अदालत में हुई सास बहू की सुलह, टूटने से बचे 65 परिवार

नेशनल लोक अदालत में हुआ प्रकरणों का निराकरण। पति-पत्नी के बीच कराई सुलह।

By: praveen shrivastava

Published: 11 Sep 2021, 09:32 PM IST

रायसेन. पुलिस परामर्श केंद्र रायसेन में सास-बहू के लड़ाई झगड़े का प्रकरण तीन साल से चल रहा था, लेकिन कोई हल नहीं निकला। यह प्रकरण जब जिला विधिक सेवा प्राधिकरण तक पहुंचा तो शनिवार को आयोजित नेशनल लोक अदालत में सास-बहू के बीच सुलह बनी और उनके बीच सारे विवाद खत्म हो गए। आवेदिका सास व अनावेदिका बहू, विधिक सेवा प्राधिकरण कार्यालय में पहुंचीं और उनका परिवार फिर एक हो गया। यह एक नहीं बल्कि इस तरह के 65 प्रकरण शनिवार को नेशनल लोक अदालत में हल किए गए, जो एक रिकॉर्ड है। प्राधिकरण की सचिव संगीता यादव ने उनको पौधे भेंट किए। इसी तरह एक अन्य प्रकरण में अदालत की खंडपीठ क्रमांक 5 में भारती यादव और राजा यादव के बीच आपसी सहमति से राजीनामा कराया गया। भारती ने राजा के विरुद्ध घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम के तहत 20 जनवरी को आवेदन दिया था। अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ओंकार नाथ के मार्गदर्शन में दोनो पक्षों को उनके भविष्य को लेकर एवं उनके बच्चे के भविष्य को लेकर समझाइश दी, जिस पर दोनों पति पत्नी साथ में दांपत्य जीवन का निर्वहन करने के लिए सहमत हुए।
नौ करोड़ के अवार्ड पारित
लोक अदालत में, न्यायालय में लंबित लगभग 500 और प्री लिटिगेशन के लगभग 4000 प्रकरणों का निपटारा किया गया। इन प्रकरणों में दस हजार से अधिक पक्षकार लाभान्वित हुए। जबकि नौ करोड़ के अवार्ड पारित किए गए। एडीआर भवन में प्रधान जिला न्यायाधीश ओंकार नाथ के मार्गदर्शन में कुल 24 खण्डपीठ के माध्यम से प्रकरणों का निराकरण किया गया। अदालत में राजीनामा द्वारा प्रकरण निराकृत होने पर पक्षकारों को पौधे भेंट किए गए।
------------

praveen shrivastava Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned