Parents alert! बच्चे का आधार कार्ड कहीं इनएक्टिव तो नहीं हो गया, ऐसा ना हो तो 5 साल का होने के बाद उसके बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन जरूर कराएं

  • 5 साल के बाद फिर जब बच्चा 15 साल के हो जाता हैं तो बायोमेट्रिक अपडेट करवाना होता है

 

By: ashutosh kumar

Updated: 10 Sep 2021, 07:42 PM IST

  • पांच साल के बच्चे का बायोमेट्रिक बिल्कुल फ्री है, अन्य अपडेट के लिए 50 रुपए चार्ज लगेगा

आधार कार्ड सभी के लिए जरूरत बन गया है। अब इसके बिना किसी भी योजना का लाभ मिल पाना मुश्किल है। इसीलिए सरकार ने भी आधार कार्ड को एक आवश्यक और अनिवार्य दस्तावेजों में शामिल कर दिया है। अगर आपको पीएम किसान सम्मान निधि योजना, पीएम जन धन योजना, एलपीजी सब्सिडी, बैंक से संबधित कार्य जैसी लगभग सभी सरकारी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए इसे अनिवार्य कर दिया गया है। आपको मालूम होना चाहिए कि अब 1 दिन के बच्चे का भी आधार कार्ड बनवाया जा सकता है। इसके लिए माता-पिता अपने नवजात शिशु के अस्पताल के डिस्चार्ज सर्टिफिकेट और माता-पिता में से किसी एक का आधार कार्ड जमा करके बाल आधार कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे कि बच्चे के 5 साल का होने के बाद उसके बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन जरूर करा लें, नहीं तो बच्चे का बाल आधार कार्ड इनएक्टिव हो सकता है।
UIDAI ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि नवजात बच्चे के आधार का इस्तेमाल 5 साल की उम्र तक किया जा सकता है। 5 साल के बाद बायोमेट्रिक अपडेट नहीं कराया, तो बच्चे का आधार इनएक्टिव हो जाता है। 5 साल के बाद फिर जब बच्चा 15 साल के हो जाता हैं तो बायोमेट्रिक अपडेट करवाना होता है।
UIDAI के मुताबिक बच्चे के 5 साल पूरे होने पर उसका बायोमेट्रिक अपडेट कराने के लिए आपको नजदीकी आधार सेंटर जाना होगा। नवजात बच्चे का फिंगरप्रिंट नहीं लिया जाता है। लेकिन जब बच्चे 5 साल के हो जाएंगे तो फिर फिंगरप्रिंट को अपडेट करवाना होगा। बच्चों के लिए ये अनिवार्य बायोमेट्रिक अपडेट बिल्कुल मुफ्त है। इसके लिए कोई चार्ज नहीं देना होगा।

  • पेरेंट्स के डेमोग्राफी और फोटोग्राफ से ही बच्चे को आधार वेरिफिकेशन हो जाएगा
    आइए जानते हैं, कैसे आप अपने बच्चे का आधार को अपडेट करा सकते हैं। इसके लिए एक बार आपको अपने नजदीकी आधार सेंटर जाना होगा। गौरतलब है कि नवजात यानी 5 साल से कम उम्र के बच्चों का आधार कार्ड बनवाने के लिए कोई क्राइटेरिया पूरा करने की जरूरत नहीं है। इसमें बायोमेट्रिक डेटा की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। आधार का प्रोसेस और ऑथेंटिकेशन पेरेंट्स के बेसिस पर हो जाएगा। पेरेंट्स के डेमोग्राफी और फोटोग्राफ से ही बच्चे को आधार वेरिफिकेशन हो जाएगा।
  • बदलाव के लिए चाहिए कौन से दस्तावेज?
    आधार में किसी भी बदलाव के लिए आपके पास वैलिड डॉक्युमेंट होने जरूरी हैं। इन दस्तावेजों के आधार पर ही आपका एड्रेस अपडेट किया जाएगा या जन्म की तारीख जैसे बदलाव किए जाएंगे। मौजूदा समय में यूआईडीएआई 32 दस्तावेजों को आइडेंटिटी प्रूफ, 45 दस्तावेजों को एड्रेस प्रूफ और 15 दस्तावेजों को जन्म की तारीख में बदलाव के लिए वैध माना है, जिसकी पूरी लिस्ट यूआईडीएआई ने ट्वीट की है। https://uidai.gov.in/images/commdoc/valid_documents_list.pdf पर पूरी लिस्ट यहां क्लिक कर के देखी जा सकती है।
ashutosh kumar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned