scriptBJP and Congress are both on the same plate | भाजपा और कांग्रेस दोनों एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं | Patrika News

भाजपा और कांग्रेस दोनों एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं

राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ ने लगाए आरोप, किसानों की समस्या को लेकर धरना देकर दिया ज्ञापन

रायसेन

Updated: May 21, 2022 12:23:29 am

सिलवानी. भाजपा और कांग्रेस दोनों एक थाली के चट्टे-बट्टे हैं। जब कांग्रेस की सरकार आती है तो भाजपाइयों के काम और ठेके होते हैं और भाजपा सरकार में कांग्रेसियों के कार्य और ठेके चल रहे हैं। किसान संघ ही किसानों के हक की लड़ाई लड़ रहा है। गेहं खरीदी की राशि आज तक कई किसानों के खातों में नहीं आई है। किसान बैंक और आधार कार्ड सेन्टर के चक्कर काट रहे हैं। सरकार मस्ती में मस्त है। यह आरोप शुक्रवार को नगर के बजरंग चौराहे पर राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के प्रदेश उपाध्यक्ष राहुल राज ने लगाए। संघ ने किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर एक दिवसीय धरना देकर तहसीलदार रामजीलाल वर्मा को ज्ञापन सौंपा। राहुल राज ने आरोप लगाया कि जिले के वरिष्ठ अधिकारियों की पत्नी के नाम से जिले में वेयर हाउस हैं, जिनको भरने के जिले को छोड़कर अन्य जिलों से अनाज परिवहन किया जा रहा है और सरकारी धन का दुरुपयोग किया जा रहा है।

भाजपा और कांग्रेस दोनों एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं
भाजपा और कांग्रेस दोनों एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं

राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के एक और प्रदेश उपाध्यक्ष शोभाराम भलावी ने कहा कि मुख्यमंत्री मामा बनकर किसानों को लूट रहे हैं। प्रदेश सरकार ने जो वायदे किसानों से किए थे वो अभी तक पूरे नहीं हुए। देश को पालने वाले किसानों के छोटे कर्जों को माफ नहीं किया गया। जबकि अडानी अंबानी जैसों के करोड़ो रुपयों के कर्जे माफ किए जा रहे हैं। किसान आज भी अपने हक की लड़ाई लड़ रहा है। धरना प्रदर्शन को मनमोहन सिंह, कृष्णकुमार रघुवंशी, शिवकुमार रघुवंशी, बालमुकुन्द, मुकेश शर्मा, मनोजकुमार, महेन्द्र यादव, श्रीराम सेन आदि ने संबोधित किया। मंच संचालन देवेन्द्र रघुवंशी ने किया। इस अवसर पर महेन्द्र रघुवंशी, भरत पटेल, मुन्ना करेले, अंकित, अभिषेक पटेल, गुलशन कुमार, केवी गौर, योगेन्द्रसिंह सहित बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे।

ये समस्याएं भी गिनाईं
- चना की खरीदी के एक माह बाद भी किसानों को राशि प्राप्त नहीं हुई। जबकि नियमानुसार 7 दिन में किसानों को उपज का भुगतान हो जाना था। - गांवों की अटल ज्योति, घरेलु और खेतों के लिए 10 भी बिजली नहीं मिल पा रही है, जिससे मूंग की फसल सूखने की कगार पर है। ग्रामीण क्षेत्र में 4 से 5 घंटे अघोषित कटौती की जा रही है। समस्त ग्रामों को 10 घंटे कृषि कार्य एवं 24 घंटे घरेलू उपयोग के लिए बिजली दी जाए। - वर्ष 2020 के बीमा से किसानों को वंचित किया गया, किसानों को बीमा राशि दिलाई जाए। मूंग फसल के समर्थन मूल्य खरीदी के पंजीयन प्रारंभ कराया जाए। - बरसात के पूर्व तहसील के समस्त ग्रामों की बिजली लाइनों को दुरुस्त किया जाए। कही जगह बिजली लाइन बीच सड़क पर लटक रही हैं, जिससे दुर्घटना की आशंका है। - कई किसानों के कलेक्शन 3 एचपी से 5 एचपीए एवं 5 एचपी से 7.5 एचपी कर दिए गए हैं। जो तत्काल 3 के 3 एवं 5 एचपी करवाए जाएं। उसी हिसाब से बिल की राशि ली जाए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने मंत्रिमंडल विस्तार पर दिया बड़ा बयान, विदर्भ के विकास को लेकर भी कही यह बातएमपी के इन दो शहरों में हो सकता है G 20 शिखर सम्मेलन, शुरु हुई आयोजन की तैयारियांUdaipur kanhaiya lal Murder: चिकन शॉप से खुलेंगे कन्हैया हत्याकांड के राज...!सुपरटेक ट्विन टावर गिरने से आसपास नहीं होगा नुकसान, कंपनी ने तैयार किया खास प्लानदूल्हे भगवान जगन्नाथ को नहीं लगे नजर, पट हुए बंददूरियां कितनी हुई कम, एक ही दिन में बीजेपी के दो बड़े नेता अलग अलग समय पर पहुंचे कन्हैयालाल के घरPresident Election 2022 : पटना में द्रौपदी मुर्मू ने NDA के नेताओं से मांगा समर्थन, सीएम नीतीश से की मुलाकात, गुवाहाटी के लिए हुई रवानाभारी बारिश से मध्य प्रदेश में बाढ़ ही बाढ़, इन राज्यों से संपर्क टूटा, पुल से डेढ़ फीट ऊपर बह रही नदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.