाई ठेका को निरस्त कर नया ठेका जारी करने को कहा। साथ ही अधिकारियों को हिदायत दी कि एक प्रतिशत से अधिक रेट भरने वालों को ही सफाई का ठेका दिया जाए।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ के कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात, सात जिलों में रेड अलर्ट जारी... देखें वीडियो

यह भी पढ़ें: बारिश से अभी नहीं मिलेगी राहत, छत्तीसगढ़ के कई जिलों में अगले 2 दिन भारी वर्षा की चेतावनी

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ के 23 जिलों की 72 तहसीलों में सूखे की आशंका, फसलों की क्षति का आंकलन शुरू करने के निर्देश

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned