scriptbhojpur Shiva temple will become a world heritage | वर्ल्ड हेरिटेज बनेगा ये शिव मंदिर, यहां चट्टानों पर मौजूद है पूर्व के सोमनाथ का पूरा नक्शा | Patrika News

वर्ल्ड हेरिटेज बनेगा ये शिव मंदिर, यहां चट्टानों पर मौजूद है पूर्व के सोमनाथ का पूरा नक्शा

भोजपुर शिव मंदिर को विश्व धरोहर घोषित कर देना चाहिए, ये मंदिर प्राचीन होने के साथ ही विशाल शिवलिंग होने के कारण अपने आप में खास है.

रायसेन

Published: April 18, 2022 10:42:47 am

रायसेन. जिले में स्थित भोजपुर शिव मंदिर को विश्व धरोहर घोषित कर देना चाहिए, ये मंदिर प्राचीन होने के साथ ही विशाल शिवलिंग होने के कारण अपने आप में खास है, इन्हें पूर्व का सोमनाथ भी कहा जाता है, यहां चट्टानों पर भी शिव मंदिर का नक्शा नजर आता है।

वर्ल्ड हेरिटेज बनेगा ये शिव मंदिर, यहां चट्टानों पर मौजूद है पूर्व के सोमनाथ का पूरा नक्शा
वर्ल्ड हेरिटेज बनेगा ये शिव मंदिर, यहां चट्टानों पर मौजूद है पूर्व के सोमनाथ का पूरा नक्शा

दो विश्व धरोहरों को समेटे रायसेन जिले में स्थित भोजपुर का विशाल शिव मंदिर भी तीसरी धरोहर बनने के लायक है। इसे पूर्व का सोमनाथ भी कहा जाता है, इसके वल्र्ड हेरिटेज बनने के लिए पहले तीन बार प्रस्ताव भी दिए गए हैं, लेकिन उन पर कोई कार्रवाई आगे नहीं हुई है, जबकि पुरातत्वविदों और पुरा संपदाओं, धरोहरों के जानकारों का कहना है कि भोजपुर में वो सब कुछ है, जो इसे विश्व धरोहर घोषित करने के लिए पर्याप्त है, रायसेन जिले में सांची के स्तूप और भीमबैठिका की गुफाएं पहले से विश्व धरोहरों में शामिल हैं। भोजपुर में यह उपलब्धि हासिल करता है तो रायसेन ऐसा पहला जिला होगा जिसमें तीन विश्व धरोहरें होंगी। पुरातत्व विद नारायण व्यास, एसडी ओटा बताते हैं कि भोजपुर मंदिर और उसके आस-पास उपलब्ध चिन्ह यह बताते हैं कि भोजपुर एक समृद्ध पुरा संपदा है।

bhojpur1.jpgइसलिए है महत्वपूर्ण
पुरातत्व विभाग के पूर्व संयुक्त निदेशक एसडी ओटा बताते हैं कि किसी भी प्राचीन मंदिर के लिए उसका शिल्प शास्त्र सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। देश, दुनिया में ऐसा कोई प्राचीन मंदिर नहीं है, जिसका शिल्प शास्त्र उपलब्ध हो। भोजपुर का मंदिर ही एक ऐसा प्राचीन मंदिर है जिसका शिल्प शास्त्र वहीं मौजूद है। मंदिर पहाड़ी पर चट्टानो पर मंदिर का पूरा नक्शा उकेरा गया है, हर खंभ, पत्थर का शिल्प और नाप तौल चट्टानो पर उकेरा हुआ है। जिसे पुरातत्व विभाग ने सुरक्षित भी किया है। यह किसी भी संरचना को विश्व धरोहर के रूप में स्वीकार करने के लिए पूर्ण है।
वर्ल्ड हेरिटेज बनेगा ये शिव मंदिर, यहां चट्टानों पर मौजूद है पूर्व के सोमनाथ का पूरा नक्शासांची में आयोजन आज
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा आज विश्व धरोहर दिवस पर सांची स्तूप पर कार्यक्रम आयोजत किया जा रहा है। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में डॉ. भुवन विक्रम निदेशक भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण, विशिष्ट अतिथि डॉ. मेनुअल जोसेफ सेवा निवृत्त उप अधीक्षण पुरातत्वविद भोपाल होंगे। इस अवसर पर फ़ोटो प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है। साथ ही पुस्तिका उदयगिरि दी ग्लोरियस केव्स ऑफ विदिशा का विमोचन भी किया जाएगा।
bhojpur_2.jpgसांची और भीमबैठिका से बनी पहचान
पूरी दुनिया को शांति का संदेश देेने वाले नगर सांची, यहां के स्तूपों के लिए तथा शैल चित्रों के लिए भीमबैठिका जैसी विश्व धरोहरों ने पूरी दुनिया में रायसेन जिले ने अपने आपमें एक विशेष पहचान बनाई है। दुनिया भर के लोग शांति की खोज में सांची तक पहुंचते हैं, वहीं भारतीय प्राचीन कला नजदीक से देखने भीमबैठिका पहुंचते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

ताजमहल के बंद 22 कमरों में क्या है, ASI ने जारी कर दी फोटोPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदीमहबूबा मुफ्ती ने कहा इनको मस्जिद में ही मिलता है भगवानMonsoon Update 2022: अंडमान-निकोबार पहुंचा मानसून, जानिए आपके राज्य में कब होगी बारिशGyanvapi Survey: ज्ञानवापी परिसर में जहां मिला शिवलिंग उसे अदालत ने तत्काल सील करने का दिया आदेश, जानें क्या कहा DM नेBCCI ने Women T20 Challenge के लिए टीमों का किया ऐलान, मिताली और झूलन को दिया बड़ा झटकाजातिगत जनगणना: भाजपा के विरोध के बावजूद सीएम नीतीश कुमार बिहार में जल्द बुलाएंगे सर्वदलीय बैठकUdaipur Chintan Shivir: राजस्थान में दंगे करवाने में भाजपा के बड़े नेताओं का हाथ, 'चिंतन' के बाद बोले सीएम गहलोत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.