अस्पताल में टूटी चैन, सर्दी-खांसी के मरीज बढ़े तो अस्पताल के अंदर-बाहर लगी कतार

मैनेज नहीं हो पा रही सोशल डिस्टेंस, इसी से सर्वाधिक खतरा
सुबह से दोपहर तक लगी रही भीड़, अस्पताल प्रबंधन को भीड़ नियंत्रण करने में आई दिक्कत

By: Rajesh Kumar Vishwakarma

Published: 29 Mar 2020, 05:03 AM IST

ब्यावरा.कोविड-19 कोरोना वायरस के लिए सबसे प्रमुख एहतियात सोशल डिस्टेंसिंग मैनेज नहीं हो पा रही। दो दिन पहले हुई बारिश के बाद अचानक बढ़े सर्दी-खांसी के मरीजों के कारण अस्पताल में भीड़ लग गई। एक-एक मीटर की कतार तो दूर लाइन में भी उन्हें मैनेज नहीं कर पाए। करीब दो से तीन घंटे तक अस्पताल में ऐसी भीड़ लगी रही। जो कि न सिर्फ सामान्य बीमारी के मरीजों के लिए सबसे बड़ा खतरा है बल्कि डॉक्टर्स, पैरामेडिकल स्टॉफ, वार्ड बॉय, गार्ड सहित अन्य अस्पताल स्टॉफ के लिए बहुत बड़ी आफत बनी हुई है।
दरअसल, अस्पताल में कुछ दिन पहले अंदर की ओपीडी बंद कर सभी मरीजों को बाहर से देखा जा रहा था लेकिन शनिवार को अचानक ओपीडी में बढ़ी भीड़ के कारण उन्हें संभाल पाना मुश्किल हो गया। सुबह नौ बजे की ओपीडी के लिए आठ बजे से ही मरीजों की कतार लग गई। बाद में पुलिस और अस्पताल की टीम ने उन्हें जैसे-तैसे मैनेज किया। यानि कुल मिलाकर सोशल डिस्टेंसिंग पूरी तरह से टूट गई और इन्फेक्शन, संक्रमण का खतरा और बढ़ गया है।

लोगों को संदेह 11 बजे बाद नहीं जाने देंगे
लोगों में पुलिस, प्रशासन की घर से बाहर निकलने की सख्ती का डर है, ऐसे में वे अधिक से अधिक संख्या में 11 बजे के बाद ही अस्पताल पहुंचे। जबकि शासन ने आम लोगों के लिए यह पाबंदी लगाई है न कि बीमार लोगों के लिए। हालांकि सामान्य बीमारी के लिए अस्पताल नहीं आने की अपील प्रबंधन कर चुका है। वहीं, एक बड़ी दिक्कत यह भी है कि शहर के अधिकतर निजी क्लीनिक भी बंद है, लोग वहां नहीं जाने से सभी सरकारी अस्पताल ही पहुंच रहे हैं।
व्यवस्था मैनेज करेंगे
पर्ची काउंटर और ओपीडी के बाहर नपा की मदद से गोले बनवा रहे हैं। चार-चार फीट की दूरी पर ये गोले रहेंगे। साथ ही हमने अतिरिक्त पुलिस बल, महिला पुलिसकर्मी की भी मांग की है, ताकि व्यवस्था मैनेज की जा सके।
-डॉ. शरद साहू, प्रभारी, सिविल अस्पताल, ब्यावरा
000

Rajesh Kumar Vishwakarma
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned