किला मंदर पर उमडा श्रद्धाुलओं का सैलाब

किला मंदर पर उमडा श्रद्धाुलओं का सैलाब

praveen shrivastava | Publish: Feb, 15 2018 10:41:34 AM (IST) Raisen, Madhya Pradesh, India

साल में एक बार खुलने वाले सोमेश्वर महादेव मंदिर के दर्शन पूजन के लिए पहुंचे हजारों लोग।

 

रायसेन। साल में एक बार केवल महाशिवरात्रि पर खुलने वाले सोमेश्वर महादेव मंदिर पर पूजन र्अचना के लिए हजारों श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ रहा है। रायसेन में आज महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जा रहा है। हर साल की तरह किला मंदिर पर मेला का आयोजन किया गया है। मंदिर के द्वार सुबह सात बजे प्रशासन और पुरातत्व विभाग के अधिकारियों की उपस्थिति में खोले गए। इससे पहले ही मंदिर के सामने श्रद्धालुओं की कतारें लग गई थीं। मंदिर के पट खुलते ही सबसे पहले सोमेश्वर महादेव का मंत्रोच्चार के बीच पूजन अभिषेक किया गया। इसके बाद श्रद्धालुओं ने पूजन, अभिषेक शुरू किया।

पूजन के लिए श्रद्धालुओं की कतारें लगभग लगी हैं। महिला और पुरुषों की अलग-अलग कतारों में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हैं। भोले के जयकारों के बीच हाथों में पूजन सामग्री लिए श्रद्धालु उत्साह के साथ कतार में लगे हैं। आज महाशिवरात्रि के दिन लगभग 50 हजार भक्त भगवान भोलेनाथ के दर्शन के लिए किला पहाड़ी पर पहुंचे हैं। इनमें स्थानीय लोगों के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले श्रद्धालु भी हैं।

 

shivrratri

लगभग दो किमी की चढ़ाई चढक़र बच्चे, युवा और कई बुजुर्ग श्रद्धालु मंदिर पहुंचे हैं। मंदिर परिसर में कई भजन मंडलियां साज बाज के साथ भजनों की प्रस्तुति दे रही हैं। प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी परिसर में मौजूद हैं। सुरक्षा की दृष्टि से हर जगह पुलिस बल तैनात है। कई सामाजिक और धार्मिक संगठनों से श्रद्धालुओं के लिए फलाहार और पानी के इंतजाम किए हैं। संगठन के सदस्य स्टॉल लगाकर श्रद्धालुओं को नि:शुल्क फलाहार वितरण कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि देश की आजादी के बाद से ही मंदिर और मस्जिद के विवाद के कारण इस मंदिर में ताले डाल दिए गए थे। जो 1974 में तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रकाश चंद्र सेठी ने खुलवाए थे। उसी समय से साल में एक बार महाशिवरात्रि पर यह मंदिर खुलता है और मेला का आयोजन किया जाता है। शाम छह बजे फिर एक साल के लिए मंदिर के द्वार पर ताले लगा दिए जाएंगे।

Ad Block is Banned