आखिर अफसरों ने स्वीकारा, घटिया हुआ केबलीकरण का काम

आखिर अफसरों ने स्वीकारा, घटिया हुआ केबलीकरण का काम
Rajgarh news

Kamal Singh Rajpoot | Updated: 04 Jun 2015, 11:48:00 PM (IST) Rajgarh, Madhya Pradesh, India

घटिया तरीके से किए गए केबलीकरण और घटिया क्वालिटी के वर्क को जांचने गुरूवार को दोबारा भोपाल की टीम आई। मौके पर काम को देख टीम ने स्वीकारा

ब्यावरा। घटिया तरीके से किए गए केबलीकरण और घटिया क्वालिटी के वर्क को जांचने गुरूवार को दोबारा भोपाल की टीम आई। मौके पर काम को देख टीम ने स्वीकारा की वाकई काम घटिया हुआ है। दरअसल, शहर को बेहतर बिजली सुविधा देने के मकसद से किए जा रहे केबलीकरण के काम में कई खामिया होने के बावजूद दो दिन पहले आई भोपाल की टीम ने काम को ओके बता दिया था। इसके बाद पत्रिका ने विभिन्न खामियों को उजागर करते हुए खबर लगाई। इसके बात ताबड़तोड़ राजगढ़ और भोपाल जोन के बिजली कंपनी के सीनियर अफसर आए और मौका मुआयना किया।

घटिया क्वालिटी का काम
एई, डीई के साथ आए नोडल अधिकारी ने देखा कि वाकई काम घटिया क्वालिटी का हुआ है। उन्होंने शहर के विभिन्न हिस्सों में इंस्पेक्शन में पाया कि केबल डालने के काम में लापरवाही हुई है। खंभों के आधार को भी ठीक से नहीं बनाया। खुले में ही सीसी कर दी गई और बिना गड्ढे खोदे व मजबूत आधार बनाए बगैर काम किया। भोपाल की टीम के साथ एसई डीपी सिंह, ब्यावरा डीई पीआर पाराशर, एक जेई सहित अन्य मौजूद थे।

अब काम बिगड़ा तो खैर नहीं
हमने काम देख रहे संबंधित एईको सख्त निर्देश दे दिए हैं। जनता से जुड़ा मामला है, बारिश में या आम दिनों में कोई घटना होती है तो इसका जिम्मा निर्माण करने वाले का ही होगा। अगर इस बार काम में लापरवाही बरती गई तो जिम्मेदारों की खेर नहीं।
-डी.पी. सिंह, एसई, एमपीईबी, राजगढ़

सारंगपुर-नरसिंहगढ़ का काम भी देखा
बुधवार को नरसिंहगढ़ में भी केबल डालने में घटिया क्वालिटी के काम को लेकर रहवासियों ने एसडीएम प्रतिभा पाल को ज्ञापन सौंपा था। इस पर गुरूवार को भोपाल जोन के नोडल अधिकारी एआर.खान ने ब्यावरा में इंस्पेक्शन के दौरान हाथों-हाथ नरसिंहगढ़ का काम देख रहे जिम्मेदारों को फोन लगाया और उन्हें काम ठीक से करने के निर्देश दिए। इसके बाद वे सारंगपुर पहुंचे और वहां चल रह आरएपीडीआरपी के काम का निरीक्षण किया।वहां आईं कईं खामियों को लेकर जेई को निर्देशित किया।

दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे
मैं निरीक्षण पर जरूर आया था लेकिन एमके कोरी ने फीडबैक गलत दिया। चुनिंदा जगह का इंस्पेक्शन कर काम ठीक बताया गया था। बाकी ओके रिपोर्ट पूरे काम की नहीं दी थी। मेरे इंस्पेक्शन को इन्होंने गलत बताया है। मैं तुरंत पूरे मामले में इंस्पेक्शन करूंगा, दोषी पाए जाने पर संबंधितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी करूंगा। -एआर खान, नोडल अधिकारी, एमपीईबी, भोपाल जोन

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned