कुलपति दफ्तर के सामने कर्मचारियों ने किया मौन प्रदर्शन, अब करेंगे हड़ताल

कुलपति दफ्तर के सामने कर्मचारियों ने किया मौन प्रदर्शन, अब करेंगे हड़ताल
workers protest

Ashish Gupta | Updated: 04 Jun 2015, 11:39:00 PM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के कर्मचारी गुरुवार को मौन होकर कुलपति दफ्तर के सामने घंटों बैठे रहे। वे अपनी 11 सूत्रीय मांग को अब तक पूरा नहीं किए जाने से नाराज थे।

रायपुर. पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के कर्मचारी गुरुवार को मौन होकर कुलपति दफ्तर के सामने घंटों बैठे रहे। वे अपनी 11 सूत्रीय मांग को अब तक पूरा नहीं किए जाने से नाराज थे। कर्मचारियों ने यह तय कर लिया है कि वे अब अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे। ऐसे में अब विश्वविद्यालय के तमाम कामकाज में देरी होगी और छात्रों को भी परेशानी का सामना करना होगा।

कर्मचारियों ने किया मौन प्रदर्शन
विश्वविद्यालय के सभी कर्मचारियों ने अपने चरणबद्ध आंदोलन के 25वें दिन कुलपति कार्यालय के सामने कॉरीडोर में सुबह 10.30 बजे से साढ़े 5 बजे तक मौन होकर धरना देते रहे। इसके बाद कर्मचारियों ने कहा कि कर्मचारियों की मांगों को लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन मूक-बधिर हो चुका है, इसलिए कर्मचारियों को मौन प्रदर्शन करना पड़ रहा है।

कर्मचारियों ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर आरोप लगाया कि कर्मचारियों के मनोबल को कुचलने के लिए विवि प्रशासन ने कर्मचारियों की सेवाएं अनिवार्य सेवाएं को लेकर अधिसूचना जारी की है। इसके साथ ही संघ के अध्यक्ष पर भी दबाव बनाया जा रहा है। इसे लेकर कर्मचारियों ने निंदा प्रस्ताव भी पारित किया। सभी कर्मचारियों ने संयुक्त हस्ताक्षर करके विवि को फिर से मांग पत्र सौंपा।

इधर विवि ने दी चेतावनी
कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल को देखते हुए विश्वविद्यालय ने आनन-फानन में एक अधिसूचना जारी की है। विश्वविद्यालय ने सभी कर्मचारियों की सेवाओं को अनिवार्य सेवाएं बताते हुए कर्तव्य के प्रति कोताही बरतने या कार्यालयीन समय में नदारद रहने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतावनी दी है। विश्वविद्यालय ने यह जानकारी भी दी कि कर्मचारियों की मांगों को लेकर बनाई गई उपसमिति ने अपनी रिपोर्ट दी थी, जिसके बाद कई मांग स्वीकार कर लिए गए हैं और बाकी का निर्णय शासन स्तर पर होना है।
Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned