12 डॉक्टर और 30 कर्मचारियों को नोटिस, लापरवाही पर लगाई फटकार

ट्रामा सेंटर, मेटरनिटी वार्ड, कोल्ड चैन और ब्लड बैंक का किया निरीक्षण, दिए सुधार के निर्देश

By: Ram kailash napit

Published: 16 May 2018, 09:40 AM IST

राजगढ़. कर्मचारी हो या डॉक्टर समय पर न आने की सूचना लंबे समय से मिल रही थी। इस मामले को लेकर कई बार चेतावनी भी दी गई, लेकिन जब व्यवस्थाएं नहीं सुधरी तो सीएमएचओ अनुसूया गवली में मंगलवार सुबह आठ बजे से लेकर करीब ११ बजे तक पूरे जिला अस्पताल का निरीक्षण किया।

इस निरीक्षण में उदासीन हो चुके कई कर्मचारी मौके पर नहीं मिले। यही कारण चिकित्सकों का भी नजर आया। ऐसे में जिला चिकित्सालय से जुड़े 12 डाक्टरों और 30 कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए है। साथ ही व्यवस्थाओं को लेकर भी मौके पर मिले कर्मचारियों को जमकर फटकार लगाई।

इस दौरान सीएमएचओ ने ट्रामा सेंटर मेटरनिटी वार्ड, कोल्ड चैन और ब्लड बैंक का भी निरीक्षण किया। यही नहीं उन्होंने गर्भवती महिलाओं को मिलने वाले नाश्ते और भोजन की व्यवस्थाएं भी देखी। यहां उन्होंने प्रसूताओं को बेड पर ही नाश्ता मिले। इसको लेकर भोजन वितरण कर रही टीम को निर्देशित किया। डॉ. एके मित्तल, डीपीएम शैलेन्द्र सोंलकी, डीसीएम सुनील वर्मा, संजू स्टूवर्ड, सुरेश त्रिपाठी आदि मौजूद थे।

पंलग पर नहीं मिले चादर
निर्देश देने के बाद भी पलंग की व्यवस्थाएं नहीं सुधर रही। सीएमएचओ के निरीक्षण के दौरान वार्डों में लगे पंलग पर चादर नहीं मिलने से स्टाफ नर्स को फटकार लगाई। वहीं ब्लड बैंक को नैंदनिदी केन्द्र में शिफ्ट करने को लेकर निर्देशित किया। कोल्ड चैन रूम के अंतर्गत टीकाकरण के दौरान प्रदाय की जाने वाली वैक्सीन का रख-रखाव देखा। प्रशिक्षाणार्थी स्टाफ नर्सों को वार्डों में लगाए गए प्रोटोकॉल को समझने एवं उसके अनुरूप कार्य करने की हिदायत दी।

बनेगा वन स्टाफ केन्द्र
पुराने ब्लड बैंक भवन में वन स्टॉफ सेंटर को संचालित करने के लिए चार कक्ष महिला सशक्तिकरण विभाग को आंवटित किए जाने के लिए आरएमओ उपयंत्री को कहा। जबकि राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत डीईआईसी को पुराने पोषण पुर्नवास केन्द्र के भवन में रिनोवेशन कार्य पूर्ण एवं सुलभ शौचालय को शीघ्र चालू करने को लेकर उपयंत्री अजय कुशवाह को निर्देशित किया।

इन चिकित्सकों को थमाए नोटिस
जिन चिकित्सकों को नोटिस थमाए गए है। उनमें डॉ. विजयसिंह, डॉ.वीके झा,डॉ. रेणु दुबे, डॉ आरएस माथुर, डॉ. आर कटारिया, डॉ. मनीषा मित्तल, डॉ. पूजा तिवारी, डॉ. प्रदीप माथुर, डॉ. अंजली शर्मा, डॉ. पारस रावत, डॉ. देवाशीष मर्सकोले और डॉ. सुधीर कलावत शामिल है।

इनके अलावा 30 अन्य स्टॉफ नर्स, लेब टेक्रिशियन, एएनएम एवं नेत्र सहायक को भी नोटिस जारी किए गए है। कार्य स्थल पर लंबे समय अनुपस्थित स्टॉफ नर्सों में दीपा झरवडें, चांदनी उईके, शहनाज आलम, लिली जार्ज, कविता मदनकर, नीतू आरसिया, फर्मासिस्ट श्वेता त्यागी सहित अन्य स्टाफ को भी नोटिस जारी किए गए है।


जिले की समस्त स्वास्थ्य संस्थाओं के औचक निरीक्षण सतत रूप से जारी रहेगे और समस्त चिकित्सक एवं अन्य स्टॉफ समय पर पदस्थ संस्थाओं में समय पर पहुंचे। अस्पतालों में पहुचनें वालें मरीजों से उचित व्यवहार किया जावें साथ ही पदीय दायित्वों का निर्वहन शासन की मंषानुसार करे। यदि ऐसा नहीं कर सकते तो कार्रवाई के लिए तैयार रहे।
अनुसूया गवली, सीएमएचओ राजगढ़

Show More
Ram kailash napit Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned