scriptBought a new mud pump after saying the old pump was bad | पुराने पंप को खराब बताकर नया मड पंप खरीदा, अब नहीं बता रहे कीमत | Patrika News

पुराने पंप को खराब बताकर नया मड पंप खरीदा, अब नहीं बता रहे कीमत

नगर परिषद में बैठे अधिकारी यह भी ध्यान नहीं रखते कि जिस कार्य और सामग्री के लिए राशि खर्च की गई है

रायसेन

Updated: December 22, 2021 12:00:59 am

उदयपुरा. नगर परिषद द्वारा लंबे समय से निरंतर फिजूलखर्ची कर सरकारी धन का दुरुपयोग किया जा रहा है। नगर परिषद में बैठे अधिकारी यह भी ध्यान नहीं रखते कि जिस कार्य और सामग्री के लिए राशि खर्च की गई है। उससे नगर की जनता को कितना फायदा होगा और सुविधाएं कितने समय तक मिलेगी। जिम्मेदार शासन से मिलने वाली राशि को खर्च करने में जल्दबाजी करते हैं। इस तरह के मामले सामग्रियों की खरीदी में सामने आते जा रहे हैं। इनको लेकर जब नप सीएमओ से सवाल किया जाता है, तो उनके पास ठोस जवाब नहीं रहता है। ऐसी ही जल्दबाजी और लापरवाही मड पंप की खरीदी में सामने आई, जबकि पुराना पंप भी परिसर में खड़ा है, लेकिन जिम्मेदारों ने इसे खराब बताकर नया मड पंप खरीद लिया। बताया जा रहा है कि उक्त पंप का ज्यादा उपयोग भी नहीं होता है। इसके बाद भी पुराना पंप खराब हो गया। नगरवासियों का कहना है कि जिला प्रशासन को नगर परिषद अधिकारियों की मनमानी पर अंकुश लगाना चाहिए, क्योंकि सरकारी धन के अनावश्यक खर्च होने से नगर का विकास प्रभावित हो रहा है।

कार्यालय में खड़े इस पुराने मड पंप को बताया अनुपयोगी।
पुराने पंप को खराब बताकर नया मड पंप खरीदा, अब नहीं बता रहे कीमत

पुराने पंप नहीं सुधरवाया
अधिकारियों ने पुराने पंप को सुधरवाने के बजाए नया पंप खरीदना क्यों उचित समझा, यह समझ से परे है, जबकि नए और पुराने मड पंप की स्थिति को देखने पर एक जैसे नजर आ रहे हैं। मगर जिम्मेदारों ने पुराने पंप को अनुपयोगी साबित कर दिया। जबकि बड़ी-बड़ी मशीनरी में सुधार करवाकर उसे उपयोगी बना लिया जाता है। मगर नगर परिषद के सीएमओ ने मनमानी करते हुए सरकारी धन का दुरुपयोग कर उक्त पंप को खरीद लिया। जब इसकी चर्चा जन सामान्य में होने लगी तो जिम्मेदारों ने आनन-फानन में चार रसीदें भी कटवाकर नए पंप को उपयोगी बताने का रास्ता बना लिया।

आरटीआइ लगाकर ले लो जानकारी
उक्त पंप कितनी राशि में खरीदा गया, इसकी राशि की जानकारी नगर परिषद द्वारा नहीं दी जा रही है। सूत्रों के अनुसार इसे अधिक राशि में खरीदा गया है, जिसमें पांच से छह लाख रुपए खर्च किए गए। जब कोई जानकारी नप अधिकारी, कर्मचारियों से मांगी जाती है तो वे आरटीआइ के माध्यम से जानकारी लेने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ लेते हंै। इस तरह का उत्तर नप सीएमओ सहित जिम्मेदारों को सन्देह के घेरे में लाता है।

एफएसटी प्लांट नहीं तो कहां किया गया मल का निस्तारण
स्वच्छता के नए नियमों के अनुसार मल निस्तारण के लिए एफएसटी प्लांट होना आवश्यक है। क्योंकि खुले में मल को विस्थापित नहीं किया जा सकता। मल विस्थापित करने के लिए एफ एसटी प्लांट का निर्माण टे्रचिंग क्षेत्र में अभी निर्माणाधीन है। नए पंप से चार रसीदें काटी गई हैं। यहां पर यह भी सवाल खड़ा होता है कि यदि इन चार लोगों की रसीदें काटी हैं तो उनके यहां से गड्ढा खाली करके नप द्वारा मड पंप का प्रयोग किया गया है। ऐसे में उसके मल का कहां निस्तारण किया है। इस पर भी नप के अधिकारी, कर्मचारी कोई जवाब नहीं दे पाए और ना ही उन चार रहवासियों के नाम बता सके। जिनके यहां से मल की निकासी की गई। इस तरह नगर परिषद की सामग्री क्रय प्रणाली संदेह के घेरे में है।

विगत वर्षों में मड पंप के कंप्रेसर की हम प्रत्येक दो वर्ष में रिपेरिंग कराते थे। अभी भी नया पंप खरीदने की जगह उसकी मरम्मत हो सकती थी। मगर मरम्मत नहीं कराई गई और नया पंप खरीदा गया।
-केशव पटेल, पूर्व नप अध्यक्ष।
आपके द्वारा यह मामला संज्ञान में आया है। मैं प्रशासक और सीएमओ से बात करता हूं। यदि कोई गड़बड़ी है तो उचित कार्रवाई की जाएगी।
-प्रमोद गुर्जर, एसडीएम बरेली।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.