30 साल बाद भी प्रशासन से हाट बाजार के लिए नहीं मिली जगह

30 साल बाद भी प्रशासन से हाट बाजार के लिए नहीं मिली जगह

chandan singh rajput | Updated: 28 May 2019, 02:04:04 AM (IST) Raisen, Raisen, Madhya Pradesh, India

नगर का हाट बाजार करीब 30 सालों से स्टेट हाईवे 44 पर लगता आ रहा है

सिलवानी. नगर प्रशासन शहर के विकास के चाहे कितने ही दावे करे, मगर सच तो ये है कि नप प्रशासन का ध्यान नगर के विकास की ओर नहीं है। जी हां, इसका उदाहरण है कि नगर को आज तक व्यवस्थित हाट बाजार नहीं मिल पाया है। नगर का हाट बाजार करीब 30 सालों से स्टेट हाईवे 44 पर लगता आ रहा है। वहीं समय के साथ बाजार में दुकानों की संख्या और आबादी भी बढ़ी है, लेकिन प्रशासन के द्वारा हाट बाजार के लिए स्थाई रूप से जगह उपलब्ध नहीं कराई गई।

हालांकि अनेक बार प्रशासन, जनप्रतिनिधियों यहां तक कि अधिकारियों से भी व्यवस्थित हाट बाजार के लिए स्टेट हाईवे से हट कर जगह उपलब्ध कराने की मागं की गई। मगर लोगों की मांग को तवज्जो नहीं मिल सकी।
नगर में प्रत्येक बुधवार को हाट बाजार लगता है। सड़क किनारे लगने वाले हाट बाजार से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है, आवागमन भी प्रभावित होता है। मगर प्रशासन हाट बाजार के लिए जमीन उपलब्ध कराने में अक्षम साबित हो रहा है।

हाट बाजार में नगर तथा अंचल सहित गैरतगंज, बेगमगंज, बम्होरी, बरेली आदि स्थानों से आने वाले व्यापारी अपनी दुकानें लगाते हैं। बाजार में करीब 3 सौ दुकानें लगती हैं और सभी दुकानें सड़क से सट कर ही लगाई जाती है। दुकानों के सड़क किनारे लगाए जाने से जहां हादसे का अंदेशा भी बना रहता है।

बनते हैं जाम के हालात
बुधवार को लगने वाले हाट बाजार के दौरान दिन में कई बार जाम की स्थिति निर्मित होती है। जाम लगने से पैदल चलने वालों व हाट बाजार से सामान खरीदने वाले ग्राहकों को भी मुश्किल होती है।

पंचायत वसूलती है टैक्स
इस वक्त टैक्स हर हफ्ते वसूला जाता है। टैक्स के रूप में प्रत्येक दुकान से 20 रुपए लिए जाते हैं, लेकिन दुकानदारों को नप के द्वारा किसी भी प्रकार की सुविधा मुहैया नहीं कराई जाती है।

आवागमन में होती है परेशानी
सड़क से सट कर लगने वाले हाट बाजार के कारण प्रत्येक सप्ताह लोगों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ता है। मुख्यमार्ग पर हाट बाजार भरने से सबसे वाहनों की अधिकता व बेतरतीब पार्किंग के कारण पैदल चलना भी मुश्किल हो जाता है। इस मार्ग से गैरतगंज, बेगमगंज, भोपाल, विदिशा, उदयपुरा, पिपरिया आदि स्थानों के लिए यात्री बसों का आवागमन होता है।

शासन को पत्र लिख कर हाट बाजार लगाने के लिए भूमि उपलब्ध कराने की मांग की गई है। जमीन मिलते ही हाट बाजार को व्यवस्थित किया जाएगा।
मुकेश राय, अध्यक्ष नगर परिषद सिलवानी।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned