scriptResponsible for forgetting by giving advice, ban ineffective | समझाइश देकर भूले जिम्मेदार, पहले दिन ही प्रतिबंध बेअसर | Patrika News

समझाइश देकर भूले जिम्मेदार, पहले दिन ही प्रतिबंध बेअसर

सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग बाजार में बेरोकटोक होता रहा।
नगर पालिका सहित जिम्मेदार विभाग के अमला निरीक्षण करने नहीं पहुंचा।

रायसेन

Published: July 01, 2022 09:51:17 pm

रायसेन. केन्द्र सरकार के पर्यावरण वन एवं जलवायु मंत्रालय ने एक जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक सहित सौ माइक्रोन के लगभग २० प्लास्टिक आयटमों को प्रतिबंधित कर दिया है। इसके लिए एक दिन पहले जिला मुख्यालय पर व्यापारियों की बैठक आयोजित कर समझाइश देने की रस्म अदायगी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड एवं नपा के अधिकारी कर चुके हैं। मगर शुक्रवार को पहले दिन एक जुलाई को प्रतिबंध का असर रायसेन शहर के बाजार में कहीं दिखाई नहीं दिया। सब्जी, फल-फ्रूट सहित किराना दुकानों एवं अन्य प्रतिष्ठानों पर सौ माइक्रोन के कम की पॉलीथिन का उपयोग बेरोकटोक होता रहा। इसकी निगरानी करने के लिए नगर पालिका से कोई भी अधिकारी, कर्मचारी नहीं पहुंचा। ऐसे में दुकानदारों ने भी सरकार के आदेश की परवाह नहीं की और पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाले प्लास्टिक में सामग्री पैक करके देते रहे।
जबकि गुरुवार को नपा के सभाकक्ष में हुई बैठक में अधिकतर व्यापारियों ने अधिकारियों को अपने विचारों से अवगत कराने के बाद सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने की बात कही थी। मगर प्रतिबंध के पहले दिन ही इसका पालन जिला मुख्यालय पर होता नहीं दिखा।
ये उत्पाद किए बैन
जो उत्पाद बैन किए गए, उनमें प्लास्टिक की डंडियों वाले ईयर बड, बलून स्टिक, प्लास्टिक के झंडे, लॉलीपॉप की डंडी, आइसक्रीम की डंडी, थर्माकोल के सजावटी सामान, प्लेट्स, कप, गिलास कांटे, चम्मच, चाकू, स्ट्रॉ, ट्रे, मिठाई के डिब्बे पर लगने वाली पन्नी, निमंत्रण पत्र, सिगरेट पैकेट, 100 माइक्रोन से कम मोटाई वाले प्लास्टिक और पीवीसी बैनर आदि शामिल हैं।े
पर्यावरण के लिए बेहर खतरनाक
अब यही पॉलीथिन कचरों के ढेर फैली नजर आएगी, जिसे खाने से पशुओं की जान जोखिम में पहुंचती है। जगह-जगह नालियों में पॉलीथिन ठसी पड़ी रहती है। वहीं टै्रचिगं ग्राउंड पर डाले जा रहे कचरे में भी प्लास्टिक की थैलियां जमीन के अंदर धंसने के बाद भी नहीं गलती। इस तरह की प्लास्टिक के अंदर जो रसायन होते हैं, उनका मानव के स्वास्थ्य और पर्यावरण पर काफी बुरा असर पड़ता है। प्लास्टिक की वजह से मिट्टी का कटाव काफी होता है। इसके अंदर का केमिकल बारिश के पानी के साथ जलाशयों में जाता है, जो बेहद खतरनाक हैं।
समझाइश देकर भूले जिम्मेदार, पहले दिन ही प्रतिबंध बेअसर
समझाइश देकर भूले जिम्मेदार, पहले दिन ही प्रतिबंध बेअसर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Rakesh Jhunjhunwala Net Worth: परिवार के लिए इतने पैसे छोड़ गए राकेश झुनझुनवाला, एक दिन में कमाए थे 1061 करोड़पिता ने नहीं दिए पैसे, फिर भी मात्र 5000 के निवेश से कैसे शेयर बाजार के किंग बने राकेश झुनझुनवालाRakesh Jhunjhunwala: PM मोदी और अमित शाह समेत कई बड़े दिग्गजों ने झुनझुनवाला को दी श्रद्धांजलिRajasthan: तीसरी कक्षा के दलित छात्र को निजी स्कूल के शिक्षक ने पानी का कंटेनर छूने को लेकर पीटा, मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंदVinayak Mete Passes Away: विनायक मेटे का सड़क हादसे में निधन, सीएम एकनाथ शिंदे और शरद पवार सहित अन्य नेताओं ने जताया शोकRakesh Jhunjhunwala Rajasthan connection: राजस्थान के झुंझुनूं जिले से जुड़ी है राकेश झुनझुनवाला की जड़ेJ-K: स्वतंत्रता दिवस से पहले आतंकियों का ग्रेनेड से हमला, कुलगाम में पुलिसकर्मी शहीदIndependence Day 2022: क्रिकेट के वो खास पल, जिन्होंने फैन्स को रोने पर कर दिया मजबूर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.