scriptsahkarita me ghaplon aur ghotalon ki lambi fehrist | सहकारिता में घपलों और घोटालों की लंबी फेहरिस्त | Patrika News

सहकारिता में घपलों और घोटालों की लंबी फेहरिस्त

फिर एक प्रबंधक पर हुई एफआईआर
खरगोन सोसायटी में 25 लाख की हेराफेरी, किसानों की राशि प्रबंधक ने डकारी।

रायसेन

Published: November 02, 2021 09:28:25 pm

रायसेन. जिले में फिर एक बार सहकारिता विभाग में आर्थिक भ्रष्टाचार करने वालों पर बड़ी कार्रवाई की गई है। प्राथमिक सहकारी संस्था मर्यादित खरगोन के प्रबंधक पर किसानों द्वारा जमा किए गए 25 लाख रुपए हजम करने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है। तीन दिन पहले ही सहकारिता के बड़े अधिकारी नारायणसिंह हाडा व विपणन सहकारी संस्था उदयपुरा के प्रबंधक रामबाबू शर्मा पर करीब डेढ़ करोड़ का गबन करने के आरोप में एफआईआर दर्ज कराई गई थी।
सहकारिता सेक्टर में भ्रष्टाचार किसी से छिपा नहीं। सोसायटी, सहकारी बैंक, विपणन संस्था सहित दूसरी सहकारी संस्थाओं में भारी आर्थिक अनियमितताओं के मामले उजागर होते रहे हैं। सहकारिता के एक बड़े अधिकारी व प्रबंधक पर एफआईआर के तीन दिन बाद फिर एक प्रबंधक पर 25 लाख रुपए का गबन के आरोप में बरेली थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है।
मामला प्राथमिक सहकारी कृषि सहकारी समिति खरगोन का है, जहां 1 अप्रेल 2018 से 31 जुलाई 2021 तक समिति प्रबंधक रहे प्रमोद आचार्य ने 39 किसानों द्वारा जमा कराई गई कर्ज की राशि 25 लाख 35 हजार 371 रुपए खुद हजम कर लिए। तत्कालीन शाखा प्रबंधक प्रमोद आचार्य ने ऋण की यह राशि वसूल होने के बाद किसानों को तो रसीद दे दी, परंतु उक्त राशि को बैंक के खाते में जमा नहीं कराया और न ही उसकी इंट्री डिजिटल मेंबर रजिस्टर में की। ऋण की राशि जमा करने के बाद भी किसान पर कर्ज चढ़ा रहा। जब इस बात उन्हें जानकारी लगी तो किसानों ने कलेक्टर से शिकायत की। मामले को गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर अरविंद कुमार दुबे ने टीम गठित कर पूरे मामले की जांच कराई। जिसमे सामने आया कि किसानों द्वारा जमा कराई गई राशि का प्रबंधक प्रमोद आचार्य ने गबन किया है। प्रबंधक के दोषी पाए जाने पर कलेक्टर ने एफआईआर दर्ज करवाने के निर्देश दिए थे। कलेक्टर के निर्देश पर जिला सहकारी केंद्रीय बैंक खरगोन शाखा के प्रबंधक लक्ष्मीनारायण रघुवंशी ने प्रमोद आचार्य के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने बरेली थाने में आवेदन दिया था। इस आवेदन पर बरेली पुलिस ने सोसायटी प्रबंधक प्रमोद आचार्य के खिलाफ धारा 407, 409 व 420 के तहत धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया है।
इनका कहना है
सोसायटी के सदस्य 39 किसानों ने करीब 25 लाख 35 हजार 371 रुपए की राशि 2018 से 2021 की अवधि के बीच तत्कालीन प्रबंधक प्रमोद आचार्य के माध्यम से जमा कराई थीए लेकिन वह किसानों के खाते में जमा नहीं हुई और किसान कर्जदार बने रहे, जिसकी शिकायत उन्होंने कलेक्टर से की थी, कलेक्टर के निर्देश पर पूरे मामले की जांच के बाद दोषी प्रबंधक पर एफआईआर दर्ज कराई गई है।
पुष्पेंद्र कुशवाहा, उपयुक्त सहकारिता रायसेन
------------------
सहकारिता में घपलों और घोटालों की लंबी फेहरिस्त
सहकारिता में घपलों और घोटालों की लंबी फेहरिस्त

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतहो जाइये तैयार! आ रही हैं Tata की ये 3 सस्ती इलेक्ट्रिक कारें, शानदार रेंज के साथ कीमत होगी 10 लाख से कमइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतShani: मिथुन, तुला और धनु वालों को कब मिलेगी शनि के दशा से मुक्ति, जानिए डेटइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडPost Office FD Scheme: डाकघर की इस स्कीम में केवल एक साल के लिए करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.