द्रोणिका का असर : सुबह हल्की बारिश, अंधड़ और आकाशीय बिजली गिरने की चेतावनी

weather alert : बारिश ने दी गर्मी से राहत, मौसम विभाग के वैज्ञानिकों का कहना है कि चक्रवाती घेरा और द्रोणिका की वजह से मौसम में परिवर्तन देखने को मिल रहा है। प्रदेश में कम से कम दो दिनों तक मौसम का रूख ऐसा ही बने रहने की संभावना है।

 

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 11 May 2021, 10:24 AM IST

रायपुर। मध्य भारत के कई जिलों में मौसम का मिजाज पूरी तरह से बदल चुका है। 3- 4 दिनों से लगातार शाम को तेज हवाओं के साथ बेमौसम बरसात (Heavy rain, strong wind) हो रही है। मंगलवार की सुबह हुई बारिश के बाद गर्मी से लोगों को राहत मिली।

अगले 24 घंटों के दौरान, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, केरल, तटीय कर्नाटक, पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों, सिक्किम, तटीय ओडिशा और छत्तीसगढ़, बिहार के कुछ हिस्सों, झारखंड के कुछ हिस्सों, आंतरिक कर्नाटक, मराठवाड़ा, मध्य महाराष्ट्र तेलंगाना और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

READ MORE : एक दिन में छत्तीसगढ़ में 4 करोड़ 32 लाख रुपए का ऑनलाइन शराब ऑर्डर

छत्तीसगढ़ के चारों ओर द्रोणिका और चक्रिय चक्रवात के प्रभाव के कारण सोमवार को तापमान अन्य दिनों की अपेक्षा कम रहा। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में मध्य छत्तीसगढ़ में अंधड़ चलने, आकाशीय बिजली गिरने और हल्की बारिश होने की चेतावनी दी है। वहीं सोमवार को बिलासपुर का तापमान अधिकतम 35.4 और न्यूनतम तापमान 22.6 डिग्री सेल्सियस रहा।है।

द्रोणिका का असर : छत्तीसगढ़ में हल्की बारिश, अंधड़ और आकाशीय बिजली गिरने की चेतावनी

बादलों के कारण मौसम का मिजाज एक सप्ताह से बदला रहा है। लालपुर स्थित मौसम विज्ञान विभाग के मौसम वैज्ञानिक एके दास के मुताबिक एक चक्रीय चक्रवाती घेरा दक्षिण पूर्व विदर्भ के ऊपर 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। एक उत्तर-दक्षिण द्रोणिका/ हवा की अनियमित गति विदर्भ से केरल तक मराठवाड़ा और अंदरूनी कर्नाटक होते हुए 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा बिहार के ऊपर 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। एक पूर्व-पश्चिम द्रोणिका पंजाब से उप हिमालयन पश्चिम बंगाल और सिक्किम तक हरियाणा, उत्तर प्रदेश के मध्य भाग होते हुए 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है।

READ MORE : बुजुर्ग ध्यान दें : घर में बाहरी व्यक्तियों से न मिलें, सोशल मीडिया और सनसनीखेज खबरों से बचें

अगले 24 घंटे के लिए चेतावनी
मौसम वैज्ञानिक एके दस ने बताया कि प्रदेश में 11 मई को कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पडऩे की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ अंधड़ चलने तथा आकाशीय बिजली गिरने की भी संभावना है। वर्षा का क्षेत्र मुख्यत रूप से मध्य छग रहने की सम्भावना है।

बंगाल की खाड़ी की नमी का इफैक्ट
मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा के मुताबिक प्रदेश में बंगाल की खाड़ी से प्रचुर मात्रा में नमी आ रही है, जिसके बाद यह छत्तीसगढ़ के वायुमंडल से संपर्क में आकर बारिश में तब्दील हो रही है। एक चक्रवाती घेरा दक्षिण पश्चिम मध्यप्रदेश के ऊपर 2.1 किलोमीटर ऊंचाई पर स्थित है। 10 मई को एक-दो स्थानों पर हल्की वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पडऩे की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ आकाशीय बिजली गिरने और अंधड़ चलने की आशंका

READ MORE : चचेरे भाई के साथ मिलकर पत्नी को भेजता था अश्लील वीडियो, अपराध दर्ज

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned