दो तरफ से घेराबंदी कर पकड़ा ट्रक, 28 गौवंश किए बरामदए

अवैध गौवंश की सूचना पर पुलिस ने लगाए चेक पॉइंट तो ड्राइवर ने पुलिस पर गाड़ी चढ़ाने का किया प्रयास
- ड्राइवर क्लीनर फरार।

By: praveen shrivastava

Published: 17 Sep 2021, 11:21 PM IST

सलामतपुर. गुरुवार रात्रि लगभग साढ़े ग्यारह बजे सलामतपुर पुलिस ने अपनी जान पर खेलकर कटने जा रहे 28 गौवंश को बचाकर रात्रि में ही रामकली गौशाला हलाली डेम भिजवा दिया। इस पूरे मामले में सलामतपुर थाना प्रभारी देवेन्द्र सिंह पाल, एसआई जीएस तोमर, एएसआई रामगणेश गौर, प्रधान आरक्षक जितेन्द्र वर्मा, आरक्षक शशांक दीक्षित और रोहित गोस्वामी का महत्वपूर्ण योगदान रहा।
थाने के एसआई जीएस तोमर ने बताया कि गुरुवार रात्रि सूचना मिली कि विदिशा की तरफ से एक मिनी ट्रक एमएच बीजी 8655 अवैध गौवंश लेकर भोपाल की ओर जा रहा है। सूचना मिलते ही पुलिस ने 3 जगह चेकिंग पॉइंट लगा दिए। देर रात्रि जैसे ही ट्रक विदिशा की और से आता दिखाई दिया तो पुलिस ने थाने के सामने वाहन को रोकने का प्रयास किया लेकिन ड्राइवर तेजी से निकल गया। फिर पुलिस ने दूसरे चेकिंग पॉइंट द्वारकाधीश मंदिर पर वाहन रोकना चाहा तो ड्राइवर ने पुलिस पर ही ट्रक चढ़ाने का प्रयास किया। इसके बाद पुलिस ने दो तरफ एक पीछे से और एक आगे से घेराबंदी करके मिनी ट्रक को सोजना गांव के मोड़ पर पकड़ लिया। लेकिन ड्राइवर और क्लीनर अंधरे का फायदा उठाकर खेतों के रास्ते भागने में सफल हो गए। ट्रक में 28 गौवंश ठूंस-ठूंस कर भरे थे। जिनमें 15 गाय, 3 बछिया व 10 बछड़ों को बड़ी ही बेरहमी से मुंह और पैर बांधकर रखा था। पुलिस ने रात्रि में ही सभी मवेशियों को हलाली डेम की रामकली गौशाला में भिजवा दिया है। मिनी ट्रक को जप्त कर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मध्यप्रदेश गोवंश वध प्रतिशेध अधिनियम व पशुओं के प्रति क्रूरता का निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्जकर जांच में लिया है।
पटिए लगाकर छुपा रखे थे गौवंश
पुलिस ने मिनी ट्रक पकड़ा तो उसमें लकड़ी के पटियों पर ऊपर के हिस्से में प्लास्टिक के खाली कैरेट भर कर रखे गए थे। नीचे के हिस्से में गोवंश को पैर बांधकर रखा गया था। पुलिस व विहिप बजरंग दल के कार्यकर्ताओं गोपाल राठौर अनूप अग्रवाल नीलेश शर्मा विक्रम मीना दीपेश शर्मा विकाश रायकवार ने गोवंश की रस्सी खोलकर रामकली गौशाला भेजा।
--------------

दो तरफ से घेराबंदी कर पकड़ा ट्रक, 28 गौवंश किए बरामदए
praveen shrivastava Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned