अतिक्रमण और पार्किंग के अभाव से बिगड़े हालात, अक्सर लगता जाम

सागर रोड और सांची रोड फिर व्यस्त रहने लगे हैं और जाम भी लगने लगे हैं

By: chandan singh rajput

Published: 29 Jun 2020, 02:04 AM IST

रायसेन. जब तक लॉकडाउन था शहर को जाम से राहत थी। लोग भी कम ही घरों से निकल रहे थे, लेकिन अनलॉक होते ही हालात फिर पहले की तरह हो गए हैं। शहर की दो मुख्य सड़कों पर वाहनों की संख्या फिर बढ़ गई है। सागर रोड और सांची रोड फिर व्यस्त रहने लगे हैं और जाम भी लगने लगे हैं। हालांकि लॉकडाउन के दौरान ही प्रशासन ने सांची रोड से अतिक्रमण हटाकर एक बड़ा काम कर लिया है, जिससे इस रोड पर आवागमन पहले की तुलना में बहुत आसान हो गया है, लेकिन सागर रोड आज भी जाम से जूझ रही है, वो भी तब जब कोई यात्री वाहन नहीं चल रहे हैं। केवल डंपरों और ट्रकों ने ही स्थिति को बिगाड़ रखा है। इसके पीछे बड़ा कारण पार्किंग की पुरानी समस्या है, जो शहर में कहीं नहीं हैं। विकास के तमाम दावे करने वाले नेता शहर में वाहनों को व्यवस्थित ढंग से खड़े करने के लिए पार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं बना सके, जिसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

जूझते हैं लोग
शहर में आवागमन के लिए लोग हर कदम पर जूझते नजर आते हैं। सागर तिराहा से पाटनदेव और दूसरी ओर तहसील तक वाहनों का बेतरतीब आवागमन आम नागरिकों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। सड़क के दोनों ओर खड़े होने वाले वाहनों को कहीं ठिकाना नहीं मिल रहा है, यही बड़ा कारण है कि सागर रोड में अधिकतर समय जाम की स्थिति रहती है।

बैंकों ने बिगाड़े हालात
सागर रोड पर सबसे अधिक समस्या बैंकों के कारण हैं। इस रोड पर दो सौ मीटर में लगभग २० बैंक शाखाएं हैं, जिनके पास अपनी पार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं है, इनके सभी ग्राहक अपने वाहन सड़क किनारे खड़े करते हैं, जिससे सड़क पर आवागमन बाधित होता है। बैंक अधिकारियों के चार पहिया वाहन भी दिनभर सड़क किनारे खड़े रहते हैं।
सांची रोड पर सुधार
लॉकडाउन के समय प्रशासन ने सांची रोड से सब्जी, फल सहित अन्य दुकानदारों के अतिक्रमण हटा दिए थे, तब से इस मार्ग पर आवागमन में खासी राहत मिली है, जाम भी नहीं लग रहा है। प्रशासन की योजना में सागर रोड से भी अतिक्रमण हटाया जाना है, लेकिन राजनीतिक कारणों से यहां प्रभावी कार्रवाई नहीं हो पा रही है।

चौड़ीकरण का प्रस्ताव
सागर और सांची रोड के चौड़ीकरण का प्रस्ताव है। इसके टेंडर भी हो चुके हैं, कांग्रेस सरकार के दौरान ही यह कार्य स्वीकृत किए गए थे, लेकिन सरकार गिरने के बाद काम अटक गया है।
जब तक चौड़ीकरण का काम नहीं होगा तब तक इन सड़कों पर आवागमन के हालात सुधरना मुमकिन दिखाई नहीं देता। सागर रोड पर कई प्रभावी नेताओं के मकान, दुकान और अतिक्रमण हैं, जो सबसे बड़ी समस्या बने हुए हैं।
-बैंकों को अपने पार्किंग के इंतजाम करना चाहिए, ताकि ग्राहकों के वाहन खड़े हो सकें। अन्य लोग भी सड़क किनारे वाहन खड़े करते हैं, अब इन पर कार्रवाई की जाएगी। अतिक्रमण हटाना प्रस्तावित है। इस विषय में भी जल्द निर्णय लेंगे।
-एलके खरे, एसडीएम

Show More
chandan singh rajput
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned