अटकी बारिश, अब खेतों में सूखने लगी धान की पौध

इस बार कई किसानों ने धान की सीधी बोवनी की है

By: chandan singh rajput

Published: 04 Jul 2020, 02:04 AM IST

रायसेन. बीते लगभग १५ दिन से अच्छी बारिश नहीं हो रही है, जिससे किसानों की परेशानियां बढ़ गई हैं। १५ दिन पहले हुई जोरदार बारिश से किसानों ने खेतों में धान और सोयाबीन की बोवनी शुरू कर दी थी। इस बार कई किसानों ने धान की सीधी बोवनी की है।
इसके पौधे लगभग आठ इंच तक बढ़ गए हैं, लेकिन बारिश नहीं होने से पौधों पर संकट खड़ा हो गया है। हालात ये हैं कि जमीन में दरारे पडऩे लगी हैं। ऐसे हालात ग्राम माखनी के और आस-पास देखे जा रहे हैं। जहां पौधों के बीच खेतों में दरारे दिखाई दे रही हैं। यदि जल्द ही अच्छी बारिश नहीं होती है, तो धान की बोवनी के सूखने का खतरा बढ़ जाएगा। ये हालात उन क्षेत्रों में बन रहे हैं जहां किसान बारिश के पानी पर ही निर्भर हैं। जिन किसानों के पास सिंचाई के अपने साधन नहीं हैं और तालाब के पानी और बारिश पर निर्भर करते हैं, उनकी फसलों पर खतरा बढ़ गया है।

उमस ने किया बेहाल
बारिश नहीं होने या कहीं-कहीं छुटपुट बारिश से उमस बढ़ रही है। शुक्रवार को दिनभर कभी तेज धूप तो कभी बादल छाए रहे, लेकिन शाम तक बारिश नहीं हुई, जिससे उमस बढ़ गई और लोगों का घरों में रहना मुश्किल हो रहा था। गुरुवार को सुबह लगभग आधा घंटा की बारिश के बाद फिर बारिश नहीं हुई।
दोपहर में धूप निकलने से उमस और बढ़ गई थी। मौसम विभाग ने रायसेन जिला सहित अन्य जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया था, लेकिन इसका असर रायसेन जिले में दिखाई नहीं दिया।

मानसून की बेरुखी, किसानों पर भारी
सिलवानी. कई जगह झमाझम बारिश होने और मानसून की सक्रियता से बारिश की उम्मीद बंधा दी हो, लेकिन कृषि प्रधान सिलवानी तहसील का समूचा किसान अभी आसमान की ओर टकटकी लगाए देख रहा है। मगर बारिश लंबी खिंचने के बाद किसानों सहित आमजन में हताशा देखने को मिल रही। क्योंकि बारिश नहीं होने से गर्मी, उमस से लोग बेहाल होते जा रहे। वहीं बारिश नहीं होने से खेत सूखते जा रहे हैं। कई किसानों ने सोयाबीन की बोवनी तो कर दी, लेकिन बारिश नहीं होन से बीज का अंकुरण ही नहीं हो पाया। वहीं कई खेतों में बीज अंकुरित होने के बाद निकली तेज धूप से सोयाबीन का पौधा खराब होने लगा। ऐसे में किसान खासे चिंतित नजर आ रहे।

Show More
chandan singh rajput
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned