बाबा की दरगाह पर आज से होगा सालाना उर्स का आगाज

बड़ा आयोजन है कृपया अच्छे से लगाए, भारत के पांच बड़े उर्सो में से एक है यह उर्स

By: Bhanu Pratap Thakur

Published: 10 Mar 2019, 02:09 PM IST

राजगढ़. शहर में स्थित बाबा बदख्शानी की दरगाह पर आज से सालाना उर्स का आगाज हो रहा है। आज दरगाह पर गुसल के साथ हीं 105वें उर्स की शुरूआत हो जाएगी। तीन दिनों तक उर्स में राजगढ़ ही नहीं प्रदेश और पूरे देश के कोने कोने से बड़े बड़े कब्बाल आते है। जो बाबा दरगाह के सामने अपनी कव्वाली पेश करते है।

उर्स की तैयारियों और सुरक्षा आदि व्यवस्था को लेकर एसपी प्रदीप शर्मा ने शनिवार दोपहर उर्स का निरीक्षण किया। जहां अस्थाई कोतवाली बनाई गई है। साथ हीं उर्स में चल रहीं हर गतिविधि को देखने के लिए सीसीटीवी केमरे भी लगाए गए है। जिनके माध्यम से हर जगह से कंट्रोल रूम में नजर रखी जाएगी। उर्स कमेटी के सदर एहतेशाम सिद्धीकी ने बताया कि उर्स में आने वाले हर व्यक्ति को परेशानी न हो इसके लिए सड़कों को चोड़ा किया गया है। साथ हीं पानी आदि की व्यवस्था में जगह जगह कमेटी द्वारा की गई है।

कल निकलेगी एकता की चादर
कलमकार परिषद द्वारा सालों से एक परंपरा चलाई जा रहीं है। जिसमें रामजानकी मंदिर से दरगाह तक चादर ले जाई जाती है। जिसमें हिंदू मुस्लिम सहित सभी धर्मो के लोग और अधिकारी, जनप्रतिनधि शामिल होते है। यह एकता की चादर कल शाम 4 बजे निकाली जाएगी।

यह है उर्स के प्रमुख कार्यक्रम तारीख आयोजन समय
- 10 मार्च गुसल शरीफ दोपहर तीन बजे
- 10 मार्च मेहफिले ए समा रात 9 बजे से
- 11 मार्च लंगर सुबह 9 बजे शाम 7 बजे
- 11 मार्च मेहफिले ए समा रात 9 बजे से
- 12 मार्च चादर शरीफ दोपहर 3.15 बजे
- 12 मार्च लंगर सुबह 9 और शाम 7 बजे
- 12 मार्च मेहफिल ए समा रात 9 बजे से
- 12 मार्च रंग की मेहफिल सुबह 4.10 बजे
- 12 मार्च कुल का फतिहा सुबह 5.00 बजे
- 13 मार्च मीलाद शरीफ दोपहर 2.30 बजे
- 13 मार्च महफिल ए समा रात 9 बजे से
- 15 मार्च गुसल शरीफ दोपहर तीन बजे से

 

Bhanu Pratap Thakur Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned