पेट्रोल, तेल से लेकर रसोई गैस तक के चुपके से बढ़े दाम- बिगड़ा घर का बजट

बड़े सामानों में डेढ़ गुना हो गई कीमतों में वृद्धि ...

रायसेन@राजेश यादव की रिपोर्ट...
कमर तोड़ महंगाई Inflation की मार ने इन दिनों गृहणियों से लेकर आम आदमी के घर के बजट को बिगाड़ कर रख दिया है। वहीं अब अमेरिका इरान विवाद us Iran tension ने इस आग में घी का काम करना शुरू कर दिया है।

जिसके चलते पिछले कुछ समय में दैनिक उपयोग से जुड़ी सामग्रियों मेे डेढ़ गुना तक कीमतों price hike में बढ़ोत्तरी हो गई है। जिससे मध्यम वर्गीय परिवार से लेकर गरीबों को घर का खर्च उठाना काफी मुसीबत भरा साबित होने लगा है।

डीजल-पेट्रोल से लेकर खाने के तेल से लेकर रसोई गैस lpg price hike के दाम गुपचुप तरीके से बढ़ गए हैं। बाजार के आंकड़े कह रहे हैं कि पिछले डेढ़ महीने में आपके घर का बजट डेढ़ गुना तक बढ़ गया है।

इसमें मोबाइल फोन रिचार्ज mobile recharge price hike से लेकर केबल का बिल सब्जी भाजी यहां तकका आटा, खाने का तेल तक शामिल है। पिछले तीन महीनों में सबसे ज्यादा लोगों के प्याज के आसमान छूते दामों ने रूलाया है। आज भी इसमें कोई खास कमी नहीं हुई है। वर्तमान में महाराष्ट्र के नासिक से आ रही प्याज के दाम सब्जी बाजार में 70 से 80 रुपए चल रहे हैं।

सोयाबीन तेल के दाम बढ़े...
बीते दो महीनों में मूंगफली तेल से लेकर सभी कंपनियों के भाव ,सोयाबीन रिफाइन के तेल के दामों में 15 से 18 फीसदी तक दाम में उछाल आया है। हालांकि सनफ्लावर मूंगफली तेल के दामों में भी 2 फीसदी दामों में बढ़ोत्तरी हो गई है।

पैकेट दूध के दाम आसमान पर...
शहर में मिलने वाले सभी कंपनियों के दूध के दामों milk price hiked में पिछले चार महीनों से लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है।

आधा लीटर दूध पैकेट के दाम तीन महीने में 3 से 4 रूपए प्रति पैकेट बढ़ चुके हैं। वहीं खुले दूध के दाम में भी नव वर्ष 2020 में डेयरी मालिकों ने दो रूपए किलो बढ़ा दिए हैं।

रसोई गैस भी हुई महंगी
पिछले दो महीनों में रसोई गैस के दाम प्रति सिलेंडर lpg cylinder 33 रूपए तक बढ़े हैं। आज की स्थिति रसोईगैस सिलेंडर के दाम 740.5 रुपए में बिक रहा है। जबकि व्यावसायिक रसोई गैस सिलेंडर के दाम 1289 रुपए हो गए हैं।

लहसुन,प्याज के दाम में वृद्धि
जानकारों के अनुसार गृहणियों के घर के किचन को बजट budget के बिगाडऩे में दाल के बाद सबसे आगे हरी सब्जियों के दाम भी होते हैं। जिसमें बीते पिछले 6 महीनों में लहसुन के दाम 260 रूपए से लेकर 300 रूपए प्रति किलो बने हुए हैं।
दाम बढऩे के पीछे अहम कारण लहसुन की फसल बिगडऩा बताया जा रहा है।

वहीं पिछले 3-4 महीनों में 110 और 100 रुपये किलो बिक rate hike चुकी प्याज के दाम बमुश्किल अभी 10-20 रूपए प्रति किलो कम हुए हैं। नववर्ष में प्याज के दाम 80 से 70 रूपए किलो हुए हैं। जबकि यही प्याज जून महीने में 10 रूपए प्रति किलो बिक रही थी।

शतक की ओर डीजल-पेट्रोल के दाम petrol price hike ...
भारत देश में सबसे महंगा पेट्रोल -डीजल मप्र में बिक रहा है। मार्च 2019 में जहां पेट्रोल के दाम 68.93 रूपए प्रति लीटर थे। डीजल 65.92 रू. प्रति लीटर थे। वहीं 10 जनवरी 2020 को बढ़कर पेट्रोल 86.97 रूपए प्रति लीटर बिक रहा है। जबकि डीजल भी 77.04 रुपए लीटर हो गया है।

दाम बढऩे के पीछे इसका मुख्य कारण 5 जुलाई 2019 को आम बजट में केंद्र सरकार ने पेट्रोल petrol और डीजल diesel पर एक-एक रूपये एक्साइज ड्यूटी व सेंस बढ़ा दिया है। वहीं मप्र में सरकार दो बार अतिरिक्त ड्यूटी लगा दी। दो बार 21 सितंबर 2019 को सीधे 5 प्रतिशत वैट कर बढ़ा दिया गया है। वहीं 1 अक्टूबर 2019 को पुन: वैट कर बढ़ाया गया है।

अण्डा egg घी ghee खाना भी महंगा .....
इसके साथ ही अण्डे और शुद्ध घी के दाम भी पिछले तीन महीनों में बढ़ गए हैं। 4 रूपए प्रति नग मिलने वाले अंडे में 2 रुपए की बढ़ोत्तरी हो गई है।

वहीं सभी कंपनियों के शुद्ध घी के दाम में 15 फीसदी तक का उछाल आया है। जबकि स्थानीय स्तर पर मिलने वाले शुद्ध घी के दाम स्थिर बने हुए हैं।

मोबाइल रिचार्ज mobile recharge कराना भी हुआ मुश्किल
पहले मोबाइल कंपनियां एक महीने का रिचार्ज 149 और तीन महीने का रिचार्ज कराने में 399 रुपए में मिल जाता था। लेकिन अब 555 ये 599 रुपए तक में मिल रहा है। ऐसे में महंगाई का सबसे ज्यादा असर मोबाइल उपभोक्ताओं पर पड़ा है।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned