छत्तीसगढ़ के इन इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी, जानें- आपके जिले में कैसा रहेगा मौसम

मौसम विज्ञानी ने बताया कि उक्त सिस्टम के कारण प्रदेश में 21 जुलाई बुधवार को भी अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है।

By: Ashish Gupta

Published: 21 Jul 2021, 04:22 PM IST

रायपुर. weather update News: पिछले करीब दस दिनों से थमी बारिश मंगलवार को फिर से झमाझम हुई। मौसम विज्ञानी ने बताया कि उक्त सिस्टम के कारण प्रदेश में 21 जुलाई बुधवार को भी अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ आकाशीय बिजली गिरने तथा भारी वर्षा होने की संभावना है। प्रदेश में अधिकतम तापमान में विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है।

इसलिए हो रही बारिश
मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि मानसून द्रोणिका गंगानगर, नारनौल, ग्वालियर, चरक, गया, बहरामपुर और उसके बाद पूर्व की ओर मणिपुर तक 0.9 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। एक पूरब पश्चिम शियर जोन 17 डिग्री उत्तर में 4.5 किलोमीटर से 5.8 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। इस कारण से राजधानी समेत प्रदेश में बारिश हो रही है।

यह भी पढ़ें: मानसून ब्रेक: 17 जिलों में हुई कम बारिश, एक हफ्ते से नौतपा जैसी गर्मी, मिट्टी से 26 फीसदी भी नमी गायब

इससे पहले मंगलवार दोपहर तक हल्के बादल छाए रहे। दिन में उमस से लोग परेशान होते रहे। लेकिन शाम साढ़े चार बजे मौसम ने अचानक करवट ली और तेज बारिश होने लगी। एक घंटे तक शहर में तेज बारिश होती रही। इस बीच बादलों की गडगड़़ाहट और गरज-चमक के साथ रिमझिम बारिश होती रही। गरज-चमक शुरू होते ही शहर के विभिन्न इलाकों की बिजली भी एक घंटे के लिए गुल रही। राजधानी में एक घंटे में करीब 54. 2 मिमी बारिश दर्ज की गई।

निचले इलाकों में जलभराव
एक घंटे तक हुई तेज बारिश से राजधानी के निचले इलाकों जलभराव हो गया। इससे उस क्षेत्र से आवाजाही करने वालों और वहां के रहवासियों को भारी परेशानी का सामाना करना पड़ा। वहीं, शहर के प्रमुख मार्गों में भी कुछ जगहों पर जलभराव हो गया। इससे नगर निगम की नियमित नालियों की सफाई व्यवस्था की पोल भी खुल गई। साथ ही निगम द्वारा बरसात पूर्व चलाए गए नाले और नालियों की सफाई असलियत सामने आ गई। क्योंकि नालियों का कचरा बरसात के पानी के साथ सड़कों पर फैल गया था।

यह भी पढ़ें: कोरोना संकट के बीच जीका वायरस का खतरा: छत्तीसगढ़ में अलर्ट जारी, जानें लक्षण और बचाव

कहां कहां हुई बारिश
तोकापाल, सुकमा में 70-70 मिमी, रायपुर में 54.2 मिमी, बास्तानार में 50 मिमी, गीदम, सरायपाली, फरसगांव और ओरच्छा में 30-30 मिमी, कुसमी, रामानुजगंज, नारायणपुर, बस्तर, मरवाही में 20-20 मिमी, खडग़वां, जनकपुर, अंतागढ़, कोंटा में 10-10 मिमी, माना एयरपोर्ट 32.0 मिमी, पेंड्रारोड- 11.4 मिमी, जगदलपुर - 12.1 मिमी, राजनांदगांव में 18.0 मिमी बारिश दर्ज की गई।

तापमान में आई गिरावट
पिछले कुछ दिनों से बारिश नहीं होने से दिन के तापमान में चार से पांच डिग्री तक बढ़ोतरी हो गई थी। मंगलवार की शाम हुई झमाझम बारिश से अधिकत तामपान में चार से पांच डिग्री गिरावट आ गई। इससे उमस से परेशान लोगों को भारी राहत मिली। मंगलवार को राजधानी का अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री अधिक रहा। यानी अधिकतम तापमान 35.1 डिग्री रहा। इसी तरह न्यूनतम तापमान 27.0 डिग्री रहा, जो सामान्य से तीन डिग्री अधिक था।

IMD alert latest weather update
Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned