scriptfirst cross the drain, then reach school | पहले नाला करो पार, फिर पहुंचो स्कूल | Patrika News

पहले नाला करो पार, फिर पहुंचो स्कूल

ग्राम पंचायत सरार में छात्र-छात्राओं को स्कूल तक पहुंचने के लिए बहते पानी से निकलना पड़ रहा।
नाले की दीवार से निकलने के दौरान लगा रहता है खतरे का अंदेशा।
कुछ समय पूर्व रपटा बनाया, घटिया निर्माण के चलते हुआ क्षतिग्रस्त।
सलामतपुर में नाले की दीवार पर रखे पत्थर उसके सहारे निकल रहे छात्र।
सलामतपुर में फिसलन के कारण हाथ में चप्पल रखकर नाले को पार करते हुए स्कूली छात्र।

रायसेन

Updated: February 17, 2022 10:17:48 pm


रायसेन. सरकार ने बच्चों को अनिवार्य रुप से शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए अधिनियम बनाकर लागू किया है। वहीं छात्रों की सुविधा के लिए गांव-गांव में स्कूल और सड़कों का निर्माण किया जा रहा है। ताकि ग्रामीण इलाकों को सड़क से जोड़कर उनका विकास किया जा सके। जिससे बच्चे देश का भविष्य बन सकें। मगर सांची विकासखंड के ग्राम पंचायत सरार में हालात कुछ अलग हैं। यहां पर स्कूल और आंगनबाड़ी जाने वाले बच्चों को जान जोखिम में डालकर नाला पार करना पड़ता है। तब जाकर वे पढ़ाई करने पहुंच पाते हैं। इस नाले को पार करने के लिए दो रास्ते तो हैं लेकिन एक पर पंचायत ने रपटा बना दिया था। मगर उसका इतना घटिया निर्माण किया गया कि चंद दिनों में ही टूट गया और यहां से निकलने के लिए सिर्फ एक सकरा रास्ता ही बचा है। जिससे निकलने में हादसे का भय लगा रहता है। नाले को पार करने वाले दूसरे रास्ता पर पुल-पुलिया नहीं बनी और बच्चों को कठिनाईयों के बीच से होकर निकलना पड़ रहा।
कई बार गिर चुके
छात्रों का कहना है कि हर दिन नाला पार करने में असुविधा हो रही। कई बार गिर चुके और कई बार गिरते-गिरते बचे। बारिश के दिनों में तो यहां स्थिति विकट हो जाती है, क्योंकि नाले पर पानी अधिक बहता है। ऐसे में स्कूल पहुंचना कठिन हो जाता है। वहीं बच्चों के अभिभावकों को भी चिंता लगी रहती है। जब उनके बच्चे स्कूल से सकुशल घर नहीं पहुंचते पालक खासे परेशान होते हैं।
ग्राम पंचायत ने नहीं किए प्रयास
अब इन हालातों में ग्रा पंचायत द्वारा कोई भी प्रयास नहीं किए जा रहे ताकि स्कूल में पढऩे जा रहे बच्चों को सुगम रास्ता उपलब्ध हो सके। जबकि ग्राम पंचायतों में लाखों रुपए का आवंटन प्राप्त होता है। इसके बावजूद ग्राम विकास के लिए पंचायत द्वारा व्यवस्थित रुप से कार्य नहीं किए गए। जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ता है। इस समस्या का निराकरण करने के बजाए ग्राम पंचायत के जिम्मेदार सिर्फ मौन साधे हुए हैं। जबकि नाले पर पुल बनाया जाना बेहद आवश्यक है। जिसकी वजह से स्थानीय ग्रामीणों ने अब आंदोलन का मन बना लिया है।
इनका कहना
टूटी हुई पुलिया से निकलते समय डर लगता है। कई बार हम स्कूल जाते समय गिर कर घायल भी हो चुके हैं। बारिश के मौसम में तो बड़ी मुश्किल से स्कूल पहुंच पाते। क्योंकि नाले पर ज्यादा पानी आ जाता है।
आर्यन मीणा, छात्र कक्षा आठवीं।
मुझे स्कूल जाने के लिए प्रतिदिन खतरों का सामना करते हुए टूटी हुई पुलिया के ऊपर से बहते हुए पानी में से निकलना पड़ रहा। कई बार स्थानीय लोगों ने शिकायत की है। लेकिन जिम्मेदार अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे।
आकाश, छात्र कक्षा सातवीं।
वर्जन
आपके द्वारा ये मामला मेरे संज्ञान में लाया गया है। मै शीघ्र ही इंजीनियर को मौके पर भेजकर दिखवाता हूं। इसके बाद आगे की प्रक्रिया शुरु की जाएगी।
प्रदीप छलोत्रे, सीईओ जनपद पंचायत सांची।
पहले नाला करो पार, फिर पहुंचो स्कूल
पहले नाला करो पार, फिर पहुंचो स्कूल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का पहला बयान, केंद्रीय मंत्री भी बोलेज्ञानवापी मामले को लेकर अखिलेश यादव ने हिंदू देवी-देवताओं पर की विवादित टिप्पणीIPL 2022 LSG vs KKR : डिकॉक-राहुल के तूफान में उड़ा केकेआर, कोलकाता को रोमांचक मुकाबले में 2 रनों से हरायानोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाडिकॉक-राहुल ने IPL में रचा इतिहास, तोड़ डाला वार्नर और बेयरेस्टो का 4 साल पुराना रिकॉर्डकर्क सहित इन राशि वालों के लिए धन-कारोबार की दृष्टि से अनुकूल है आज का दिन, पेशेवर यात्राएं होंगी सफलबीपीसीएल का निजीकरण रुका, सरकार नए सिरे से फिर शुरू करेगी प्रक्रिया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.