खरीदी केन्द्रों पर पसरा सन्नाटा, जानकारी देने से अधिकारी बचते रहे

जिले में कहां और कितनी खरीदी हुई जिम्मेदार अधिकारी नहीं बता पाए।

By: Rajesh Yadav

Published: 04 Apr 2019, 12:21 PM IST

रायसेन. इस बार जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी का काम शुरू से ही पिछड़ता आ रहा है। 25 मार्च से प्रारंभ होने वाली खरीदी एक अप्रैल से आधी-अधूरी तैयारियों के साथ प्रारंभ हुई। सोमवार को औपचारिक तौर पर कुछ जगह खरीदी केन्द्र खोल दिए। लेकिन उन केन्द्रों पर टैग, सिलाई धागा, स्याही सहित तौल कांटों की मरम्मत आदि का कार्य नहीं हो सका। ऐसे में खरीदी केन्द्रों पर सन्नाटा पसरा है।

रायसेन कृषि उपज मंडी परिसर में बने केन्द्र पर तीसरे दिन भी खरीदी शुरू नहीं हो सकी। हालांकि मंगलवार को इस केन्द्र पर तौल कांटों की पूजन कर शुरुआत की जा चुकी है। लेकिन खरीदी अब तक नहीं हुई।

वहीं गेहूं खरीदी व्यवस्था से जुड़े नागरिक आपूर्ति निगम, जिला सहकारी बैंक और खाद्य विभाग के अधिकारी मीडिया को किसी प्रकार की जानकारी नहीं दे रहे। पत्रिका टीम द्वारा लगातार इन अधिकारियों के मोबाइल पर संपर्क किया जा रहा है। कभी मोबाइल रिसीव नहीं होता या फिर कभी जानकारी देने से इंकार किया जा रहा।

अधिकारियों का कहना है कि कलेक्टर द्वारा मीडिया को जानकारी देने से मना किया गया है। ऐसे में कहां कितनी मात्रा मेें खरीदी हुई है। यह आंकड़े अधिकारियों द्वारा नहीं दिए जा रहे। जबकि बुधवार को प्रशासन स्तर पर खरीदी की शुरुआत का तीसरा दिन था। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को सलामतपुर खरीदी केन्द्र साढ़े 52 क्विंटल और खामखेड़ा सुखासेन खरीदी केन्द्र पर 49 क्विंटल 50 किलो गेहूं खरीदा गया।

पूजन कर खरीदी शुरू हुई
नकतरा. बनखेड़ी सोसाइटी के तहत खरीदी केन्द्र नकतरा का विधिवत रूप से भगवान श्रीगणेश का पूजन कर गेहूं खरीदी कार्य प्रारंभ किया गया। समिति प्रबंधक ज्योतिचंद नामदेव ने बताया कि पहले दिन तीन किसानों से 120 क्विंटल गेहूं की खरीदी की गई। इस मौके पर केन्द्र प्रभारी केशर सिंह, संस्था कर्मचारी सहित किसान ठाकुर बाबू सिंह, राकेश शर्मा, गिरजाशंकर व्यास एवं हम्माल मौजूद रहे। संस्था प्रबंधक ज्योति चंद नामदेव ने किसानों से अनुरोध किया है कि गेहूं साफ-सुथरा और एफएक्यू निर्धारित मापदंड के अनुसार एवं मैसेज प्राप्त होने पर ही लेकर आए।

 

 

Rajesh Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned