किसान महासम्मेलन में सीएम शिवराज का बयान, बोले- 'न मंडी बंद होंगी और न MSP पर खरीदी'

रायसेन में आयोजित किसान महासम्मेनल में सीएम शिवराज की किसानों से अपील, किसी के बहकावे में आएं किसान..

By: Shailendra Sharma

Published: 18 Dec 2020, 05:07 PM IST

रायसेन. रायसेन में हुए किसान महासम्मेलन में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एक तरफ जहां नए कृषि कानूनों की तारीफ की तो वहीं दूसरी तरफ नए कृषि कानूनों के फायदे किसानों को समझाते हुए किसानों से अपील करते हुए कहा कि किसान किसी की भी बातों में न आएं। सीएम शिवराज ने मंच से कांग्रेस पर किसानों को बहकाने का आरोप लगाते हुए कहा कि राहुल गांधी और कमलनाथ झूठ बोलते हैं। सीएम ने ये भी कहा कि न तो मंडियां बंद हो रही हैं और न ही एमएसपी पर फसलों की खरीदी बंद होगी।

 

न मंडियां बंद होंगी, न MSP पर खरीदी- शिवराज
सभा को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंच से कहा कि न कहा कि किसान भाइयों किसी की बातों में मत आना, न तो मंडी बंद होंगी और न ही MSP पर खरीदी बंद होगी। मंडियां चालू रहेंगी और किसान अगर चाहेगा तो मंडी के बाहर भी अपनी फसल बेच पाएगा। सीएम शिवराज ने आगे कहा कि पहले स्टॉक लिमिट के कारण व्यापारी कम उपज खरीदता था तो चीजों की कीमत घट जाती थी लेकिन अब पीएम मोदी ने कहा है कि कोई स्टॉक लिमिट नहीं है जितनी चाहे उतनी खरीदी की जा सकेगी। ऐसे में ज्यादा खरीदी होगी तो ज्यादा कीमत बढ़ेगी। जो कानून केन्द्र सरकार ने बनाए हैं वो पूरी तरह से किसानों के हित में हैं और ये नए कृषि कानून भविष्य में किसानों की जिंदगी में क्रांतिकारी बदलाव लाएंगे।

 

किसानों को मिलेगी फसल बेचने की आजादी- सीएम
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने नए कृषि कानूनों की तारीफ करते हुए कहा कि पहले सिर्फ किसान मंडी में ही अपनी फसल बेच सकता था। अगर फसल बाहर बेच दी तो शामत आ जाती थी, मंडी में न चाहकर भी किसानों को कम दामों पर फसल बेचनी पड़ती थी लेकिन अब पीएम मोदी ने ये तय किया कि किसान अपनी मर्जी से जहां चाहेंगे वहां फसल बेच सकेंगे।

 

कांग्रेस पर बरसे शिवराज
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंच से कांग्रेस पर भी जमकर हमला बोला। सीएम ने कहा कि राहुल गांधी और कमलनाथ किसानों के लिए उपवास करने की बात कह रहे हैं। पहले उन्हें किसानों से झूठ बोलने, किसानों के साथ ठगी करने और धोखा देने के लिए पश्चाताप करना चाहिए। सीएम ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि कमलनाथ ने कर्जमाफी का झूठ बोलने के साथ ही पीएम किसान कल्याण निधि के पात्र किसानों की सूची तक केन्द्र सरकार के पास नहीं भेजी। जब हमारी सरकार बनी तो हमने किसानों की सूची केन्द्र सरकार के पास भेजी और किसानों को केन्द्र की तरफ से मिलने वाले 6 हजार रुपए के साथ ही अपनी ओर से भी 4 हजार रुपए देने का ऐलान किया। सीएम ने मंच से राहुल गांधी, कमलनाथ और दिग्विजय को चुनौती देते हुए कहा कि वो सुन लें कि मोदी जी के नेतृत्व में पिछले 6 महीनों में किसानों के खातों में अब तक 82 करोड़ रुपयों से भी ज्यादा भेजे जा चुके हैं।

 

देखें वीडियो- भाजपा का 'फॉर्मूला 23'

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned