खरबई में जू बनाने की सरकार से मिली स्वीकृति

पर्यटन स्थलों और विश्व धरोहरों के लिए प्रसिद्ध रायसेन जिले को एक और सौगात जल्द ही मिलेगी।

By: brajesh tiwari

Published: 13 Mar 2018, 09:33 AM IST

रायसेन. पर्यटन स्थलों और विश्व धरोहरों के लिए प्रसिद्ध रायसेन जिले को एक और सौगात जल्द ही मिलेगी। भोपाल रोड पर ग्राम खरबई के पास वन विभाग द्वारा चिडिय़ा घर बनाए जाने की तैयारी की जा रही है, जिसके लिए सरकार से स्वीकृति मिल चुकी है।

इसके बाद विभाग ने जू के लिए मास्टर प्लान बनाने की तैयारी शुरू कर दी है, जिसके लिए टेंडर जारी किया गया है। मास्टर प्लान बनने के बाद जू के लिए काम शुरू किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि इसी जगह चिडिय़ा टोल चट्टान के पास रोप एडवेंचर की सुविधा भी दी जाएगी। यह एक अलग योजना के तहत बनाया जाएगा।

ये होगा चिडिय़ा घर में
वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार चिडिय़ा घर में विभिन्न जंगली जानवरों के अलावा पक्षियों को रखा जाएगा।
हर तरह के जानवर और पक्षियों के लिए उनकी प्रकृति के अनुसार अलग-अलग बाड़े बनाए जाएंगे, जिनमें उनकी सुविधा और आवश्यकता के अनुसार संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे, ताकि एक सीमित दायरे में ही उन्हे खुले जंगल का आभास बना रहे।

पर्यटकों के लिए सुरक्षित टे्रक
जू में आने वाले पर्यटकों के लिए सुरिक्षत ट्रेक बनाया जाएगा। लगभग 40 हेक्टेयर क्षेत्र में घूमकर सुरक्षा के साथ जू का आनंद ले सकें, इसके लिए विशेष इंतजाम किए जाएंगे।

एसडीएओ एके अग्रवाल ने बताया कि जू का प्रस्ताव कई संशोधनों के बाद स्वीकृत हुआ है। अब इसके लिए आगे की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। जल्द ही इस योजना पर काम शुरू होगा।

जू के लिए मास्टर प्लान बनाने की तैयारी शुरू कर दी है, जिसके लिए टेंडर जारी किया गया है। मास्टर प्लान बनने के बाद जू के लिए काम शुरू किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि इसी जगह चिडिय़ा टोल चट्टान के पास रोप एडवेंचर की सुविधा भी दी जाएगी। यह एक अलग योजना के तहत बनाया जाएगा।वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार चिडिय़ा घर में विभिन्न जंगली जानवरों के अलावा पक्षियों को रखा जाएगा। हर तरह के जानवर और पक्षियों के लिए उनकी प्रकृति के अनुसार अलग-अलग बाड़े बनाए जाएंगे।

brajesh tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned