एक ही दिन में कोरोना से दो मौतें, बढ़ा मौत का अनुपात, बढ़ी चिंता

एक की मौत हुई, जबकि पांचवां मरीज ग्राम साईंखेड़ा का निवासी है

By: chandan singh rajput

Published: 16 Jun 2020, 02:04 AM IST

रायसेन. जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढऩे के साथ मौत के आंकड़े भी बढ़ गए हैं। रविवार रात एक साथ दो मरीजों की मौत होने से जिले में पांच कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है। हालांकि जिले में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट अन्य जिलों की तुलना में अच्छा है, लेकिन सोमवार को हुई दो मौतों में मौत का अनुपात बढ़ा दिया है, जो चिंता का विषय है। दूसरी चिंता की बात ये कि कोरोना के मरीज अब तहसील क्षेत्रों में ज्यादा मिल रहे हैं।
विशेषकर सिलवानी तहसील में पांच मरीज मिल चुके हैं, जिनमेंं चार मरीज एक ही परिवार से हैं, जिनमेंं से एक की मौत हुई, जबकि पांचवां मरीज ग्राम साईंखेड़ा का निवासी है।

आठ अप्रेल को मिला था पहला मरीज
जिले मे कोरोना का पहला मामला रायसेन में आठ अप्रेल को सामने आया था, जबकि पहली मौत २५ अप्रेल को रायसेन निवासी सुमित अग्रवाल की हुई थी। इसके बाद ग्राम मासेर निवासी एक बुजुर्ग, बेगमगंज निवासी एक बुजुर्ग की मौत हुई, जबकि सोमवार रायसेन निवासी ५५ वर्षीय पटवा और सिलवानी निवासी ८३ वर्षीय बुजुर्ग की मौत हुई।
इसमें खास बात यह है कि पांच मृतकों में चार बुजुर्ग थे, जबकि एक युवक की मौत हुई है। विशेष बात यह भी है कि अभी तक मिले पॉजिटिव प्रकरणों में ८० फीसदी युवा शामिल हैं, जिनकी रिकवरी भी तेज हो रही है।

अब नए वार्डों में मरीज मिलने से हुई चिंता
जिला मुख्यालय पर लगातार कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। रविवार रात ११ बजे मिली रिपोर्ट में वार्ड १२ निवासी एक व्यक्ति पॉजिटिव पाया गया। इससे पहले वार्ड १३ का निवासी एक युवक पॉजिटिव पाया गया था। इससे पहले नगर की पुरानी बस्ती के विभिन्न वार्डों में ही पॉजिटिव मरीज मिले थे। नए शहर में मरीज मिलने से इस क्षेत्र के लोगों की चिंता बढ़ गई है।
सोमवार को सीएम शिवराज सिंह मेहगांव पहुंचे थे। इसलिए स्वास्थ विभाग के अधिकारियों सहित दो एंबुलेंस वहां ड्यूटी पर थीं, जिससे मुख्यालय पर स्वास्थ्य अमला जरूरी सैंपल नहीं ले सका। एक एंबुलेंस ही उपलब्ध थी, जिससे एक तीन सैंपल लेकर भोपाल भेजे गए, जबकि जरूरत पडऩे पर उसे फिर एक मरीज को लेकर भोपाल भेजा गया।

सोमवार को 67 लोगों के लिए सैंपल
सोमवार को सिलवानी में ६७ लोगों के सैंपल लिए गए, जबकि रायसेन में मात्र तीन लोगों के सैंपल लिए गए थे। इसके अलावा कुछ सैंपल जिले के अन्य स्थानों पर लिए गए हैं।

Show More
chandan singh rajput
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned