आप लगा रहे हैं झांकी पंडाल तो करना न भूलें यह एक काम

आप लगा रहे हैं झांकी पंडाल तो करना न भूलें यह एक काम

Deepesh Tiwari | Publish: Sep, 11 2018 02:29:48 PM (IST) Raisen, Madhya Pradesh, India

आप लगा रहे हैं झांकी पंडाल तो करना न भूलें यह एक काम

रायसेन@शिवलाल यादव की रिपोर्ट...
शहर सहित जिलेभर में इदस दिवसीय गणेशोत्सव की धूम गुरूवार तेरह सितंबर से शुरू हो जाएगी। शहर में लगभग साठ स्थानों पर गणेश झांकियों के मनमोहक पंडाल सजाकर भगवान गणेश की प्रतिमाओं को पूरे विधि विधान पूर्वक पूजन के साथ स्थापित कराया जाएगा। झांकी पंडालों में बिजली की चोरी करना इस बार महंगा पड़ सकता है।

मप्र मध्य क्षेत्र बिजली कंपनी के महाप्रबंधक एसपी दुबे ने बताया कि गणेश झांकियों के आयोजकों को जहां 24 घंटे बिजली सप्लाई की जा रही है शहरी क्षेत्रों में अस्थायी बिजली कनेक् शन देने के लिए बाकायदा बिजली मीटर उपलब्ध कराया जाएगा। गणेशोत्सव के दौरान जितने यूनिट बिजली खर्च होगी उस हिसाब से बिल अदा कराया जाएगा।

वहीं कस्बों व गांवों में फ्लट रेट पर अस्थायी बिजली कनेक्शन इन गणेश झांकियों में दिए जाने की व्यवस्था बनाई गई है। उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि गणेश झांकियों में चोरी की बिजली जांच में मिली तो आयोजकों पर दंडात्मक कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाएगी।

बिजली कंपनी सिटी जेई एसआर पाली ने बताया कि बिजली कंपनी द्वारा बिजली चोरी रोकने के उद्देश्य से दस दिवसीय गणेशोत्सव में झांकी आयोजकों का अस्थायी बिजली कनेक्शन लेेने के लिए आदेश जारी कर दिए हैं। गणेश झांकी के पंडालों आकर्षक बिजलीकी सजावट करने के लिए में बिजली मीटर लगाए जाएंगे। झांकी आयोजकों को घरेलु दर पर प्रति यूनिट की दर से राशि वसूल की जाएगी। अगर कोई गणेश उत्सव समिति बिजली तारों से डायरेक्टर हुक फंसाकर बिजली चोरी करते पाए गए तो उनके खिलाफ विभागीय दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी।

गणेश उत्सव समिति के आयोजकों से सिटी जेई पाली ने बताया है कि अस्थायी बिजली कनेक्शन लेेन की जानकारी कंपनी के दफ्तर के नोटिस बोर्ड पर जानकारी चस्पा की गई है। झांकी आयोजकों के इस बार भी निर्धारित प्रपत्र को भरकार इसमें सारी जानकारी भरकर वरिष्ठ अधिकारियों के पास जमा करना होगी। उन्हें बिजली भार दर्शाते हुए अस्थायी बिजली कनेक्शन लेना होगा। इसी के साथ ही बिजली कंपनी के लायसेंसी ठेकेदार की जांच रिपोर्ट भी लगवाना होगी। यह भी निर्देश दिए गए हैं कि परदे और लकड़ी के आसपास बिजली के तार नहीं हो। ताकि आगजनी जैसीदुर्घटनाओं को आसानी से टाला जा सके। यदि किसी गणेश झांकी आयोजकों ने ऐसे प्रक्रिया पूर्ण नहीं की और बिजली चेारी करते पाए गए तो उनके खिलाफ जुर्माने की कार्यवाही की जाना तय है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned