सीआईडी बनकर रिटायर्ड वनपाल को दिनदहाड़े बीच बाजार में लूटा

सीआईडी बनकर रिटायर्ड वनपाल को दिनदहाड़े बीच बाजार में लूटा
raisen

veerendra singh | Publish: Jun, 01 2017 11:22:00 PM (IST) Raisen, Madhya Pradesh, India

दोपहर में बीच बाजार में लोगों को रोककर गांजा अफीम की चेकिंग कर रहे थे तीन युवक, बैग से 15 हजार नकद और ज्वैलरी लेकर भाग निकले

औबेदुल्लागंज. मुख्य बाजार में दिनदहाड़े एक वृद्ध रिटायर्ड वनपाल को तीन लोगों ने सीआईडी पुलिस बताकर लूट लिया। रिटयर्ड वनपाल को मकान की छत डालने के लिए पैसे की जरूरत थी। इसलिए वह बैंक पैसे निकलवाने और पत्नी की ज्वेलरी बेचने बाजार आए थे। सलकनपुर मार्ग पर ग्राम करमई में रहने वाले रमेश दुबे (70) वन विभाग में वनपाल के पद से रिटायर्ड हुए थे। रमेश दुबे को मकान की छत डालने के लिए 50 हजार रुपए की आवश्यकता थी। घर से पत्नी की ज्वैलरी लेकर वह बाजार पहुंचे। यहां ज्वैलर्स ने ज्वैलरी का मूल्य 8 हजार     रुपए     बताया। मूल्य कम होने पर दुबे ने ज्वैलरी नहीं बेची और एसबीआई बैंक पैसे निकालने चले गए।  बैंक से 15 हजार रुपए निकालने के बाद मुख्य बाजार में टीकाराम     कॉलोनी के सामने पहुंचे। रमेश दुबे ने बताया कि यहां तीन लोग आते-जाते लोगों की तलाशी कर रहे थे। तीनों आरोपियों ने दुबे से कहा कि वह सीआईडी पुलिस से हैं और उनके बैग की तलाशी करनी है, क्योंकि उसमें गांजा और अफीम हो सकता है। बैंग की तलाशी के दौरान उनको 15 हजार रुपए और ज्वैलरी मिली। इसे लेकर तीनों आरोपी दो मोटरसाइकिल से भोपाल की ओर भाग निकले। घटना के बाद वृद्ध थाना पहुंचा, जहां पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ धारा 420 के तहत प्रकरण दर्ज किया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned