घरेलू विवाद में युवक की हत्या की फिर शव जलाने बोरी में भरकर ले आया श्मशानघाट तभी खुल गया राज

Raipur Crime News: राजधानी रायपुर के मंदिरहसौद के छेरीखेड़ी में आपसी रंजिश के चलते जीजा और भाई ने मिलकर एक युवक की हत्या कर दी। हत्या के बाद शव को ठिकाने लगाने के लिए एक बोरे में भरकर कोतवाली इलाके के मारवाड़ी श्मशानघाट ले गए।

By: Ashish Gupta

Published: 22 Jul 2021, 09:35 PM IST

रायपुर. Raipur Crime News: राजधानी रायपुर के मंदिरहसौद के छेरीखेड़ी में आपसी रंजिश के चलते जीजा और भाई ने मिलकर एक युवक की हत्या कर दी। हत्या के बाद शव को ठिकाने लगाने के लिए एक बोरे में भरकर कोतवाली इलाके के मारवाड़ी श्मशानघाट ले गए। वहां मैनेजर के साथ मिलकर जलाने लगे। शव को बोरे में भरकर चिता में जलाने और मौके पर केवल तीन लोगों को देखकर आसपास के लोगों को शक हुआ। उन्होंने पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस मौके पर पहुंची और चिता को बुझाया। तीनों से पूछताछ की, तब हत्या करने का खुलासा हुआ। पुलिस ने तीनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है।

पुलिस के मुताबिक छेरीखेड़ी निवासी बेदकरण साहू के बुआ का बेटा कमलेश साहू छेरीखेड़ी में था। रात में बेदकरण ने अपने जीजा टीकाराम साहू के साथ मिलकर आपसी रंजिश के चलते रात में कमलेश की गला दबाकर हत्या कर दी। इसकी जानकारी परिवार के अन्य लोगों को भी हो गई, लेकिन किसी ने पुलिस को सूचना नहीं दी। और शव को ठिकाना लगाने की तैयारी करने लगे। बेदकरण की पहचान मारवाड़ी श्मशानघाट के मैनेजर रविकांत साहू से थी। उसने रविकांत को फोन करके शव को ठिकाने लगाने की व्यवस्था करने कहा। रविकांत ने श्मशानघाट में ही शव को जला देने का आश्वासन दिया। इसके बाद बुधवार सुबह बेदकरण और टीकाराम ने कमलेश के शव को एक बोरा में भर दिया। इसके बाद अपनी कार में शव को भरकर मारवाड़ी श्मशानघाट पहुंचे।

यह भी पढ़ें: घरवालों ने मोबाइल पर गेम खेलने से मना किया तो 13 साल के बच्चे ने फांसी लगाकर दे दी जान

चिता तैयार रखा था मैनेजर
रविकांत मारवाड़ी श्मशानघाट का मैनेजर है। उसने कमलेश के शव को ठिकाने लगाने के लिए चिता तैयार करवा लिया था। बेदकरण और टीकाराम कार को सीधा चिता के पास ले गए। और शव को बोरा सहित चिता पर जलाने के लिए रख दिया। और आग लगा दी। इस पर आसपास के कुछ लोगों की नजर पड़ गई। बोरा सहित शव को जलाने और मौके पर केवल तीन लोगों को देखकर संदेह हुआ। इसके बाद लोगों ने डॉयल 112 को सूचना दी। इसके बाद कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और शव दहन को रूकवा दिया। बेदकरण, टीकाराम और रविकांत को पकड़कर पूछताछ शुरू की गई। मंदिरहसौद पुलिस को छेरीखेड़ी भेजकर मृतक कमलेश के बारे में जानकारी ली गई। इस बीच पूछताछ में बेदकरण ने कमलेश की हत्या करना स्वीकार किया। पुलिस ने तीनों आरोपियों को हिरासत में लिया है।

बार-बार बदल रहा बयान
आरोपी बेदकरण बार-बार अपना बयान बदल रहा था। हत्या का अलग-अलग कारण बता रहा है। कभी मृतक को नशेड़ी बताता था। और नशे में धुत होकर मारपीट और गाली-गलौज करने से नाराज होकर हत्या करना बता रहा था। दूसरी ओर मृतक की पत्नी भी कुछ दिनों से आरोपियों के घर में ही है। बताया जाता है कि इसी के चलते मृतक और आरोपियों के बीच विवाद होता था। फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है। आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें: गैर महिला के साथ घूम रहे पति को पत्नी ने रंगे हाथ पकड़ा फिर बीच सड़क पर मचा हंगामा

अधजले शव का पंचनामा
पुलिस के पहुंचने तक कमलेश के शव का आधा हिस्सा जल चुका था। पुलिस ने अधजले शव को बाहर निकाला और पंचनामा करके उसका शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा। मंदिरहसौद पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned