पीपल को अर्पित किया दूध, सड़क पर फेंकी सब्जी, सब्जी के दाम उझले

पीपल को अर्पित किया दूध, सड़क पर फेंकी सब्जी, सब्जी के दाम उझले

By: दीपेश तिवारी

Published: 04 Jun 2018, 02:47 PM IST

रायसेन। गांव बंद किसान आंदोलन के चौथे दिन जिले के किसान सड़क पर उतरे। सोमवार को सुबह बड़ी संख्या में ग्रामीण किसान सांची के पास सलामतपुर तिराहा पर एकत्र हुए। यहां सरकार के विरोध में नारेबाजी करते हुए किसानों ने अपना दूध पीपल के पेड़ पर अर्पित किया, वही साथ लाई सब्जियां सड़क पर फेंकी। एक जुलूस की शक्ल में किसानों ने नारेबाजीबके बीच रैली निकाली।

raisen, raisen news, raisen patrika, patrika news, patrika bhopal, bhopal mp, kisaan protest, kisaan andolan,

किसान जागृति संगठन के आव्हान पर संगठन के प्रमुख इरफान जाफरी के नेतृत्व में किसानों ने अपनी मांगों बुलंद किया। उन्होंने कहा यह लड़ाई किसानों के हक के लिए है। हर मौसम की मार हम पर पड़ती हैै। फसल अच्छी हो तो दाम अच्छे नहीं मिलते और फसल अच्छी न हो तो बाजार में बिकती ही नहीं है। हम अपनी फसलों के कारण कर्ज में डूब जाते है। जिसके चलते कई किसानों को आत्महत्या करनी पड़ती है। सरकार भी हमारे लिए कोई खास काम नहीं कर रही है। यही कारण है कि विरोध के लिए बार बार, अलग अलग तरीके अपनाने पड़ रहे हैं।

सब्जी के मूल्य नही मिलने के कारण किसानो ने विरोध स्वरूप अपनी सब्जी सडकों पर फैंकी। किसानो से अपील की गई एक से शुरू होकर दस जून तक चल रहे गाँव बंद आंदोलन को सफल बनाएं। इस अवसर पर किसान जागृति संगठन प्रमुख इरफान जाफरी, महामंत्री रोहित यादव, तहसील अध्यक्ष गणेश सिंह राजपूत, युवा महामंत्री उपेन्द्र प्रताप सिंह राजपूत, रंजीत यादव, भैय्या लाल यादव, नारायण सिंह, नंद किशोर कुशवाह, पप्पू प्रजापति, अखिलेश मालवीय, सोदान कुशवाह, कुंजी लाल कुशवाह, खुमान सिंह, सुरेश कीर, हरनाम राजपूत, जरीफ पटेल, राकेश मीणा, केशरी कुशवाह के साथ सैकड़ों किसान उपास्थित थे।

पुलिस ने उठाई सब्जी
किसानों के ओर दर्शन को देखते हुए सलामतपुर तिराहा पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात था। किसानों द्वारा फीकी गई सब्जियां बाद में पुलिस ने उठाकर सड़क को साफ किया।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned