जिस कार से रायसेन आए थे उसी से दमोह जा रहे थे चोरी करने

- स्टेट बैंक में पांच लाख की चोरी करने वाले गिरोह को पुलिस ने धरदबोचा

- चार आरोपी गिरफ्तार, तीन आरोपी अभी फरार, एक नाबालिग भी शामिल

- तीन लाख 80 हजार रुपए बरामद।

By: praveen shrivastava

Published: 08 Dec 2019, 11:45 AM IST

रायसेन. शहर के सांची रोड स्थित भारतीय स्टेट बैंक शाखा से चार दिन पहले तीन दिसंबर को दिनदहाड़े पांच लाख रुपए चखेरी कर फरार हुए गिरोह को पुलिस ने शुनिवार को धरदबोचा।

ये गिरोह जिस कार से रायसेन बैंक में चोरी करने आया था, उसी कार से चोरी की बारदात को अंजाम देने दमोह जाते हुए भोपाल-रायसेन के बीच जाखा पुल के पास पुलिस गिरफ्त में आया। चोरों की नेक्सन कार की उनकी शिनाख्त का कारण बनी। शनिवार को एसपी मोनिका शुक्ला ने चोरी की संगीन बारदात का खुलासा किया।

एसपी शुक्ला ने बताया कि चोरों द्वारा बैंक से चुराए गए पांच लाख रुपए में से तीन लाख 80 हजार रुपए, नौ मोबाइल और बारदात में प्रयुक्त कार बरामद की है। पकड़े गए चार चोरों में एक नाबालिग भी शामिल है, जबकि तीन चोर अभी फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है।

पकड़े गए चोरों में एक 11 वर्षीय नाबालिग सहित विक्रम 23 वर्षीय सिंह पिता नारायण राजपूत निवासी गोपालपुरा पचौर जिला राजगढ़, 25 वर्षीय सुनील पिता बजरंग बैरागी निवासी माथनिया थाना रायपुर जिला झालावाड़ राजस्थान और कार मालिक 25 वर्षीय रोहित गौर पुत्र गोविंद प्रसाद गौर निवासी कालानी नगर इंदौर शामिल हैं।
एसपी शुक्ला ने बताया कि उक्त धरपकड़ में तीन आरोपी चेतन, विक्की और नोजल फरार हो गए।

ऐसे दिया था चोरी की वारदात को अंजाम
इंदौर निवासी रोहित गौर की कार क्रमांक एमपी 09-सी जेड-0521 को चोर गिरोह के सदस्यों ने किराए पर लिया था। कार मालिक ने कार को ड्राइवर सहित भेज दिया। सबसे पहले चारों चोर दमोह पहुंचे। वहां काम नहीं बना तो सीधे रायसेन आ गए।

कार को एकांत में खड़ी कर आटो से दो युवक व 11 वर्षीय बालक स्टेट बैंक में आ गए। एक युवक निगरानी करता रहा। दूसरे नाबालिग लड़के को नोटों की गड्डिया उठाने भेज दिया। बालक द्वारा कैशियर राजेश गुप्ता के पास में रखी नोटों की गिड्डी पर हाथ साफ करते ही रैकी कर रहा वह युवक उसके पीछे से चला गया। कार में सवार होकर वह भोपाल की तरफ फरार हो गए। इसके बाद वह भोपाल होते हुए इंदौर चले गए।

3 पुलिस टीमें लगाई थीं तालाशी में
तीन दिसंबर को सुबह साढ़े 11 बजे हुई घटना की जानकारी रात में पुलिस को मिली। तब पुलिस ने बैंक में लगे सीसीटीवी फुटैज खंगाले, दूसरे दिन शहर में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले जिनसे चोरों की शिनाख्त करना आसान हुआ। उनकी तलाश के लिए तीन टीमें बनाकर राजगढ़, इंदौर, भोपाल भेजा गया।

टीमों में कोतवाली प्रभारी जगदीश सिंह सिद्धु, सब इंस्पेक्टर गिरीश दुबे, आरके चौधरी, राधेश्याम पटेल आदि शामिल थे। शनिावर को पुलिस को सूचना मिली कि उक्त नेक्सन कार फिर भोपाल से रायसेन की ओर आ रही है। सूचना मिलने पर पुलिस ने जाखा पुल के पाास घेराबंदी कर चोरों को धरदबोचा।

Show More
praveen shrivastava Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned