अर्थी छीनी तो पुतले को लगाई आग

पुलिस ने की जमकर हाथापाई, विरोध में धरना पर बैठे कांग्रेसी।

By: praveen shrivastava

Published: 20 Jul 2020, 08:52 PM IST

रायसेन. गुना में दलित परिवार के साथ पुलिस द्वारा की गई मारपीट का विरोध करने सड़क पर उतरे कांग्रेसियों और पुलिस के बीच जमकर झूमाझटकी हुई। सोमवार को दोपहर बाद सागर तिराहा पर एक सभा के बाद कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदेश सरकार की अर्थी लेकर निकले, जिसे रोकते हुए पुलिस ने झूमाझटकी के बीच कांग्रेसियों से अर्थी छुड़ा ली, इस बीच कुछ कार्यकर्ता दौड़ लगाकर महामाया चौक पहुंच गए और वहां पहले से तैयार सीएम के पुतले को आगे के हवाले कर दिया। पीछे पहुंची पुलिस ने जलते हुए पुतले को छुड़ाने का प्रयास किया। इस दौरान पुलिस और कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जमकर झूमाझटकी हुई। बात अपशब्दों तक पहुंच गई। टीआई जगदीश सिंह सिद्धु ने हाथ में डंडा उठा लिया और एक कार्यकर्ता राजू माहेश्वरी चप डंडा चलाते हुए उसे जमीन पर पटक दिया। एक अन्य पुलिस जवान ने युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता विकास शर्मा की गिरेबान पकड़ ली। इससे पहले दोनो के बीच खूब बहस हुई और अपशब्द भी कहे। घटना के बाद नाराज कांग्रेसी गांधी प्रतिमा के सामने धरना पर बैठ गए। लगभग आधा घंटा बाद कलेक्टर से बात कर उन्हे ज्ञापन देने कलेक्ट्रेट पहुंचे। जिसमें कार्यकर्ताओं से अभद्रता, मारपीट करने वाले पुलिस जवान को तत्काल निलंबित करने की मांग की है। कलेक्टर ने ज्ञापन लेकर जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया। यह सारा प्रदर्शन ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के शहर अध्यक्ष मनोज अग्रवाल के नेतृत्व में किया गया। जिसमें विकास शर्मा, संदीप मालवीय, गुड्डा बघेल, राजू माहेश्वरी, मुन्नी बाई जोहरे, प्रीति ठाकुर, प्रभात चावला, मुकश शक्या, मलखान रावत, दौलत सेन आदि शामिल थे।

अर्थी छीनी तो पुतले को लगाई आगअर्थी छीनी तो पुतले को लगाई आग
Congress
praveen shrivastava Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned