सीएम से हेल्प के लिए लगी कतार

- हर स्तर पर लंबित हैं प्रकरण, एल-4 पर सबसे ज्यादा प्रकरण लंबित।

By: praveen shrivastava

Published: 03 Dec 2019, 12:58 PM IST

रायसेन. जिले के अधिकारियों के सामने कई बार गुहार लगाने के बाद भी जब किसी की समस्या हल नहीं होती तो वो मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 181 पर डायल कर अपनी समस्या को दर्ज कराता है। इस उम्मीद में कि उसकी समस्या का अब जल्द निराकरण हो जाएगा। लेकिन यहां भी समस्या के जल्द निराकरण की उम्मीद धूमिल हो जाती है।

हालात ये हैं कि सीएम हेल्पलाइप पर रायसेन जिले के 4988 लोगों के आवेदन पेंडिंग हैं। इनमें हर स्तर पर आवेदन जांच और निराकरण के लिए लंबित हैं। सबसे अधिक मामले में एल-4 पर लंबित हैं, जहां उ"ााधिकारी स्तर पर निर्णय होना है। ऐसे में लोग सीएम हेल्पलाइन पर भी हेल्पलेस नजर आ रहे हैं।

इसके पीछे अफसरों की बेरुखी बड़ा कारण है। शिकायतें आने के बाद उनके निराकरण में रुचि नहीं लेने से मामले बढ़ते जारहे हैं। हालांकि बड़ी संख्या में ऐसे मामले हैं, जो जिला स्तर पर तो निराकृत हो गए हैं, लेकिन शासन या उच्चाधिकारी स्तर पर लंबित हैं। ऐसे मामले योजनाओं, नीतिगत निर्णयों से जुड़े हैं, जिनमें शासन या प्रदेश स्तर के अधिकारी को निर्णय लेना है।

कृषि और जिला पंचायत के मामले अधिक
जानकारी के अनुसार सीएम हेल्प लाइन से मदद की गुहार लगाने के मामले में सबसे Óयादा प्रकरण कृषि और जिला पंचायत से संबंधित हैं। कृषि संबंधी योजनाओं के अलावा ग्रामीण विकास संबंधी योजनाओं के मामलों में अधिक गड़बडिय़ां सामने आ रही हैं। इन्ही से जुड़े मामलों में शिकायतें भी सीएम हेल्प लाइन तक पहुंच रही हैं।

आवास योजना की शिकायतें बढ़ी
मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री आवास योजना में नगरीय निकायों की गड़बडिय़ां और पात्र हितग्राहियों की जगह अपात्रों को लाभ देने की शिकायतें सीएम हेल्पलाइन तक पहुंच रही हैं। जिले के सुल्तानपुर, सिलवानी तहसील के ग्रामीण अंचलों से कुटीर की राशि नहीं मिलने के मामले सीएम हेल्प लाइन तक पहुंचे हैं।

शिकायत कर गायब हो जाते हैं हितग्राही
कुछ ऐसे मामले भी सामने आते हैं, जिनमें हितगाही शिकायत करने के बाद खुद गायब हो जाते हैं। कृषि विभाग से जुड़े ऐसे ही एक मामले में एक हितग्राही ने लगभग छह माह पहले योजना का लाभ नहीं मिलने की शिकायत की थी, जब लेवल-01 पर जांच शुरू की गई तो उक्त हितग्राही गायब था, कर्मचारी उसे अभी भी तलाश रहे हैं।

ऐसे ही ग्रामीण विकास से जुड़े एक मामले में एक हितगाही शिकायत करने के बाद से फरार हो गया। शिकायत के बाद उसने कोई अपराध किया और फरार हो गया, अब पुलिस के डर से वो गांव नहीं आ रहा और कर्मचारी उसे उसकी शिकायत का निराकरण नहीं कर पा रहे हैं।


ये है शिकायतों की स्थिति
लेवल : पेंडिंग शिकाायतें
एल-01 : 1355
एल-02 : 418
एल-03 : 585
एल-04 : 2630
-----------------
कुल : 4988
-----------------

Show More
praveen shrivastava Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned