पत्नी और बेटे ने छोड़ा साथ, अब दो मासूमों के कंधे पर आई बड़ी जिम्मेदारी

पत्नी और बेटे ने छोड़ा साथ, अब दो मासूमों के कंधे पर आई बड़ी जिम्मेदारी
,पत्नी और बेटे ने छोड़ा साथ, अब दो मासूमों के कंधे पर आई बड़ी जिम्मेदारी

Amit Mishra | Updated: 23 Sep 2019, 06:07:27 PM (IST) Raisen, Raisen, Madhya Pradesh, India

नदी के तेज बहाव में बहे दोनों नाबालिग के मिले शव

एक नाबालिग का सुबह तो दूसरे को शाम को मिला शव

रायसेन। पांच साल पहले थान सिंह बैरागी की पत्नी की मौत हो चुकी थी, जैसे तैसे परिवार का पालन पोषण कर रहें थे। थान सिंह बैरागी अपने सबसे बड़े बेटे सोलह वर्षीय राजा बैरागी से बड़ी उम्मीदें थी कि आने वाले कुछ वर्षो में राजा घर को संभालने में मेरी मदद करेगा,लेकिन उन्हें क्या पता था जिस राजा पर उनको इतना भरोसा है वो एक दिन उन्हीं के आखों के सामने इस दुनिया को हमेशा के लिए छोड़कर चला जाएगा


ये है मामला
रायसेन जिले के थाना कोतवाली के तहत रमासिया गांव में रविवार को सुबह करीब साढ़े नौ बजे सोलह वर्षीय राजा बैरागी पिता थान सिंह बैरागी रीछन नदी के पुल तेज बहाव के पानी में उस समय both minors drowned बह गया था जब वह साइकिल से कुप्पियां लेकर हैंडपंप पर पानी भरने जा रहा था। तभी साइकिल सवार किशोर का संतुलन अचानक बिगड़ गया। वह रीछन नदी की पुलिया पर पानी के तेज बहाव में बह गया था। उसे बचाने के लिए रेस्क्यू टीम ,तैराकों की टीम ने काफी मशक्कत की ।लेकिन रात तक कोई सफलता हाथ नहीं लगी।

पत्नी और बेटे ने छोड़ा साथ, अब दो मासूमों के कंधे पर आई बड़ी जिम्मेदारी

जिला अस्पताल की मर्रचुरी भिजवाया
राजा का शव Dead bodies दूसरे दिन घटना के 26 घंटे बाद रमासिया गांव से लगभग तीन किमी दूर एक पेड़ की जड़ों में मलबे में फंसी मिली। सूचना मिलने पर कोतवाली थाना प्रभारी जगदीश सिंह सिद्धू,तहसीलदार सुशील कुमार कस्बा पटवारी कन्हैयालाल चंद्रवंशी मौक पर पहुंच गए। शव का पंचनामा बनाकर शव पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल की मर्रचुरी भिजवाया।

 

MUST READ : बच्चे को घर में दफनाकर मोहल्ले में पूछता रहा- कहां है बच्चा

 

 

तेज धार में बह गया
इसी तरह जिले के थाना देवनगर के प्रभारी बिमलेश कुमार राय ने बताया कि थाने के तहत सकतपुर गांव में भी रविवार को सुबह 9 बजे गांव के ही प्रमोद मालवीय पिता देवी सिंह उम्र 17 वर्ष अपने दोस्तों के साथ सकतपुर के नाले में नहाने गए थे। तभी नाले में पानी का अचानक तेज बहाव आ जाने की वजह से वह पानी की तेज धार में बह गया था।

पत्नी और बेटे ने छोड़ा साथ, अब दो मासूमों के कंधे पर आई बड़ी जिम्मेदारी

गांव में एक झाड़ी में धंसा मिला शव
प्रमोद को पानी में तलाशने के लिए रेस्क्यू चलाया। साथ ही तैराकों ने भी ट्यूब पर सवार होकर खोजबीन की ।लेकिन प्रमोद मालवीय का शव सकतपुर गांव से लगभग पांच किमी दूर सेमरा बरामद गांव में एक झाड़ी में धंसा मिला। बताया जा रहा है कि मृतक प्रमोद का शव लगभग 28 घंटों के बाद मिला है। शव का मर्ग कायम कर पंचनामा बनाया । इसके बाद शव के पीएम के लिए जिला अस्पताल रवाना किया गया । मृतक परिवार में दो बड़े भाईयों से छोटा था। इसकी अचानक मौत की खबर सुनकर परिजनों मेें मातम छा गया।

 

MUST REAFD : सेक्स रैकेट का भंडा फूटा: होटल में रंगरेलियां मना रहे थे डॉक्टर समेत कई रईसजादे , देखें वीडियो

raisen.jpg

घर का बड़ा चिराग बुझा .....
रमासिया के बैरागी परिवार में मृतक राजा बैरागी बड़ा बेटा था। जो अब इस दुनिया में नहीं रहा। उसकी मां का देहांत लगभग पांच साल पहले हो चुका था। पिता मजदूरी कर जैसे तैसे बच्चोंं का पेट पाल रहा था। मृतक राजा बैरागी का एक छोटा भाई एक बहन है।उसका शव सोमवार को सुबह 11. 30 बजे मिला। जैसे ही यह बुरी खबर रमासिया गांव के ग्रामीणों को मिली मातम छा गया।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned