परिवार को छोडऩे और साथ रहने का बना रही थी दबाव

परिवार को छोडऩे और साथ रहने का बना रही थी दबाव

chandan singh rajput | Publish: May, 02 2018 09:01:33 AM (IST) Raisen, Madhya Pradesh, India

हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासी एक महिला की हत्या करने वाले आरोपी को पुलिस ने ३६ घंटे में गिरफ्तार कर अंधे कत्ल का मामला सुलझाया।

रायसेन. जैसे-जैसे साल बीतता जा रहा है, वैसे-वैसे शहर में अपराध भी बढ़ते जा रहे हैं। जहां चोर-उचक्के पुलिस की नाक के नीचे से हाथ साफ कर रहे हैं, वहीं लूट और हत्या की वारदातें भी बढ़ रही हैं। मगर इन सब पर लगाम तभी लग सकती है, जब पुलिस अपराधियों को फटाफट सलाखों के पीछे पहुंचाएगी। ऐसी ही एक वारदात यहां घटी। इसमें शहर की हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासी एक महिला की सिर कुचलकर हत्या करने वाले आरोपी को पुलिस ने ३६ घंटे में गिरफ्तार कर अंधे कत्ल का मामला सुलझा लिया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया है। शनिवार को सदालतपुर प्लांटेशन के पास महिला का शव निर्वस्त्र हालत में मिला था।

जिसका सिर पत्थर से कुचलकर हत्या की गई थी।
हत्या के इस मामले में पुलिस ने सालेरा निवासी आरोपी युवक को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया है। कोतवाली पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भादंवि की धारा ३०१, ३०२ के तहत केस दर्ज किया है। जिले में इस तरह के संगीन अपराधों की संख्या बढ़ रही है। सोमवार को मंडीदीप पुलिस ने भी एक अंधे कत्ल के मामले को सुलझाते हुए आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

ब्लैकमेलर थी महिला
एसडीओपी एसएस पटेल, टीआई आलोक कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि मृतका ब्लैक मेलर किस्म की थी। उसने अपनी बहन के दामाद को भी ज्यादती के झूठे मामले में फंसा दिया था। जिसे सात साल की सजा हुई थी।
परिजनों ने दिया ज्ञापन
मृतका के पुत्र गोलू बैरागी सहित परिजनों ने पुलिस अधीक्षक और जनसुनवाई में आवेदन देकर कहा है कि रामकली बाई को घर से दीनदयाल के साथ देवो बाई, मिथलेश और विजय कुमार भी थे। इसलिए उनके विरुद्ध भी प्रकरण दर्ज किया जाए।

बनगवां सरपंच तरन भी मदद कर रहा है।

ये है पूरा मामला
पुलिस के अनुसार सालेरा निवासी दीनदयाल बैरागी पुत्र नंदराम बैरागी उम्र २४ का हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के समीप दुर्गा नगर झुग्गी बस्ती निवासी बाबू सिंह बैरागी के घर आना जाना था। इस बीच बाबू सिंह की पत्नी रामकली बैरागी उम्र ३५ से दीनदयाल बैरागी की नजदीकियंा बढ़ गईं। २८ अप्रैल शनिवार को दो मोटर साइकिलों से पांच लोग सांची के समीप उचेर गांव गए थे। एक बाइक पर दीनदयाल बैरागी और रामकली बैरागी व दूसरी बाइक पर तीन लोग सवार थे। दीनदयाल बैरागी की बहन देवा बाई की सगाई टूट गई थी।

इस कारण वह बेहद परेशान था। वह इस रिश्ते को दोबारा जोडऩे के लिए पांच लोगों को लेकर उचेर निवासी मास्साब बाबा के घर पूजा कराने गए थे। शाम को लौटते समय एक बाइक पर बैठे तीन लोगों को रामकली बैरागी ने घर जाने दिया। वह दीनदयाल बैरागी के साथ शराब दुकान पर रुकी। इसके बाद दोनों ने जमकर शराब पी। इसके बाद दोनों सदालतपुर घाटी के समीप प्लांटेशन में पहुंचे। जहां रामकली ने दीनदयाल से कहा कि अपनी पत्नी बच्चों को छोड़कर मेरे साथ रहो, नहीं तो तुम्हारे विरुद्ध ३७६ का प्रकरण दर्ज करा दूंगी। नशे में और गुस्से में आकर दीनदयाल ने एक पत्थर उठाकर रामकली के मुंह और सीने पर वार कर हत्या कर दी।

उसके बाद साक्ष्य और पहचान छिपाने के उद्धेश्य से रामकली के कपड़े उतारकर रतनुपर घाटी के पास जंगल में छिपा दिए और फिर अपनी बहन के घर सेंडोरा जाकर सो गया था।
मिलेगा इनाम
एसपी जगत सिंह राजपूत ने अंधे कत्ल के मामले को सुलझाने वाले पुलिस अधिकारी कर्मचारियों को पांच हजार रुपए का पुरस्कार देने की घोषणा की थी। जो कोतवाली पुलिस टीम को मिलेगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned