scriptIgnoring technical parameters, canals are being built | तकनीकी मापदंडों की अनदेखी कर बना रहे नहर | Patrika News

तकनीकी मापदंडों की अनदेखी कर बना रहे नहर

तुलसीपार सिंचाई परियोजना में मिलीभगत से नहरों की घटिया लाइनिंग का निर्माण कराया जा रहा।
किसानों ने की शिकायत, अधिकारी बोले निर्धारित गुणवत्ता में हो रहा निर्माण।

रायसेन

Updated: April 28, 2022 08:17:18 pm

बेगमगंज. घटिया निर्माण के कारण प्रारंभ से सुर्खियों में रहने वाले तुलसीपार जलाशय में पक्की लिंक नहरों में पानी का रिसाव होने से खेतों में पानी भरने की किसानों द्वारा लगातार शिकायत की जा रही थी। अब उन्हीं नहरों पर लाइनिंग के लिए निर्माण ठेकेदार द्वारा शुरु कर दिया गया। निर्माण कार्य की गुणवत्ता पर प्रश्न चिन्ह लगाते हुए किसानों एवं ग्रामीणों द्वारा शिकायत की गई कि संबंधित ठेकेदार द्वारा घटिया स्तर का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। एस्टीमेट और निर्धारित डीपीआर के अनुसार निर्माण सामग्री का उपयोग किया जा रहा। ठेकेदार मनमर्जी से कम सीमेंट एवं गुणवत्ताहीन रेत का उपयोग करके निर्माण कर रहा है। ऐसे में नहरों के क्षतिग्रस्त होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। ठेकेदार के द्वारा निर्माण सामग्री कम मात्रा में और घटिया स्तर की लगाई गई।
किसान बोले ऐसे में नहीं मिलेगी सुविधा
क्षेत्र के किसानों का कहना है कि पक्की नहरों की मरम्मत में भी लापरवाही बरती जा रही है। वहीं घटिया निर्माण कार्य होने से जल्दी ही यह नवनिर्मित नहरें क्षतिग्रस्त होकर जगह-जगह से टूटने लगेगी। जिससे किसानों को सुविधा मिलने के बजाए उनके खेतों में पानी भराने से नुकसान उठाना पड़ेगा। इसलिए समय रहते निर्धारित मापदंडो के अनुसार निर्माण सामग्री का उपयोग नहर निर्माण में कराया जाए, ताकि अच्छी क्वालिटी की नहर बनने से लंबे समय तक वह टिकी रहे।
साइट पर इंजीनियर नहीं रुकते
मगर वर्तमान में चल रहे कार्यों को देखते ऐसा लगता है कि ठेकेदार द्वारा औपचारिकता पूरी करते हुए निर्माण कराया जा रहा है। निर्माण कार्य की निगरानी के लिए जल संसाधन विभाग के एसडीओ एवं इंजीनियर भी निर्माण स्थल पर मौजूद नहीं रहते। जिसके कारण काम बेहतर नहीं हो पा रहा और ठेकेदार के कर्मचारी अपनी मर्जी से निर्माण करने में लगे हुए हैं।
इनका कहना
तुलसीपार डैम की नहरों की लाइनिंग की जा रही है। नहरों में कुछ स्थानों पर पानी झिरने से रिसाव बढ़कर किसानों के खेतों में पानी भरने की शिकायतें मिल रही थी। उसको रोकने के लिए ही संबंधित ठेकेदार से काम कराया जा रहा है। मंगलवार को मैंने स्वंय इसका निरीक्षण किया था। निर्माण में 1:3:6 के मिश्रण का किया जा रहा उपयोग बेहतर है।
केडी ओझा, ईई जल संसाधन विभाग।

तकनीकी मापदंडों की अनदेखी कर बना रहे नहर
तकनीकी मापदंडों की अनदेखी कर बना रहे नहर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

IPL 2022 LSG vs KKR : डिकॉक-राहुल के तूफान में उड़ा केकेआर, कोलकाता को रोमांचक मुकाबले में 2 रनों से हरायानोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाडिकॉक-राहुल ने IPL में रचा इतिहास, तोड़ डाला वार्नर और बेयरेस्टो का 4 साल पुराना रिकॉर्डDelhi LG Resigned: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिया इस्तीफा, निजी कारणों का दिया हवालाIndia-China Tension: पैंगोंग झील पर बॉर्डर के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सैटेलाइट इमेज से खुलासाWatch: टेक्सास के स्कूल में भारतीय अमेरिकी छात्र का दबाया गला, VIDEO देख भड़की जनताHeavy rain in bangalore: तेज बारिश से दो मजदूरों की मौत, मुख्यमंत्री ने की मुआवजे की घोषणा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.