एक करोड़ के लिए कर दी भाई की हत्या, भांजी ने दिया साथ

तीन दिन पहले विदिशा निवासी युवक का शव रायसेन के पास जंगल में मिला था।

By: praveen shrivastava

Published: 12 Jan 2021, 07:38 PM IST

रायसेन. रुपए के लिए कोई अपने ही सगे भाई की हत्या करे और उसमें उसकी सगी भांजी भी साथ दे तो 'सबसे बड़ा रुपैयाÓ की इससे बड़ी मिसाल नहीं मिलेगी। ऐसा ही एक मामला सामने आया है। रायसेन कोतवाली क्षेत्र के ग्राम बनछोड़ के जंगल में नौ जनवरी की शाम एक युवक का शव मिला था। जिसका सिर और चेहरा कुचला हुआ था। कोतवाली पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। जिसमें दूसरे दिन शव की शिनाख्त विजय नगर अहमदपुर रोड विदिशा निवासी 30 वर्षीय अखिलेश पुत्र कालूराम किरार के रूप में हुई। पुलिस ने शव का पीएम कराने के बाद परिजनो को सौंपा और आगे की जांच शुरू की। जांच में इस हत्याकांड की परतें खुलती गईं, जो दिल दहला देने वाली सनसनीखेज बारदात के रूप में सामने आईं।
जब इस हत्याकांड का खुलासा हुआ तो पता चला कि अखिलेश का जुर्म केवल इतना ही था कि उसने अपना एक करोड़ का बीमा करवा रखा था। इसी बीमा राशि का हथियाने के लालच में अखिलेश के बड़े भाई धीरज ने अपने ही भाई की हत्या कर दी। खास बात यह भी कि इस हत्या में उनकी भांजी 24 वर्षीय शैलजा ने भी सहयोग किया। बीमा में अखिलेश ने अपनी मां को नॉमिनी बनाया था। धीरज को भरोसा था कि उसकी मौत के बाद मां बीमा का पैसा उसे ही देगी।
मंगलवार को प्रेस वार्ता में हत्याकांड का खुलासा करते हुए एसपी मोनिका शुक्ला ने बताया कि अखिलेश का शव परिजनो को सौंपने के बाद जब पूछताछ शुरू की तो पता चला कि अखिलेश आखिरी बार अपने भाई धीरज और भांजी शैलजा के साथ दिखाई दिया था। इसी आधार पर जांच आगे बढ़ाई और धीरज से पूछताछ की, उसके जबाब गोल मोल होने पर शक गहराया और जब पुलिसिया अंदाज में पूछताछ की तो उसने सच उगल दिया। धीरज ने बताया कि एक करोड़ हथियाने के लिए उसने भांजी के साथ योजना बनाई। आठ जनवरी को सुबह साढ़े चार बजे जीप से भाई को साथ लेकर भोपाल के लिए निकला और रास्ते में उसके सिर पर मूसल, लोहे के बांट, चाकू से हमला कर हत्या कर रायसेन के जंगल में शव फेक दिया। इसके बाद दोनो अलीगंज नर्मदा तट पहुंचकर स्नान किया और फिर अपनी ससुराल तामोट पहुंच गया।
हीरोइन बनना था शैलजा को, किया पहला वार
पूछताछ में धीरज ने बताया कि भाई की हत्या के बाद मिलने वाली उसकी बीमा की राशि में से भांजी शैलजा को एक्टिंग करने मुंबई भेजना था। पूछताछ में यह भी पता चला कि हीरोइन बनने के सपने देख रही शैलजा ने ही अपने मामा पर पहला वार किया था। इसके बाद धीरज ने भी वार किए। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त जीप, चाकू, लोहे के बाट, जले हुए कपड़े आदि जब्त कर आरोपियों को न्यायालय में पेश करने की पूरी तैयारी कर ली है।
इस पूरे मामले का खुलासा एएसपी अमृत मीणा और एसडीओपी अदिति भावसार के निर्देशन में टीआई जगदीश सिंह सिद्धु उनकीटीम उनि सुरेश कुजूर, वीरेंद्र सेन, पदमा बरकरे, तेजपाल सिंह बघेल आदि की भूमिका रही।
----------------

एक करोड़ के लिए कर दी भाई की हत्या, भांजी ने दिया साथ
praveen shrivastava Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned