सेवासनी में उल्टी-दस्त से तीन की मौत, बीस ग्रामीण बीमार

सेवासनी में उल्टी-दस्त से तीन की मौत, बीस ग्रामीण बीमार

Manoj Awasthi | Publish: Aug, 12 2018 09:08:57 AM (IST) Raisen, Madhya Pradesh, India

ग्राम सेवासनी में दूषित पानी पीने से गांव के दो दर्जन लोग बीमार हैं। उल्टी-दस्त से तीन दिन में तीन बुजुर्गों की मौत हो गई है।

रायसेन. तहसील के ग्राम सेवासनी में दूषित पानी पीने से गांव के लगभग दो दर्जन लोग बीमार हैं। उल्टी-दस्त के शिकार हुए लोगों में से तीन दिन में तीन बुजुर्गों की मौत हो गई है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग इनकी मौत के पीछे उल्टी दस्त को कारण नहीं मान रहा है।

गांव में उल्टी-दस्त की बीमारी फैलने की जानकारी मिलने पर जिला स्वास्थ्य विभाग की कॉम्बेक्ट टीम ने पहुंचकर मरीजों की इलाज किया। तीन गंभीर मरीजों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। उल्टी दस्त के अलावा भी गांव में अन्य बीमारियों से पीडि़त कई मरीज मिले हैं। जिनका इलाज शुरू किया गया है।

गांव में उल्टी-दस्त की बीमारी फैलने का कारण दूषित पानी बताया जा रहा है। डीएचओ डॉ. एके शर्मा के नेतृत्व में डॉक्टरों की पांच सदस्यीय टीम ने प्रभावित गांव पहुंच कर शिविर लगाया। मरीजों की जांच कर जरूरी दवाईयां दीं। डॉ.शर्मा ने बताया कि गांव की स्थिति पर नजर रखी जा रही है।

इन बुजुर्गों की हुई मौत
सेवासनी में उल्टी-दस्त फैलने के बाद 60 वर्षीय भूरी बाई पाल पत्नी मदनलाल पाल, हरप्रसाद धाकड़ और आशाराम धाकड़ की मौत हुई है। भूरी बाई पाल के बेटे सुरेश पाल ने बताया कि उल्टी-दस्त होने पर उन्हें पहले रायसेन अस्पताल लाए थे, यहां सुधार नहीं होने पर भोपाल ले गए, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

पीडि़तों में ये शामिल
शनिवार को सुबह जिला अस्पताल में संध्या पाल पुत्री सुरेश पाल उम्र १४ वर्ष, इसकी छोटी बहन बुलबुल उम्र ९ वर्ष को भर्ती काराया गया है। इनके अलावा थान सिंह ५८ वर्ष, नारायण सिंह ६१ वर्ष, लखनलाल उम्र ४५ वर्ष, प्रदीप कुमार उम्र २७ वर्ष, राजकुमार ३५, आशाराम पटेल ७० वर्ष, नेतराम पाल ४२ वर्ष आदि बीमार हैं।

डॉक्टरों की टीम गांव में
डॉक्टरों की ५ सदस्यीय टीम ने सेवासनी गांव में डेरा डाल रखा है। इन डॉक्टरों में महामारी नियंत्रण अधिकारी डॉ. कुलदीप चौहान और व चार अन्य डॉक्टर हैं। शिविर लगाकर बीमार लोगों का इलाज किया जा रहा है। डीएचओ डॉ. शर्मा ने गांव का निरीक्षण कर सर्वे भी कराया है। ग्रामीणों को उन्होंने गंदा पानी पीने से बचने व उबालकर छानकर पीने की सलाह दी है। टंकी से पानी की सप्लाई रोक दी गई है।

- गांव में दूषित पानी सप्लाई होने से लोग बीमार हुए हैं। पानी का सेंपल लेकर जांच के लिए भेजा है। मरीजों का पर्याप्त इलाज किया जा रहा है। बुजुर्गों की मौत के पीछे पुरानी बीमारी होना कारण हो सकता है।
डॉ. एके शर्मा, डीएचओ

- गंदा पानी के सेवन से सेवासनी गांव में २०-२५ लोग उल्टी-दस्त की चपेट में आ गए थे। सूचना मिलने पर डॉक्टरों की टीम भेजी है। गांव का सर्वे भी कराया गया, जरूरी दवाईयां बांटी गई हैं। सेवासनी के तीन बुजुर्गों की मौत मेरे संज्ञान में नहीं हैं।
डॉ. दिलीप कटैलिया, सीएमएचओ

Ad Block is Banned