कोरोना से बचाव करने घर-घर जाकर जागरूकता फैला रहीं आशा कार्यकर्ता

कार्यकर्ता घर-घर जाकर न सिर्फ कोरोना से बचने के लिए आवश्यक टिप्स दे रही हैं

By: chandan singh rajput

Published: 19 Mar 2020, 02:04 AM IST

सुल्तानगंज. कोरोना वायरस के साथ ही संक्रामक रोगों से बचाव के लिए आशा कार्यकर्ताओं की टीम घर-घर दस्तक देने के लिए निकल पड़ी। कार्यकर्ता घर-घर जाकर न सिर्फ कोरोना से बचने के लिए आवश्यक टिप्स दे रही हैं। बल्कि बचाव की प्रक्रिया का सार्वजनिक प्रदर्शन करके लोगों को जागरुक भी कर रही हैं। साथ ही इंसेफेलाइटिस से बचाव की जानकारी भी साझा की जा रही। पहली बार दस्तक अभियान में इंसेफेलाइटिस के अलावा किसी अन्य बीमारी के प्रति प्रचार-प्रसार जोड़ा गया है। क्षेत्र में दस्तक अभियान के साथ-साथ विशेष संचारी रोग अभियान भी चल रहा है। मेडिकल ऑफीसर डॉ. दिलीप वाड़बुदे के निर्देशन में क्षेत्र के सभी ग्रामों की आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की टीम दस्तक अभियान के तहत लोगों को जागरुक किया जा रहा है।

ये हैं कोरोना के लक्षण
कोरोना वायरस से न घबराएं खुद बचें और सबको बचाएं, जैसे जागरुकता के नारों के साथ वे यह बता रही हैं कि कोरोना वायरस एक फ्लू जैसी बीमारी फैलाता है। इसके लक्षण बुखार, खांसी और सांस लेने में तकलीफ हैं। मेडिकल ऑफीसर डॉ. वाड़बुदे ने बताया कि संचारी रोगों के साथ ही कोरोना के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए यह अभियान शुरु किया गया है।

तो तत्काल दें सूचना
ऐसे व्यक्तियों की सूचना तत्काल प्रभारी चिकित्सा अधिकारी को दें, जिन्होंने पिछले 14 दिनों में विदेश यात्रा की हो। प्रभावित व्यक्ति को अगले 14 दिनों के लिए घर के सदस्यों एवं अन्य लोगों के साथ संपर्क सीमित करने और अलग कमरे में सोने की सलाह दी गई। आशा सहयोगिनी इमरती अहिरवार, आशा कार्यकर्ता सुनीता अहिरवार ने गांव के बच्चों और महिलाओं को मास्क पहनने के बारे में बताया। वहीं माढिय़ा गुसांई में आशा कार्यकर्ता नीता यादव व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने भी गांव की महिलाओं को इसके लिए जागरुक किया। कोरोना को फैलने से रोकने के लिए आवश्यक उपाय भी बताए।

बचाव के लिए क्या करें
कोरोना वायरस से बचाव के लिए हाथों को बार-बार साबुन और साफ पानी से अच्छी तरह धोएं। खांसते और छींकते समय नाक और मुंह को टिश्यू पेपर या रूमाल से ढंकें। इस्तेमाल किए टिश्यू पेपर को कूड़ेदान में ही फेंकें। अगर खांसी या बुखार के लक्षण हो या सांस लेने में तकलीफ हो तो तुरंत नजदीक के सरकारी अस्पताल पर जाएं। खांसी बुखार या सांस लेने में दिक्कत होने और लक्षण समाप्त होने तक घर पर ही आराम करें। लोगों से कम से कम एक मीटर की दूरी बनाए रखें। इससे बचाव के लिए सार्वजनिक और खुले स्थान पर न थूकें। बेवजह अपनी आंखें, नाक या मुँह न छुएं। छूने के बाद हमेशा हाथों को अच्छी तरह साबुन से धोएं। खांसी या बुखार के लक्षण होने पर या सांस लेने में तकलीफ होने पर सार्वजनिक स्थानों पर न जाएं।

पुलिसकर्मियों ने दिया जागरूकता का संदेश
सिलवानी. तहसील मुख्यालय पर पुलिस ने आमजन को कोरोना वायरस से बचने के लिए मास्क पहनने के प्रति जागरूक किया। इसके लिए पुलिस ने स्वंय मास्क पहने और लोगों से भी मास्क पहनने का आग्रह किया। इस दौरान पुलिस ने लोगों से भी कोरोना वायरस से बचने के लिए मास्क पहनने की जानकारी दी।

Show More
chandan singh rajput
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned