भारी बारिश के कारण घरों में भरा पानी, सात दिन का अलर्ट हुआ जारी

रात में बारिश होने पर बारना डेम के गेट खोले जाने की स्थिति में नगर के निचले इलाकों में फिर पानी भरने की संभावनाओं के बीच बरेली प्रशासन हाई अलर्ट पर है।

By: Amit Mishra

Updated: 05 Sep 2019, 03:06 PM IST

रायसेन/बाड़ी/बरेली. जिले में भारी बारिश rain का दौर जारी है। जिले के सारे तालाब भराव क्षमता पार कर रहे हैं। ऐसे में तालाबों के ओवरफ्लो से पानी बह रहा है। बाड़ी के बारना बांध से कोई ओवरफ्लो की व्यवस्था नहीं होने के कारण गेट खोलकर पानी निकाला जा रहा है। सोमवार की रात 12 बजे बांध केचार गेट खोलने के बाद मंगलवार को दोपहर बाकी चार गेट और खोलकर एक लाख क्सूसिक मीटर पानी निकाला गया था। 25 घंटे बाद रात एक बजे सभी गेट बंद किए गए थे, लेकिन इसके बाद से फिर तालाब में पानी का स्तर तेजी से बढ़ा, जो शाम छह बजे तक भराव क्षमता 348.55 से अधिक हो गया था। इसलिए शाम सात बजे फिर बांध के चार गेट खोले गए।

 

स्वास्थ्य परीक्षण कर जरूरी दवाएं दी गईं
यदि पानी की आवक बनी रही तो देर रात बाकी गेट भी खोल दिए जाएंगे। मंगलवार को बारना बांध के गेट खोलने का असर बरेली नगर में पड़ा, जहां नगर के वार्ड 14 और 15 के निचले हिस्सों में पानी भर गया था। देर रात स्थिति बिगड़ते देख प्रशासन ने वार्ड के लगभग एक दर्जन परिवारों को हायर सेकंडरी स्कूल में विस्थापित किया। जहां सभी परिवारों के सदस्यों का स्वास्थ्य परीक्षण कर जरूरी दवाएं दी गईं। एसडीएम ब्रजेंद्र पांडे और तहसीलदार निकिता तिवारी सारी रात स्थिति पर नजर रखे रहे। नगर पालिका का अमला, पुलिस बन जरूरी संसाधनों के साथ मौजूद रहा।

भारी बारिश के कारण घरों भरा पानी, सात दिन का अलर्ट हुआ जारी

हाई अलर्ट है प्रशासन
रात में बारिश होने पर बारना डेम के गेट खोले जाने की स्थिति में नगर के निचले इलाकों में फिर पानी भरने की संभावनाओं के बीच बरेली प्रशासन हाई अलर्ट पर है। पुलिस, नगर परिषद, स्वास्थ्य विभाग और राजस्व का मैदानी अमला मौके पर तैनात है। एसडीएम बृजेन्द्र रावत, तहसीलदार निकिता तिवारी, एसडीओपी एससी बोहित, सीएम नप एससी श्रीवास्तव नगर में हर घंटे नजर बनाए हुए हैं। आकस्मिक स्थिति में बाढ़ से लोगों को बचाने के लिए इंतजाम किए गए हैं। मंगलवार-बुधवार की रात बाढ़ से प्रभावित हुए परिवारों को शासकीय माध्यमिक शाला भवन में रोका गया है। भोजन की व्यवस्था टीम पहल और गुरुकल स्कूल द्वारा की गई।


रास्ता फिर बंद
बारना बांध का पानी आने से भोपाल-जबलपुर मार्ग पर बारना नदी के पुल पर रात में 15 फीट से अधिक पानी आ गया था। जो बांध के गेट बंद होने के बाद से कम होकर सुबह नौ बजे रास्ता खुल गया था। इस पुल पर पानी आने की संभावना है। इसी तरह कलियाोत डैम के गेट खुलने के कारण सांची रोड पर पग्रेश्वर के बेतवा पुल पर पानी आने से मंगलवार सुबह से यह रास्ता बंद था, जो बुधवार शाम पांच खुला, इसके बाद शाम को फिर बदं हो गया।


तेजी से बढ़ा तालाब का जल स्तर
बुधवार दोपहर तक बारना बांध का जल स्तर इसकी क्षमता 348.55 से नीचे था, लेकिन दोपहर बाद पानी की आवक तेज हुई और छह बजे तक यह 348.6 मीटर तक पहुंच गया था। लिहाजा विभाग के अधिकारियों ने बांध के गेट खोलने का निर्णय लिया। बांध के प्रभारी एसडीओ गोविंद सिंह तोमर ने बताया कि शाम छह बजे तालाब में पानी आने की गति 28 हजार क्यूसिक मीटर प्रति घंटा थी।


सतर्क रहने को कहा
सुल्तानपुर. अपर पलकमती डैम का एक गेट खोलकर पानी निकाला जा रहा है। यदि रात में बारिश होती है तो निचली बस्ती में पानी आ सकता है। तहसीलदार अत्ताउल्लाह खान, नपा अध्यक्ष शैलेंद्र जैन ने लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा है।

बारना के आठ गेट खोले
बाड़ी के बारना बांध के आठों गेट खोल दिए गए हैं, बांध में पानी अधिक आ रहा है। आठ गेट खोलने से बरेली के पास बारना पुल पर पानी आने वाला है, जिससे भोपाल-जबलपुर मार्ग बंद हो जाएगा।

 

अब तक 1210.2 मिलीमीटर औसत बारिश
जिले में 01 जून से 04 सितम्बर तक 1210.2 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है जो कि गत वर्ष इसी अवधि में हुई औसत वर्षा से 263.9 मिलीमीटर अधिक है। जिले की सामान्य औसत वर्षा 1327.5 मिलीमीटर है। बीते 24 घंटे में 25.6 मिलीमीटर औसत बारिश दर्ज की गई।


बाढ़ का पानी आ सकता है
रात में बरसात होने पर बारना डेम के गेट खोलने की स्थिति में नगर के निचले इलाके में बाढ़ का पानी आ सकता है। स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। सुरक्षा की दृष्टि से आवश्यक इंतजाम कर लिए हैं। मैदानी अमला मौके पर तैनात है।
निकिता तिवारी, तहसीलदार बरेली


सात सितंबर के बाद ही राहत मिलेगी
अभी सात सितंबर तक भारी बारिश की संभावनाएं बनी हुई हैं। कई जिलों में ऐसी स्थिति बन रही है। रायसेन भी उनमें शामिल है। सात सितंबर के बाद ही राहत मिलेगी।
एसएस तोमर, मौसम विशेषज्ञ

Show More
Amit Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned