होर्डिंग्स पर लिखा- चोर और नटवरलाल है यह व्यापारी, जिसके सामने पुलिस भी मूकदर्शक

राजधानी के हृदय स्थल जयस्तंभ चौक पर किसी अज्ञात ने एक ऐसा होर्डिंग्स लगाया है, जिसमें एक नामी-गिरामी व्यापारी को चोर और नटवरलाल लिखा गया है।

By: Lalit Singh

Published: 11 Sep 2017, 04:33 PM IST

रायपुर. राजधानी के हृदय स्थल जयस्तंभ चौक पर किसी अज्ञात ने एक ऐसा होर्डिंग्स लगाया है, जिसमें एक नामी-गिरामी व्यापारी को चोर और नटवरलाल लिखा गया है। होर्डिंंग्स के माध्यम से आरोप लगाया गया है कि शहर के हृदयस्थल में स्थित सबसे बड़े शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के मालिक और बेटे ने व्यापारियों को उल्लू बनाकर बैंकों के २०० करोड़ रुपए डकार लिए। होडिंग्स में व्यापारियों को नामजद करते हुए इनसे सावधान रहने की अपील की गई है। इन्हें जालसाज, बेईमान और अन्य संज्ञाएं भी दी गई हैं।

हालांकि यह जांच का विषय है कि इस तरह होर्डिंग्स लगाने की अनुमति नगर-निगम से कैसे मिली। पुलिस में इस मामले में अब तक एफआईआर दर्ज नहीं की है। इसी प्रकार एक अन्य स्थान पर लगाए गए पोस्टर में पुलिस की कार्रवाई पर भी सवाल खड़े किए गए हैं, जिसमें लिखा गया है कि इस नटवरलाल के सामने पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है।

राजनीतिक गलियारों से रिश्ता
पोस्टर में जिन दो व्यापारियों पर २०० करोड़ रुपए हड़पने का जिक्र किया गया है, उनका नाता राजनीतिक गलियारों से भी रहा है। इनमें से एक पूर्व विधायक के भाई हैं। ये व्यापारी लंबे समय से रायपुर के व्यवसाय क्षेत्र से जुड़े हुए हैं।

मेले का आयोजन कर लाखों की उगाही

गणेश उत्सव के नाम पर गुढिय़ारी के भाजपा नेता पार्षद पति द्वारा नगर निगम की जमीन पर मेले का आयोजन कर लाखों की उगाही किए जाने के मामले में महापौर ने वसूली करने की बात कही है। लेकिन निगम के अधिकारी मामले को टालते हुए नजर आ रहे हैं। पार्षद पति द्वारा निगम को तकरीबन ५ लाख रुपए की चपत लगाने की बात सामने आई है। बता दें कि गुढिय़ारी पड़ाव गणेश उत्सव समिति द्वारा नगर निगम से बगैर अनुमति लिए 11 दिनों तक मेले का आयोजन किया गया था। समिति के अध्यक्ष भाजपा नेता वह गुढिय़ारी के बीजेपी के पार्षद पति विनोद अग्रवाल हैं।  मेले में २२ अस्थाई दुकानें लगाई गई। सभी दुकानों से ८ से १० हजार रुपए लिया गया। झूला वालों से ९० हजार की वसूली गई। पार्र्किंग से भी ५० हजार रुपए उगाहने का अनुमान है। इसस तरह लगभग ५ लाख की अवैध कमाई की गई।

Lalit Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned