कोरोना को कोरोना माई देवी मानकर पूजने लगी महिलाएं, कहा- मायके से मिला संक्रमण को भगाने का नुस्खा

बिहार से उड़ी अफवाह का असर भिलाई और दुर्ग में दिख रहा है। भिलाई में बैकुंठधाम मैदान में महिलाएं देवी को प्रसन्न करने के लिए धूप में तप करती दिखीं।

By: bhemendra yadav

Updated: 06 Jun 2020, 07:13 PM IST

भिलाई. देश में अब कोरोना धर्म से जुड़ता जा रहा है। अफवाह की वजह से कुछ लोग कोरोनावायरस को देवी मान रहे हैं। पूजा कर रहे हैं। प्रार्थना कर रहे हैं कि यह रोग देश और समाज से दूर चला जाए। बिहार से उड़ी अफवाह का असर भिलाई और दुर्ग में दिख रहा है। भिलाई में बैकुंठधाम मैदान में महिलाएं देवी को प्रसन्न करने के लिए धूप में तप करती दिखीं। बिहार में कहा जा रहा है कि कोरोना माई हैं जो रूठी हुई हैं। इनकी विधिवत पूजा की जाए तो यह हमारा देश छोड़ कर चली जाएंगी। बस- इसी बात को सच मानकर महिलाएं कोरोना माई को मनाती दिखीं।

अफवाह के सिवा कुछ नहीं
शुक्रवार को हर कोई मैदान में हो रही पूजा को देखकर रुका और प्रयोजन जानने की कोशिश की। पूजा-पाठ के दौरान महिलाएं 9 के जोड़े में पूजा सामग्री लेकर जमीन में गड्‌ढा खोदकर रूठी देवी को मनाने में लगी रहीं। वहीं, धर्म के जानकारों ने इसे एक अफवाह बताया। उन्होंने क्षेत्र के लोगों से अपील की है कि यह अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाली बात है। कोरोना का इलाज दवा से ही संभव है और बचाव के लिए लोगों को सरकार के बताए निर्देशों का पालन करना चाहिए।

ऐसे फैली अफवाह
समाजसेवी सुमन शील ने बताया कि उन्होंने पूजा-पाठ करने वाले महिलाओं और उनके साथ कुछ लोगों से पूछा तो उन्होंने बिहार के पटना से परिजन द्वारा कोरोना माई की जानकारी मिलने की बात कही। दावा किया कि सोमवार और शुक्रवार को इनकी पूजा की जानी है। बिहार प्रशासन भी इस अफवाह को रोकने की कोशिशें कर रहा है, मगर अब इसका असर हजारों किलोमीटर दूर छत्तीसगढ़ में दिख रहा है।

Corona virus
Show More
bhemendra yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned