scriptYou can get injured after hitting a half-finished divider | आधे-अधूरे डिवाइडर से टकराकर हो सकते हैं घायल | Patrika News

आधे-अधूरे डिवाइडर से टकराकर हो सकते हैं घायल

- इस रास्ते पर चलना संभलकर, दो से तीन जगह बड़े बड़े गड्ढे

रायपुर

Updated: June 28, 2022 09:18:59 am

दिनेश यदु @रायपुर. पुराना धमतरी रोड (Old Dhamtari Road) में टू-लेन सड़क (two-lane road) तो लगभग बन गई, पर इसके आधे-अधूरे डिवाइडर लोगों की परेशानी का सबब बन रहे हैं। सड़क निर्माण (Road Construction) करने वाले ठेकेदार ने कहीं डिवाइडर (dividers) बना दिया है, तो कहीं छोड़ दिया है। इसके साथ सड़क में ना तो रेडियम लगा है, ना ही कोई संकेतक। ऐसे में रात में दोपहिया हो या चार पहिया वाहन चालक हादसों का शिकार हो रहे हैं। यही स्थिति रही तो कोई बड़ी दुर्घटना भी हो सकती है।
प्रदेश की राजधानी से संतोषी नगर, बोरियाखुर्द, सेजबहार (Santoshi Nagar, Boriyakhurd) होते हुए धमतरी पहुंच मार्ग करीब 210 करोड़ रुपए की लागत से सड़क बनाई जा रही है। सड़क तो लगभग तैयार हो चुका हैं, लेकिन डिवाइडर आधा-अधूरा बनाकर छोड़ दिया गया है। बोरिया से डूंडा स्वागत विहार करीब 2 से 3 किलोमीटर तक की दूरी मेें करीब आधे में डिवाइडर बने हैं, तो कई जगह सिर्फ गड्ढे करके छोड़ दिये हैं।
आधे-अधूरे डिवाइडर से टकराकर हो सकते हैं घायल
आधे-अधूरे डिवाइडर से टकराकर हो सकते हैं घायल
यह भी पढ़ें - पुराना आमानाका थाने में रखे वाहन व सरिया हुए कबाड़, हो रही चोरी भी
यह भी पढ़ें - थाने में रात गुजारने के बाद सुबह फिर से धरने पर बैठे किसान
यह भी पढ़ें - पौशहर के मॉल और बिल्डिंग के बाहर सड़क पर पार्किंग से आए दिन जाम
यह भी पढ़ें -जलभराव की स्थिति जोन 2 वार्ड निवासी, इन नंबरों पर करें कॉल
यह भी पढ़ें - जनता के पैसों की बर्बादी: तीन साल में ही ढह गया मोतीबाग का साइकिल ट्रैक
आधे-अधूरे डिवाइडर से टकराकर हो सकते हैं घायल
IMAGE CREDIT: Dinesh Yadu @ Patrika Raipur
डिवाइडर की ऊंचाई कम
संतोषी नगर में डिवाइडर की ऊंचाई करीब 5 फीट है, वही 300 मीटर आगे ये डिवाइडर की ऊंचाई घटकर सिर्फ एक से दो फीट रह गई है। जो नया डिवाइडर बन रहा हैं, वह करीब 2 से तीन फीट का हैं, जो भी बेहद कम है।
मार्ग में रहता है अंधेरा
सेजबहार, डूंडा व मुजगाहन (Sejbahar, Dunda and Muzgahan) से रोजाना शहर में काम करने वाले करीब 10 से 20 हजार लोग आवाजाही करते है, पर रात में सड़क निर्माण के चलते इस मार्ग में अंधेरा रहता है। डिवाइडर के लिए खोदा गया गड्ढा अंधेरा होने के कारण नजर नहीं आता है। वहां कई वाहन सवार हादसे का शिकार हो चुके हैं।
एडीबी प्रोजेक्ट एसडीओ राजीव वैद्य (ADB Project SDO Rajeev Vaidya) कहा कि अभी फिलहाल बारिश के चलते निर्माण कार्य धीमी गति से चल रहा है। डिवाइडर का निर्माण भी जल्द ही किया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

NSA अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक को लेकर केंद्र का बड़ा एक्शन, हटाए गए 3 कमांडो'रूसी तेल खरीदकर हमारा खून खरीद रहा है भारत', यूक्रेन के विदेश मंत्री Dmytro KulebaNagpur Crime: डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस के घर के बाहर मजदूर ने किया सुसाइड, मचा हड़कंपरोहिंग्या शरणार्थियों को फ्लैट देने की खबर है झूठी, गृह मंत्रालय ने कहा- केंद्र ने ऐसा कोई आदेश नहीं दियालालू यादव ने बताया 2024 का प्लान, बोले- तानाशाह सरकार को हटाना हमारा मकसद, सुशील मोदी को बताया झूठाPunjab Bomb Scare: अमृतसर में SI की गाड़ी में बम लगाने वाले दो आरोपी दिल्ली से गिरफ्तार, कनाडा भागने की फिराक में थेगुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, वरिष्ठ नेता नरेश रावल और राजू परमार ने थामी भाजपा की कमानशाबाश भावना: यूरोप की सबसे बड़ी चोटी भी नहीं डिगा पाई मध्यप्रदेश की बेटी का हौसला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.