scriptWater blocked the path of children, classes were held in the house | पानी ने रोका बच्चों का रास्ता, घर की दहलान में लग रहीं कक्षाएं | Patrika News

पानी ने रोका बच्चों का रास्ता, घर की दहलान में लग रहीं कक्षाएं

ग्राम गिरवर का मामला, स्कूल मार्ग के समीप बने गड्ढे का पानी चारों तरफ फैला।
ग्राम पंचायत सहित अन्य जिम्मेदारों ने पानी निकासी के इंतजाम नहीं करवाए।
स्कूल भवन में पानी भराने से टाट-पट्टी सहित अन्य सामान हुआ खराब।

रायसेन

Published: July 23, 2022 10:41:17 pm

रायसेन. जिला मुख्यालय से लगभग बारह किलो मीटर दूर स्थित ग्राम गिरवर में प्राइमरी और मिडिल स्कूल के बच्चों का स्कूल तक पहुंचना मुश्किल हो गया। क्योंकि बारिश का पानी स्कूल जाने वाले मार्ग पर लबालब भरा हुआ है। स्कूल जाने वाले रास्ते पर एक गड्ढा होने से तेज बारिश होने के बाद उसमें पानी भराया। पानी निकासी नहीं होने से गड्ढे का पानी बढ़ता हुआ स्कूल परिसर और गांव के रास्ते पर भरा गया। इस कारण शिक्षक और छात्र स्कूल नहीं पहुंच पा रहे। बताया जा रहा है कि पिछले पन्द्रह दिनों से गांव में इस तरह के हालात बने हुए हैं। नौ-दस जुलाई को हुई तेज बरसात के बाद से ही स्कूल की कक्षाएं गांव के राजकुमार बघेल के घर की दहलान में लगाई जा रही है। यहां दहलान में खाद की बोरियां रखी हुई है, जगह नहीं होने से बच्चें उन्हीं के नजदीक बैठकर पढऩे को मजबूर हैं। इस बात की जानकारी शिक्षा विभाग और जनपद पंचायत के वरिष्ठ अफसरों को भी है, मगर हालात नहीं सुधर पाए।
चिंताजनक है स्थिति, जिम्मेदार गंभीर नहीं
स्कूल जाने वाले रोड पर पानी भरा हुआ है, ऐसे में यदि कोई बच्चा पानी में से होकर स्कूल के लिए निकले तो स्थिति गंभीर हो सकती है। क्योंकि लबालब भरे पानी में जीव-जंतु भी तैरते हैं। जिससे खतरा ज्यादा बढ़ जाता है। बताया जा रहा है कि जरुरी दस्तावेज उठाने के लिए शिक्षकों को पानी के बीच होकर स्कूल तक जाना पड़ा था। लेकिन अब यहां के शिक्षक भी जोखिम उठाने से डरने लगे। लेकिन प्रशासन के अधिकारी इस मामले को लेकर गंभीर नहीं है। ग्रामवासियों का कहना है कि जनपद पंचायत सहित प्रशासन के अधिकारी भी गांव में नहीं पहुंचे। जबकि गांव की यह प्रमुख समस्या बन चुकी। इस समस्या से गांव के लोग भी खासे परेशान हैं, वे भी अपने घरों से बाहर नहीं निकल पाते।
निकासी नहीं होने से भराया पानी
स्कूल मार्ग के समीप लोगों ने मकान ऊंचे बना लिए और गड्ढे में भरे पानी की निकासी के प्रबंध ग्राम पंचायत ने नहीं कराए। इस कारण स्कूल के समीप पानी भराया। जबकि गड् ढे वाले स्थान पर ग्राम पंचायत को सीमेंट के पाइप डालकर निकासी करवानी चाहिए। लेकिन जिम्मेदारों ने इस तरफ ध्यान नहीं दिया। अब हालात यह है कि स्कूल के नजदीक खेत में भी पानी भरा हुआ है। गौरतलब हो कि ज्यादातर गांवों में बरसात के दौरान इस तरह की स्थिति बनती है, लेकिन संसाधन विहीन ग्राम पंचायत इस समस्या का निराकरण नहीं करा पाती। ऐसे में लंबे समय तक लोग दिक्कतें उठाने के लिए मजबूर हैं।
बारिश में भीग चुका सामान
पिछले नौ-दस जुलाई को हुई तेज बारिश के दौरान ही यह स्थिति बनी और बरसात का पानी स्कूल के कक्षों में पहुंच गया। ऐसे में वहां रखी टाट-पट्टी सहित किचिन शेड में रखी भोजन बनाने की सामग्री सहित चूल्हा आदि पानी में खराब हो गए। अब कुछ सामग्री दोबारा खरीदनी होगी।
तो कैसे मनेगा स्वतंत्रता दिवस
शिक्षकों और ग्रामीणों को यह चिंता लगी हुई है कि यदि लगातार बरसात होती रही और जिम्मेदारों ने पानी निकासी के प्रबंध नहीं कराए। तो अगले माह पन्द्रह अगस्त को स्वतंत्रता दिवस पर कैसे झंडा फहराया जाएगा। क्योंकि वर्तमान स्थिति में ही स्कूल तक पहुंचना तो दूर की बात उस रास्ते पर नहीं जा सकते। लेकिन इस तरफ ग्राम पंचायत सहित स्थानीय प्रशासन का ध्यान नहीं पहुंच सका।
इनका कहना
इस समस्या की जानकारी मेरे तक नहीं पहुंच पाई, आपके माध्यम से मुझे पता चला है। बीआरसीसी, जन शिक्षक सहित स्कूल शिक्षकों से चर्चा कर इसका निदान कराएंगे।
सीबी तिवारी, डीपीसी जिला शिक्षा केन्द्र रायसेन।
वर्जन
गिरवर गांव में स्कूल मार्ग पर कुछ लोगों ने घरों के सामने मिट्टी डाल रखी और रास्ते पर भी पक्के निर्माण कर लिए। यहां से अतिक्रमण भी हटाया जाएगा। कल पानी निकासी के लिए पाइप डाले जाएगें।
एलके खरे, एसडीएम रायसेन।
पानी ने रोका बच्चों का रास्ता, घर की दहलान में लग रहीं कक्षाएं
पानी ने रोका बच्चों का रास्ता, घर की दहलान में लग रहीं कक्षाएं

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

कर्नाटक के बाद येडियूरप्पा के सहारे अब 'मिशन दक्षिण' में जुटी भाजपाJabalpur करोड़पति आरटीओ, आय से 650 प्रतिशत अधिक प्रापर्टी मिलीPro Boxing:  विजेंदर के करारे मुक्कों के आगे पस्त अफ्रीकन लॉयन सुले, 13वीं जीत हासिल कीNSA अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक को लेकर केंद्र का बड़ा एक्शन, हटाए गए 3 कमांडो'रूसी तेल खरीदकर हमारा खून खरीद रहा है भारत', यूक्रेन के विदेश मंत्री Dmytro KulebaAsia Cup 2022: मोहम्मद कैफ ने बताया, क्यों नहीं चुने गए एशिया कप के लिए संजू सैमसनNagpur Crime: डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस के घर के बाहर मजदूर ने किया सुसाइड, मचा हड़कंपरोहिंग्या शरणार्थियों को फ्लैट देने की खबर है झूठी, गृह मंत्रालय ने कहा- केंद्र ने ऐसा कोई आदेश नहीं दिया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.