गुरु के आशीर्वाद से मिलती है सफलता: राजन महाराज

गुरु के आशीर्वाद से मिलती है सफलता: राजन महाराज

chandan singh rajput | Publish: Apr, 27 2019 02:04:04 AM (IST) Raisen, Raisen, Madhya Pradesh, India

बेटियां आज के समय में किसी से कम नहीं हैं, प्रत्येक क्षेत्र में बेटियां सफलता के अनेक सोपान तय कर रही हैं

सिलवानी. 'बेटियां आज के समय में किसी से कम नहीं हैं, प्रत्येक क्षेत्र में बेटियां सफलता के अनेक सोपान तय कर रही हैं। समाज का कोई भी क्षेत्र बेटियों के योगदान से अछूता नहीं है। राजनीति, प्रशासनिक सेवा, खेल आदि क्षेत्र में बेटियों के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है। देश की स्वतंत्रता की लड़ाई में भी रानी लक्ष्मीबाई सहित अनेक वीरांगनाओं ने अपना योगदान दिया था। इन वीरांगनाओं के योगदान इतिहास के पन्नो में दर्ज हैं, बेटियां दो कुल का नाम रोशन करती हैं।

बेटियों का हमेशा ही ससुराल पक्ष के सदस्यों का सम्मान करना चाहिए। यह उद्गार राष्ट्र संत राजनजी महाराज ने व्यक्त किए। वह नगर में आयोजित नव दिवसीय श्रीराम कथा के आठवें दिन उपस्थित श्रद्धालुओं को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम का आयोजन श्रीराम आयोजन समिति के द्वारा कराया जा रहा है। आठवें दिन की कथा के यजमान मेनका श्याम साहू, प्रहलाद सिंह रघुवंशी सिमारिया व राकेश सोनी रहे।

महाराज ने कहा कि भाई भाई के बीच वैमनस्यता बढ़ रही है। आवश्यकता इस बात की है कि भाइयों के साथ ही परिजनों के बीच विवाद की स्थिति नहीं बननी चाहिए, ना ही अलगाव की स्थिति पैदा हो। परिवार के सभी सदस्यों के बीच राम, लक्ष्मण, भरत, शत्रुधन की तरह प्रेम होना चाहिए। परिवार में सुख समृद्धि बनी रहे इसके लिए सभी के बीच प्रेमवत व्यवहार होना चाहिए।

संपत्ति का बंटवारा तो करो, व्यापार व्यवसाय भी अलग-अलग करो, लेकिन एक ही छत के नीचे प्रेमपूर्वक रहो। संकट के समय भाई ही भाई के काम आता है। वर्तमान में एकल परिवार की अवधारणा बढ़ती जा रही है, जो कि उचित नहीं है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned